पिछले 24 घंटों में 6,000 से ज्यादा नए COVID-19 केस, XBB1.16 वैरिएंट की वजह से बढ़ रहे हैं मामले, ये लक्षण दिखें तो हो जाएं सतर्क

New COVID-19 Cases: इस वैरिएंट से संक्रमित लक्षणों में बुखार धीरे-धीरे चढ़ता है और 1-2 दिनों तक रहता है, गले में खराश, शारीरिक दर्द, सिरदर्द और पेट में परेशानी होती है.

पिछले 24 घंटों में 6,000 से ज्यादा नए COVID-19 केस, XBB1.16 वैरिएंट की वजह से बढ़ रहे हैं मामले, ये लक्षण दिखें तो हो जाएं सतर्क

विश्व स्वास्थ्य संगठन कोविड सबवैरिएंट XBB.1.16 को करीब से देख रहा है.

COVID-19 Update: भारत में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने लगे हैं. पिछले 24 घंटों में 6,000 से ज्यादा नए कोविड केस दर्द किए गए है. भारत में कोविड केस बढ़ने के लिए ओमिक्रॉन वेरिएंट XBB.1.16 को जिम्मेदार माना जा रहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन कोविड सबवैरिएंट XBB.1.16 को करीब से देख रहा है. डब्ल्यूएचओ ने 22 मार्च को निगरानी के तहत अपने वेरिएंट की लिस्ट में XBB.1.16 एड किया है.

29 मार्च की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डब्ल्यूएचओ की कोविड-19 टेक्निकल लीड मारिया वान केरखोव ने कहा, "भारत में XBB.1.16 ने दूसरे वैरिएंट्स को बदल दिया है जो अब प्रकोप बढ़ा रहा है."

डायबिटीज रोगियों को जल्दी घेर लेती है किडनी की ये बीमारी, अगर कंट्रोल नहीं किया शुगर लेवल

इन लक्षणों पर रखें नजर:

इस प्रकार के लक्षणों में बुखार शामिल है जो धीरे-धीरे चढ़ता है और 1-2 दिनों तक रहता है, गले में खराश, शारीरिक दर्द, सिरदर्द और पेट में परेशानी होती है. XBB.1.16 वैरिएंट के कारण कोई गंभीर समस्या नहीं होती है. हालांकि, कुछ गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं वाले लोगों और रेस्पिरेटरी कंडिशन वाले लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए.

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी एक सर्कुलर के अनुसार, कोविड-19 के रोगियों को घर में आइसोलेशन में रहना चाहिए, घर के अंदर मास्क का उपयोग, हाथ धोना जैसी कुछ जरूरी चीजें हैं. इसके अलावा, मरीजों को अपने टेंपरेचर और ऑक्सीजन लेवल की भी निगरानी करनी चाहिए.

गर्मियों में चेहरे पर टमाटर लगाने से चमक जाती है स्किन, कभी भी टोनर की नहीं पड़ेगी जरूरत, ये रहे गजब फायदे

तेजी से फैलने वाला है कोविड का ये वैरिएंट

इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड बायिलरी साइंसेज (ILBS) के निदेशक डॉ एसके सरीन ने एनडीटीवी को बताया कि दिल्ली में कोविड-19 से संक्रमित रोगियों से लिए गए सैम्पल्स में से कम से कम 98 प्रतिशत में XBB.1.16 वेरिएंट के संकेत हैं. उन्होंने कहा कि हालांकि XBB.1.16 वैरिएंट बहुत घातक नहीं है, यह बहुत तेजी से फैलता है.

"इंफेक्शन में बढ़ोत्तरी के बावजूद, मौतें कम रही हैं. XBB.1.16 वैरिएंट से संक्रमित रोगियों में खांसी और सर्दी आम लक्षण पाए जाते हैं," उन्होंने कहा.

 उन्होंने कहा, डॉ सरीन ने कॉमरेडिटी वाले लोगों और ज्यादा वजन वाले लोगों को वायरस से बचने के लिए कुछ स्टेप उठाने के लिए प्रोत्साहित किया, उन्होंने व्यक्तियों को बूस्टर डोज लेने की भी सलाह दी. "जो लोग वायरस से संक्रमित हो गए हैं वे फेफड़े, हार्ट, किडनी और ब्रेन कॉम्प्लीकेशन का सामना लंबे समय तक कर सकते हैं."

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com