एक्ट्रेस गहना वशिष्ठ को आया कार्डियक अरेस्ट, वेंटिलेटर पर, क्या होता है कार्डियक अरेस्ट और इसके लक्षण

टेलीविजन अभिनेत्री और मॉडल गहना वशिष्ठ (Gehana vasisth) को कार्डियक अरेस्ट हुआ, जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. उनकी हालत बेहद गंभीर है तथा उन्हें वेंटिलेटर व अन्य जीवन रक्षक उपकरणों के सहारे रखा गया है. बदलती जीवनशैली और वातावरण में कार्डियक अरेस्ट (Cardiac Arrest) और हार्ट अटैक के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

एक्ट्रेस गहना वशिष्ठ को आया कार्डियक अरेस्ट, वेंटिलेटर पर, क्या होता है कार्डियक अरेस्ट और इसके लक्षण

टीवी एक्ट्रेस गहना वशिष्ठ (Gehana vasisth) को शूटिंग के दौरान कार्डियक अरेस्ट हुआ.

खास बातें

  • कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक में बहुत फर्क होता है.
  • वेंट्रीकुलर फाइब्रिलेशन पैदा हो जाएं, तो कर्डियक अरेस्ट होता है.
  • टेलीविजन अभिनेत्री गहना वशिष्ठ (Gehana vasisth) कार्डियक अरेस्ट हुआ.

टेलीविजन अभिनेत्री और मॉडल गहना वशिष्ठ (Gehana vasisth) को पर्याप्त पोषण के बिना लंबे समय तक काम करने के कारण कार्डियक अरेस्ट हुआ, जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. अस्पताल के डॉक्टर ने कहा कि गुरुवार को गहना अस्पताल में भर्ती हुईं और उनकी हालत बेहद गंभीर है तथा उन्हें वेंटिलेटर व अन्य जीवन रक्षक उपकरणों के सहारे रखा गया है. मुंबई के मलाड इलाके में स्थित रक्षा हॉस्पिटल में फिलहाल गहना वशिष्ठ (Gehana vasisth) का उपचार चल रहा है. अस्पताल सूत्रों से प्राप्त हालिया जानकारी के मुताबिक, निम्न रक्तचाप (Low BP) और गंभीर स्ट्रोक (Stroke)  के चलते 31 वर्षीय इस अभिनेत्री को कार्डियक अरेस्ट का सामना करना पड़ा. इसी साल अगस्त महीने में पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) की मृत्यु कार्डियक अरेस्ट के कारण हुई थी. 

कोलेस्‍ट्रॉल लेवल को कम करने में ये 8 चीजें हैं कमाल! और भी कई शानदार फायदे

Premature Ejaculation: शीघ्रपतन की समस्या को दूर करेंगे ये 8 फूड

क्या होता है कार्डियक अरेस्ट और कैसे होता है (What is Cardiac Arrest)

बदलती जीवनशैली और वातावरण में कार्डियक अरेस्ट (Cardiac Arrest) और हार्ट अटैक के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. अक्सर लोग कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक यानी दिल के दौरे को एक ही मान लेते हैं. दिल से जुड़ी कोई भी परेशानी होने पर उसे हार्ट अटैक मान बैठना आज आम धारणा हो गई है. लेकिन आपके लिए यह जानना भी जरूरी है कि कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक में बहुत फर्क होता है. अब सवाल उठता है कि कार्डियक अरेस्ट क्या है. असल में कार्डियक अरेस्ट उस स्थिति को कहा जाता है, जब दिल काम करना बंद कर देता है. कार्डियक अरेस्ट कैसे होता है (What causes cardiac arrests?), तो आपको बताते चलें कि जब दिल के अंदर वेंट्रीकुलर फाइब्रिलेशन पैदा हो जाएं, तो कर्डियक अरेस्ट होता है. आम शब्दों में कहें तो दिल की धड़कन रुक जाने की स्थिति को कार्डियक अरेस्ट कहा जाता है. ऐसे हालात में ज्यादातर मामलों पर तुरंत मृत्यु हो सकती है. 

Healthy Fruits: डायबिटीज में सेहत के लिए कौन सा फल है फायदेमंद और खतरनाक, फल खाने का ये तरीका बढ़ा सकता है ब्लड शुगर!

a03f4hu

Cardiac Arrest Symptoms: कार्डियक अरेस्ट होने पर जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर के पास जाएं. 

Attention Girls! ये हैं वो 6 काम जो पीरियड्स में नहीं करने चाहिए...


कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक में फर्क (Heart Attack And Cardiac Arrest Difference)

कार्डियक अरेस्ट को हार्ट अटैक से ज्यादा खतरनाक माना जाता है. कार्डियक अरेस्ट का इलाज करने के लिए मरीज को कार्डियोपल्मोनरी रेसस्टिसेशन (सीपीआर) दिया जाता है, जिससे उसकी उसकी हृदयगति (Heart Beat) यानी दिल की धड़कनों को नियमित किया जा सके. अंतिम स्थिति में मरीज को 'डिफाइब्रिलेटर' से बिजली का झटका दिया जाता है, जिससे दिल की धड़कन को नियमित होने में मदद मिलती सकती है. वे लोग जो पहले से दिल की बीमारी से जूझ रहे हों या हार्ट से जुड़ी किसी समस्या (Heart Problem) का सामना कर रहे हों या हार्ट अटैक के मरीज रहे हों, में कार्डियक अरेस्ट का खतरा अधिक होता है. अगर किसी के परिवार में दिल की बीमारी का इतिहास रहा है, तो भी उन्हें सावधान रहना चाहिए.

Diabetes Myths: कहीं आप भी तो नहीं फंसे डायबिटीज के इन 5 झूठ के फेर में, आज ही जानें सच

क्या है हार्ट अटैक  (What is Heart Attack)

अब तक आप कार्डियक अरेस्ट को समझ चुके हैं. अब आपको बताते हैं कि हार्ट अटैक क्या होता है. हार्ट अटैक या मायोकार्डियल इन्फ्रैक्शन तब माना जाता है, जब कोरोनरी आर्टरी (धमनी) में एकदम से कोई दिक्कत हो जाए या गतिरोध हो जाए. असल में यह एक बहुत ही अहम अंग है, इसी आर्टरी से हृदय की पेशियों तक खून पहुंचता है. ऐसे में आर्टरी में परेशानी या ब्लॉकेज होने पर दिल तक खून नहीं पहुंचता और यह धमीन निष्क्रिय सी हो जाती हैं. आसान शब्दों में कहें तो हार्ट अटैक की स्थिति में दिल की कुछ पेशियां काम करना बंद कर देती हैं. इस ब्लॉकेज को समय रहते ठीक किया जा सकता है. इसके लिए एंजियोप्लास्टी, स्टंटिंग और सर्जरी की जा सकती है. इलाज के बाद दिल तक सामान्य प्रक्रिया से खून पहुंचने लगता है. इस स्थिति में सही समय पर इलाज के बाद मौत का खतरा कम हो जाता है.

बॉलीवुड के इन 5 हीरो ने चुना अपने से आधी उम्र का जीवनसाथी, इनसे सीखें रिश्ता निभाने के गुर

कार्डियक अरेस्ट के लक्षण (Symptoms of cardiac arrest)

कार्डियक अरेस्ट अचानक होता है, ऐेसे इसके लक्षण पहचानने का मौका तो नहीं मिलता लेकिन समझदारी दिखाते हुए इन लक्षणों को पहचान कर आप यह पता लगा सकते हैं कि यह दिल से जुड़ी कोई समस्या है. 

- छाती में तेज दर्द 
- गर्दन, पीठ और सीधे हाथ में खिंचाव और दर्द
- शरीर में कमजोरी और थकान महसूस होना
- चक्कर या उल्टी की शिकायत होना
- छाती में दर्द
- होश खोना
- नब्ज का रुक जाना
- सांस लेने में दिक्कत होना
- सांस ही न आना

ऐसी स्थिति में चिकित्सा सहायता लेना बहुत जरूरी है. इन लक्षणों के साथ किसी को भी मौत से बचने के लिए तुरंत इलाज किया जाना चाहिए. (इनपुट आईएएनएस)

और खबरों के लिए क्लिक करें.

Home Remedies For Cold: सर्दी-जुकाम से बचाव के उपाय, रसोई में ही मि‍लेंगे ये घरेलू नुस्खे

Vitamin D Foods: विटामिन डी से भरपूर 7 आहार, जो करेंगे विटामिन डी की कमी को दूर

लहसुन से कैसे कंट्रोल करें ब्लड शुगर या डायबिटीज? लहसुन के फायदे और नुकसान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


खांसी, सर्दी-जुकाम से राहत दिलाएगी यह एक चीज, पढ़ें जुकाम से बचाव के 4 घरेलू नुस्खे



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)