विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jul 31, 2020

कोरोना पॉजिटिव प्रेग्नेंट महिला की डिलीवरी कराने से अस्पतालों का इंकार, एम्बुलेंस में दिया बच्चे को जन्म

पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा (Tripura) में एक 25 साल की कोरोना (Coronavirus) पॉजिटिव महिला ने एम्बुलेंस में बच्चे को जन्म दिया.

Read Time: 15 mins
कोरोना पॉजिटिव प्रेग्नेंट महिला की डिलीवरी कराने से अस्पतालों का इंकार, एम्बुलेंस में दिया बच्चे को जन्म
जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित हैं. (सांकेतिक तस्वीर)
अगरतला:

त्रिपुरा (Tripura) में एक 25 साल की कोरोना (Coronavirus) पॉजिटिव महिला ने एम्बुलेंस में बच्चे को जन्म दिया. अधिकारियों ने बताया कि महिला को कैलाशहर के उनाकोटी जिला अस्पताल से अगरतला स्थित जीबी पंत अस्पताल (राज्य का मुख्य कोविड-19 अस्पताल) रेफर किया गया था. दोनों अस्पतालों के बीच की दूरी 130 किलोमीटर है. जीबी पंत अस्पताल लाए जाने के दौरान ही महिला के प्रसव पीड़ा हुई और उसने रास्ते में एम्बुलेंस में ही बच्चे को जन्म दे दिया.

Advertisement

महिला और उसका बच्चा सुरक्षित है. दोनों जीबी पंत अस्पताल में हैं. मिली जानकारी के अनुसार, गर्भवती महिला को 36 घंटों में तीन अस्पताल लेकर जाया गया लेकिन सभी ने इलाज से इंकार कर दिया. महिला को मंगलवार को डिलीवरी के लिए सबसे पहले उनाकोटी जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. रैपिड एंटीजन टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उसे कोरोना केयर अस्पताल रेफर कर दिया गया. एम्बुलेंस से ले जाते हुए महिला को दर्द शुरू हो गया. उस समय सबसे पास कुमारघाट जिला अस्पताल था.

बीमार पति को एम्बुलेंस में चढ़ाने की गुहार लगाती रही महिला, नहीं मिली मदद, हुई मौत

वहां ले जाने पर महिला को दो घंटे तक इंतजार करना पड़ा. अस्पताल के डॉक्टरों ने भी महिला की डिलीवरी कराने से इंकार करते हुए उसे जीबी पंत अस्पताल ले जाने के लिए कहा. अगरतला के कोविड केयर अस्पताल से करीब 50 किलोमीटर पहले महिला ने एम्बुलेंस में ही बच्चे को जन्म दे दिया. जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित हैं. रेजीडेंट मेडिकल ऑफिसर बिधान गोस्वामी ने इस बारे में कहा कि कोविड-19 वॉर्ड में दोनों को साथ रखा गया है. कैलाशहर के अस्पताल के इंकार करने पर राज्य के स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सुभाशीष देबबरमा ने जांच कर दो दिन में रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिए हैं.

Advertisement

केंद्र सरकार ने कहा, 19 राज्यों में कोरोना से ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से बेहतर, जानें कौन-कौन से नाम हैं शामिल

Advertisement

उन्होंने कहा, 'कैलाशहर जिला अस्पताल द्वारा महिला के इलाज से इंकार करने पर जांच के आदेश दिए गए हैं. जांच टीम को दो दिन में रिपोर्ट देने को कहा गया है. दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.' वहीं जिला अस्पताल के मेडिकल सुपरीटेंडेंट समरेंद्र देबबरमा ने इस बारे में कहा, 'महिला को जीबी पंत अस्पताल रेफर करने से पहले वरिष्ठ अधिकारियों से विचार-विमर्श किया गया था. हमारे पास यहां एक लेबर रूम है और एक ऑपरेशन थिएटर है. अस्पताल में COVID-19 वॉर्ड भी है लेकिन दिशा-निर्देशों के अनुसार हम कोरोना के किसी भी गंभीर रोगी को इलाज के लिए अगरतला रेफर करते हैं.'

Advertisement

VIDEO: महिला की मौत के 3 दिन बाद बताया, 'वो कोरोना पॉजिटिव थी'

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NDTV इलेक्शन कार्निवल : अंबाला में किसान आंदोलन, रोजगार, स्वास्थ्य सबसे अहम मुद्दा; बीजेपी और कांग्रेस में है सीधा मुकाबला
कोरोना पॉजिटिव प्रेग्नेंट महिला की डिलीवरी कराने से अस्पतालों का इंकार, एम्बुलेंस में दिया बच्चे को जन्म
Super Exclusive : NDTV को दिए Interview में PM मोदी ने दिया सक्सेस का 'फोर-एस' मंत्र
Next Article
Super Exclusive : NDTV को दिए Interview में PM मोदी ने दिया सक्सेस का 'फोर-एस' मंत्र
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;