विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Mar 31, 2023

Covid-19: सितंबर के बाद दिल्ली में पहली बार कोरोना के मामले 300 पार, पॉजिटिव रेट लगभग 14 प्रतिशत, ये है वजह

Covid-19 Cases: देश में कोविद मामलों की संख्या में समग्र वृद्धि हुई है। आइए समझते हैं कि ऐसा क्यों है और आप कोविड के अपने जोखिम को कैसे कम कर सकते हैं.

Covid-19: सितंबर के बाद दिल्ली में पहली बार कोरोना के मामले 300 पार, पॉजिटिव रेट लगभग 14 प्रतिशत, ये है वजह
Covid Cases: टीका लगवाने से आपके कोविड-19 से संक्रमित होने का जोखिम कम हो सकता है.

Covid Cases In Delhi: शहर के स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार दिल्ली के कोविड-19 मामले पिछले साल के 31 अगस्त के बाद पहली बार बुधवार को 300 तक पहुंच गए और पॉजिटिव रेट बढ़कर 13.89 प्रतिशत हो गया. ये भी कहा गया कि 2 मौतें भी कोविड से जुड़ी हुई थीं. 31 अगस्त को दिल्ली में 377 मामले, दो मौतें और 2.58 परसेंट पॉजिटिव रेट दर्ज किया गया था. दिल्ली में मंगलवार को 11.82 परसेंट पॉजिटिव रेट के साथ 214 मामले दर्ज किए गए.

इस बीच दिल्ली में दैनिक कोविड-19 मामले फिर से बढ़ रहे हैं, जो पिछले साल सितंबर के बाद से सबसे अधिक है. यह राष्ट्रीय राजधानी के लोगों और सरकार के लिए चिंता का कारण है क्योंकि उन्हें केस बढ़ने का डर है और वे वायरस के प्रसार को रोकने के लिए एहतियाती कदम उठाने की कोशिश कर रहे हैं.

महिलाओं के लिए इस वजह से फायदेमंद है मखाना, रोजाना एक कटोरी खाने से मिलेंगे ये 5 जबरदस्त लाभ

कोविड-19 के मामले बढ़ने के पीछे की वजह क्या है?

विशेषज्ञों का दावा है कि ओमिक्रॉन स्ट्रेन की सब-लीनिएज, XBB.1.16, जिसमें पिछली इम्यूनिटी को बायपास करने की क्षमता है, स्पाइक का प्राइमरी कारण है. कोविड-19 एक साइकिलिक वायरल इंफेक्शन है. समय-समय पर स्पाइक्स होते रहेंगे.

कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए एहतियाती उपाय:

मास्क पहनें: सबसे जरूरी उपायों में से एक है घर से बाहर निकलते समय ठीक से मास्क पहनना. इसे सही तरीके से पहनना भी जरूरी है ताकि यह नाक और मुंह को पूरी तरह से ढक ले. एक्सपर्ट्स का कहना है कि मास्क को पहनते समय छूने से बचना चाहिए.

सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें: सोशल डिस्टेंसिंग एक और जरूरी उपाय है, खासकर जब आप बाहर हों. अपने आसपास के लोगों से कम से कम दो मीटर की दूरी बनाए रखना जरूरी है.

इस वजह से भी आ जाती है प्रजनन क्षमता में कमी, महिलाएं फर्टिलिटी पावर बढ़ाने के लिए करें ये काम

नियमित रूप से हाथ धोना: कम से कम 20 सेकंड के लिए नियमित रूप से साबुन और पानी से हाथ धोना वायरस को दूर रखने का एक प्रभावी तरीका है. किसी भी सतह को छूने के बाद अपने चेहरे, नाक या मुंह को छूने से भी बचना चाहिए, खासकर सार्वजनिक स्थानों पर.

भीड़-भाड़ वाली जगहों से बचें: प्रमुख सावधानियों में से एक यह है कि भीड़-भाड़ वाली जगहों जैसे सार्वजनिक पार्कों, बाजारों या शॉपिंग मॉल से बचें.

टीका लगवाएं: टीकाकरण अभियान अब 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए खुला है और यह सलाह दी जाती है कि जो भी पात्र हैं, उन्हें खुद को टीका लगवाना चाहिए. यह वायरस की गंभीरता को कम करने और खुद को संक्रमित होने से बचाने के सबसे प्रभावी तरीकों में से एक है.

कैसे पहचानें की हमारी Bones Weak हैं? हड्डियों के कमजोर होने पर दिखते हैं ये 5 लक्षण

सेल्फ़-आइसोलेशन: अगर आपको कोविड-19 के कोई भी लक्षण महसूस हों, तो तुरंत सेल्फ़-आइसोलेट हो जाएं और डॉक्टरी सलाह लें. बेहतर होगा कि आप सावधानी बरतें और खुद को तब तक अलग-थलग कर लें जब तक कि आप जांच न करवा लें.

दिल्ली की स्थिति चिंताजनक है और प्रत्येक व्यक्ति को अपने और अपने प्रियजनों को सुरक्षित रखने के लिए एहतियाती कदम उठाने चाहिए. कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए सरकार और हेल्थ एक्सपर्ट्स द्वारा सुझाए गई गाइडलाइन्स को फॉलो करना जरूरी है.

इनपुट्स: पीटीआई, एनडीटीवी

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
कैंसर का जल्दी पता लगाने वाले अमेरिकी स्टार्टअप नवॉक्स को मिली फंडिंग, इंडियन मार्केट में एंट्री की तैयारी
Covid-19: सितंबर के बाद दिल्ली में पहली बार कोरोना के मामले 300 पार, पॉजिटिव रेट लगभग 14 प्रतिशत, ये है वजह
त्रिपुरा में अब तक 2023-24 में लगभग 1790 लोग एचआईवी/एड्स से संक्रमित हुए, पॉजिटिविटी रेट 0.89 प्रतिशत
Next Article
त्रिपुरा में अब तक 2023-24 में लगभग 1790 लोग एचआईवी/एड्स से संक्रमित हुए, पॉजिटिविटी रेट 0.89 प्रतिशत
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;