पैरों को कमजोर कर सकती है स्मोकिंग की आदत...

रक्त धमनियों के घटने से घटी ऑक्सीजन और अन्य पोषक तत्वों की संख्या से चयापचय और सक्रियता पर असर पड़ता है.

पैरों को कमजोर कर सकती है स्मोकिंग की आदत...

न्यूयॉर्क:

अगर आप सोचते हैं कि धूम्रपान से सिर्फ हमारे फेफड़ों को नुकसान पहुंचता है, तो हो सकता है कि आप गलत हों, क्योंकि एक हालिया शोध में सामने आया है कि सिगरेट के धुएं में पाए जाने वाले घटकों से हमारे पैरों की मांसपेशियों को भी नुकसान पहुंचता है. शोधकर्ताओं के अनुसार, धूम्रपान पैर की मासपेशियों से रक्त शिराएं कम करके इन्हें सीधे तौर पर नुकसान पहुंचा सकता है. रक्त शिराएं कम होने से मांसपेशियों तक ऑक्सीजन तथा अन्य पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में नहीं पहुंच पाते हैं.

अमेरिका के कैलिफोर्निया-सैन डियागो विश्वविद्यालय में शोध के प्रमुख लेखक एलन ब्रीन ने कहा, "यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि हम लोगों को बताते हैं कि सिगरेट की तंबाकू से पूरे शरीर को नुकसान पहुंचता है. सिगरेट के धुएं के हानिकारक घटकों के कारण दैनिक जीवन में उपयोगी कई मांसपेशियों के समूहों को भी नुकसान पहुंचता है."
 

डायबिटीज के मरीजों में हार्ट अटैक का खतरा कम करता है आयुर्वेद

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

अब विटामिन बी12 के लिए मांसाहार नहीं जरूरी, ये पौधा करेगा कमी पूरी...

प्लानिंग के बाद भी नहीं हो रहीं गर्भवती, तो इन 5 बातों का रखें ध्यान...


'द जर्नल ऑफ फिजियोलॉजी' में प्रकाशित निष्कर्षो ने भी यही सार बताया है कि रक्त धमनियों के घटने से घटी ऑक्सीजन और अन्य पोषक तत्वों की संख्या से चयापचय और सक्रियता पर असर पड़ता है.


और खबरों के लिए क्लिक करें. 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
अन्य खबरें