Bandage Tips: चोट लगने पर इस तरह से करें बैंडेज का इस्‍तेमाल, जल्दी सूखेगा घाव

Bandage Uses Tips: हर दिन कोई-ना कोई काम करने से कभी हाथ तो कभी पैर में चोट लगना एक आम बात बन गई है. लेकिन कई बार ये चोट काफी गहरी और ज्यादा हो जाती है. जिसके चलते काफी दर्द और तकलीफ का सामना करना पड़ सकता है.

Bandage Tips: चोट लगने पर इस तरह से करें बैंडेज का इस्‍तेमाल, जल्दी सूखेगा घाव

Bandage Tips: छोटे कट्स और चोट के ल‍िए हम बाजार में म‍िलने वाली स्‍ट्र‍िप बैंडेज का इस्‍तेमाल करते हैं.

Bandage Uses Tips: हर दिन कोई-ना कोई काम करने से कभी हाथ तो कभी पैर में चोट लगना एक आम बात बन गई है. लेकिन कई बार ये चोट काफी गहरी और ज्यादा हो जाती है. जिसके चलते काफी दर्द और तकलीफ का सामना करना पड़ सकता है. छोटे कट्स और चोट के ल‍िए हम बाजार में म‍िलने वाली स्‍ट्र‍िप बैंडेज का इस्‍तेमाल करते हैं. लेकिन अगर इस स्‍ट्र‍िप बैंडेज का सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो चोट को भरने और दर्द को कम करने में राहत मिल सकती है. अब आप सोच रहे होंगे कि इसे लगाने का क्या तरीका. जी हां कई बार कई लोग इसे सही तरीके से नहीं लगाते जिसके चलते धाव को भरने और दर्द में राहत नहीं मिलती. तो चलिए बिना देर किए जानते हैं बैंडेज को इस्तेमाल करने के तरीके.

इन स्टेप्स की मदद से करें बैंडेज- Best Tips For Bandage Uses:

1. सही बैंडेज का चुनाव-
  
बैंडेज का चुनाव सबसे जरूरी है. आपको बता दें कि छोटे कट और हल्‍की चोट में इस्‍तेमाल किए जानें वाले बैंडेज को स्‍ट्र‍िप बैंडेज कहते हैं. आप चोट के मुताब‍िक बैंडेज का चुनाव कर सकते हैं. जैसे प्रेशर बैंडेज, मोलस्‍क‍िन, गौज पट्टी आद‍ि. लेकिन इनका इस्तेमाल सिर्फ छोटी चोट पर ही करें ज्यादा चोट लगने पर तुरंत अपने डॉक्टर से मिलें. 

Health Tips: आपको भी लगती है हर टाइम भूख तो इन 4 बीमारियों का है संकेत, संभल जाएं वर्ना हो जाएगी दिक्कत

nmbafh68

2. खून बहना रोकें-
  
कई बार चोट लगने पर खून बहने लगता है और हम तुरंत उसमें बैंडेज लगा लेते हैं. लेकिन आपको बता दें कि अगर चोट से खून बह रहा है, तो सबसे पहले खून को बहने से रोकें. खून को बहने से रोकने के ल‍िए बर्फ का इस्‍तेमाल कर सकते हैं. खून बंद होने के बाद ही बैंडेज लगाएं. अगर चोट काफी गहरी और बड़ी है तो तुरंत डॉक्टर से मिलें. 

Intermittent Fasting: क्या इंटरमिटेंट फास्टिंग से बॉडी फैट को तेजी से कम कर सकते हैं? जानिए किसे नहीं करना चाहिए ये उपवास

3. चोट की सफाई- 

चोट लगने के बाद सबसे पहला और जरूरी काम है चोट को साफ करना. क्योंकि इससे संक्रमण से बचने और घाव को भी देखने में आसानी होगी, अगर चोट ज्यादा है तो बैंडेज न लगाकर डॉक्टर को दिखाएं. 

4. बैंडेज कब लगाएं-
 
बैंडेज लगाने का सही समय होता है. चोट का खून बंद करने और चोट साफ करने के बाद छोटी चोट में आप बैंडेज को न‍िकालें और उसकी स्‍ट्र‍िप हटाकर स्किन को टाइट करते हुए चोट पर लगा दें. बैंडेज को ज्यादा टाइट भी न होने दें. 

Cause Sinus Headache: इन 4 वजहों से होता है साइनस सिरदर्द, जानें इससे निपटने के आसान उपाय

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.