Immunity को मजबूत करने और पॉजिटिविटी बढ़ाने के लिए रोजाना करें ये आसान Exercise

Exercise For Immunity: हम आपके लिए कुछ जादुई प्राणायाम या ध्यान के अभ्यास लाए हैं, जो आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने और आपके शरीर को सकारात्मक ऊर्जा से भरने में मदद कर सकते हैं.

Immunity को मजबूत करने और पॉजिटिविटी बढ़ाने के लिए रोजाना करें ये आसान Exercise

ध्यान तंत्रिका तंत्र को शांत करने का सबसे अच्छा अभ्यास है.

Breathing Exercise For Positivity: ध्यान हमारे शरीर के साथ-साथ सहानुभूति तंत्रिका तंत्र को शांत करने का सबसे अच्छा अभ्यास है. कई जीवनशैली विकारों और समस्याओं को दूर करने में योग और ध्यान भी काफी मददगार हो सकते हैं. उदाहरण के लिए अपनी सांसों को नियंत्रित करना और प्राणायाम का अभ्यास करना सबसे सरल व्यायामों में से एक है जिसे हम बहुत सारे हार्मोनल असंतुलन को संतुलित करने के लिए कर सकते हैं. सबसे महत्वपूर्ण प्राणायाम योग का सबसे आसान और सबसे प्रभावी रूप है जिसे कभी भी और कहीं भी किया जा सकता है. इसलिए हम आपके लिए कुछ जादुई प्राणायाम या ध्यान के अभ्यास लाए हैं, जो आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने और आपके शरीर को सकारात्मक ऊर्जा से भरने में मदद कर सकते हैं.

प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने वाले व्यायाम | Immune Boosting Exercises

1. काउंट ब्रीथिंग (हिलिंग ब्रीथ)

  • एक क्रॉस लेग्ड, आराम की स्थिति में बैठें जैसे सुखासन (आधा कमल मुद्रा)
  • नथुने से सांस ले और 6 तक गिनें.
  • सांस को 6 काउंट तक रोके रखें.
  • नासिका छिद्र से 6 काउंट तक सांस छोड़ें.
  • यह सांस लेने का व्यायाम दिन में कभी भी किया जा सकता है. खासकर जब आप तनाव में हों और आपको ब्रेक की जरूरत हो.

2. कपालभाति

अपने हाथों को अपने घुटनों, हथेलियों को आकाश की ओर रखते हुए अपनी रीढ़ को सीधा रखते हुए एक आरामदायक स्थिति में बैठें.

  • गहरी सांस अंदर लें और धीरे-धीरे सांस छोड़ें.
  • सांस छोड़ते हुए अपनी नाभि को वापस अपनी रीढ़ की ओर खींचे. जितना हो सके आराम से करें. आप पेट पर अपना दाहिना हाथ रखकर पेट की मांसपेशियों के संकुचन को महसूस कर सकते हैं.
  • जैसे ही आप नाभि और पेट को आराम देते हैं, श्वास आपके फेफड़ों में सहजता से प्रवाहित होती है.
  • कपालभाति का एक चक्कर पूरा करने के लिए ऐसी 20 सांसें लें.
  • चक्र पूरा करने के बाद अपनी आंखें बंद करके आराम करें और अपने शरीर में संवेदनाओं का विश्लेषण करें.
  • यह व्यायाम कोर को मजबूत करता है और शरीर के पीएच लेवल को बनाए रखने में मदद करता है. हालांकि यह आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है.
  • याद रखें कि इस आसन को खाली पेट या सुबह जल्दी करने की सलाह दी जाती है.
  • इस आसन को 200 काउंट तक कर सकते हैं लेकिन धीरे-धीरे.

3. अनुलोम विलोम (हीलिंग ब्रीथ)

  • सुखासन या पद्मासन जैसी किसी भी ध्यान मुद्रा में बैठ जाएं.
  • रीढ़ की हड्डी सीधी स्थिति में होनी चाहिए.
  • दाहिने नथुने को अपने दाहिने अंगूठे से अवरुद्ध करें. बायें नथुने से 2 गिनती तक श्वास लें. 
  • अब अपने दोनों नथुनों को बंद कर लें और चार सेकेंड के लिए सांस को रोककर रखें.
  • अपनी बायीं नाक को बंद रखें और अपनी दाहिनी नासिका को खुला रखें. कुछ सेकंड के लिए दाएं नथुने से सांस छोड़ें. अपने दाहिने नथुने से 2 गिनती के लिए श्वास लें.
  • कुछ सेकंड के लिए दोनों नथुनों को बंद करें और हवा को रोककर रखें. अपने बाएं नथुने से 2 गिनती के लिए धीरे-धीरे सांस छोड़ें. दोनों नथुने बंद होने चाहिए.
  • आप इस अभ्यास में सम काउंट ब्रीदिंग को भी शामिल कर सकते हैं.

4. अनुलोम विलोम वेरिएशन

  • क्रॉस लेग्ड मुद्रा में बैठें और विष्णु मुद्रा का अनुभव करें.
  • विष्णु मुद्रा बनाए रखते हुए, बाएं हाथ को अपनी जांघ पर रखें और दाहिने हाथ को अपनी दाहिनी नासिका को अवरुद्ध करने के लिए रखें.
  • अपने बाएं नथुने से श्वास लें.
  • दोनों नथुनों को बंद कर लें और कुछ सेकंड के लिए सांस को रोककर रखें.
  • धीरे-धीरे अपनी ठुड्डी को अपने गले की ओर ले जाएं, जिससे आपके गले में एक बंध बन जाए.
  • धीरे-धीरे अपने सिर को ऊपर उठाएं और अपने दाहिने नथुने से सांस छोड़ें.
  • विपरीत दिशा से भी यही प्रक्रिया अपनाएं.
  • यह एक सेट के पूरा होने का प्रतीक है.
  • इस ध्यान के अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए आप इसे कुछ और राउंड तक कर सकते हैं.
  • हर तरफ 6 बार करें.

प्रोस्‍टेट क्या होता है, क्यों बढ़ जाता है प्रोस्टेट, एक्सपर्ट के साथ समझें प्रोस्टेट कैंसर को

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.