उत्तर प्रदेश में होली, शब-ए-बारात को लेकर PAC की 100 कंपनियां तैनात, जुलूस को लेकर सख्ती

होली और शब-ए-बारात के लिए पुलिस महानिदेश ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को शांति बैठकें आयोजित करने और अबकारी विभाग के साथ छापेमारी करने का निर्देश दिया गया है ताकि जहरीली शराब का सेवन कोई न कर सकें. 

उत्तर प्रदेश में होली, शब-ए-बारात को लेकर PAC की 100 कंपनियां तैनात, जुलूस को लेकर सख्ती

प्रतीकात्मक तस्वीर.

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में होली और शब-ए-बारात (Holi and Shab-e-Barat) के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये हैं. प्रदेशभर में शांति व्यवस्था कायम करने के लिए पीएसी की 100 कंपनियां और  रैपिड एक्शन फोर्स (RAF) की दो कंपनियों के अलावा सिविल पुलिस बल को तैनात किया गया है. प्रदेश के एडीजी प्रशांत कुमार ने समाचार एजेंसी ANI को बताया कि होली और शब-ए-बारात के लिए पुलिस महानिदेश ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को शांति बैठकें आयोजित करने और अबकारी विभाग के साथ छापेमारी करने का निर्देश दिया गया है ताकि जहरीली शराब का सेवन कोई न कर सकें.

वाराणसी: मणिकर्णिका घाट पर जलती चिताओं के बीच खेली गई भस्म से होली, जानिए इसके पीछे की प्रचलित मान्यताएं 

उन्होंने कहा कि शांति स्थापित करने के लिए प्रदेश के जिलों में पीएसी की 100 कंपनियां और आरएफ की 2 कंपनी और सिविल पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है.  साथ ही उन्होंने कहा बिना अनुमति के कोई भी जुलूस नहीं निकाल पायेगा। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी पैनी नजर रखी जाएगी.  आपको बता दें कि होली 29 मार्च को मनाई जाएगी. यह त्योहार देश में वसंत ऋतु के आगमन का प्रतीक है. वहीं शब-ए-बारात 28-29 मार्च को मनाई जाएगी.

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने होली सहित अन्य पर्वों व त्योहारों, पंचायत चुनाव और देश के विभिन्न राज्यों में कोविड-19 संक्रमण के बढ़ने मामलों की स्थिति के दृष्टिगत उत्तर प्रदेश में विशेष सतर्कता और सावधानी बरतने के निर्देश दिए थे. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से बचाव व उपचार की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करते हुए संक्रमण की स्थिति को रोकने के सभी उपाय सुनिश्चित किए जाएं. उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर तथा शहरों में वॉर्ड स्तर पर नोडल अधिकारी या कर्मचारी की तैनाती के निर्देश दिए. यह नोडल अधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि उनके क्षेत्र में अन्य राज्यों से आने वाले व्यक्तियों की जांच की जाए. संदिग्ध पाए जाने पर पृथक-वास की व्यवस्था और आरटीपीसीआर जांच कराते हुए कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार कार्रवाई की जाए. उन्होंने कहा कि प्रत्येक जिले में एक-एक ''डेडीकेटेड'' कोविड-19 हॉस्पिटल की उपलब्धता सुनिश्चित हो.

Bharat Bandh: गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का दिखा अनोखा अंदाज़, होली के गीतों पर नाच-गाकर किया विरोध प्रदर्शन

मुख्यमंत्री ने कहा कि कक्षा एक से आठ तक के सभी परिषदीय एवं निजी विद्यालयों में 24 से 31 मार्च तक होली अवकाश रहेगा. इनके अलावा, शेष शिक्षण संस्थानों में जहां पर परीक्षाएं आयोजित नहीं हो रही हैं, यह अवकाश 25 से 31 मार्च, 2021 तक होगा. जिन शिक्षण संस्थानों में परीक्षाएं आयोजित की जा रही हैं, उन्हें पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूर्णतः पालन करते हुए परीक्षा सम्पन्न करानी होगी. टीकाकरण का कार्य पूरी प्रतिबद्धता के साथ किये जाने का निर्देश देते हुए योगी ने कहा कि प्रशिक्षण संस्‍थानों आदि में बाहरी आवागमन पर नियंत्रण हो और जेलों में कोविड-19 के दृष्टिगत पर्याप्त सुरक्षा प्रबन्ध रहें. बंदियों की पेशी के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंस का माध्यम अपनाया जाए.

Video : होली और शब ए बारात एक साथ, शांति व्यवस्था और कोरोना को देखते हुए यूपी ने जारी की एडवाइजरी


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com