विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jan 30, 2023

Infertility Causes: महिला और पुरुषों में इनफर्टिलिटी के ये हैं 9 कारण, जानें कन्सीव करने में दिक्कत होने पर क्या करना चाहिए

Reasons For Infertility: यह संभव है कि हम अपनी रोजाना लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करके बांझपन के कुछ संभावित रूपों को रोक सकते हैं. जानिए किन कारणों से हो जाते हैं आप बांझपन के शिकार.

Read Time: 23 mins
Infertility Causes: महिला और पुरुषों में इनफर्टिलिटी के ये हैं 9 कारण, जानें कन्सीव करने में दिक्कत होने पर क्या करना चाहिए
Infertility Causes: इनफर्टिलिटी उम्र के कारण एग क्वालिटी में कमी के कारण हो सकती है.

How To Avoid Infertility: बांझपन एक महिला की गर्भावस्था में योगदान करने की शारीरिक अक्षमता को दर्शाता करता है. अगर महिला की आयु 34 साल से कम है और दम्पति 12 महीने तक बिना कॉन्ट्रासेप्शन बच्चे के लिए कोशिश करने के बाद भी गर्भवती नहीं हो रहीं है, या फिर महिला की उम्र 34 वर्ष से अधिक है, लेकिन इसके बावजूद 6 महीने तक बिना गर्भनिरोधक के कोशिश करने के बाद भी गर्भवती नहीं हो रही है तो ये बांझपन के लक्षण हो सकते हैं. ये उम्र के कारण एग क्वालिटी में कमी, बढ़ती उम्र विसंगती के कारण हो सकता है.

Advertisement

आमतौर पर दुनिया भर में यह अनुमान लगाया जाता है कि 7 कपल्स में से एक को गर्भधारण करने में समस्या होती है. बांझपन की वैश्विक घटना लगभग 13-17 प्रतिशत है. भारत में बांझपन के मामले 10 से 20 प्रतिशत के बीच हैं. बांझपन कपल्स की तादाद भी लगातार बढ़ती जा रही है.

रात को भिगोए हुए अंजीर को सुबह खाने से मिलेंगे कमाल के फायदे, पढ़ें लिस्ट

बांझपन स्थिति के लिए आमतौर पर पुरुष और महिला दोनों का समान योगदान होता है. बांझपन के कई जैविक कारण हैं. उनमें से कुछ को मेडिकल इंटरवेंशन से ठीक किया जा सकता है. बांझपन के ज्यादातर मामले आनुवंशिक होते हैं, जिसे रोका नहीं जा सकता है, लेकिन यह संभव है कि हम अपनी रोजाना लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करके बांझपन के कुछ संभावित रूपों को रोक सकते हैं. हम जिस वातावरण में रहते हैं उसका हमारी लाइफस्टाइल में और हमारी संभावित प्रजनन क्षमता पर बड़ा प्रभाव पड़ता है. समय के साथ बांझपन एक मेडिकल कंडिशन से ज्यादा लाइफस्टाइल की समस्या बन गई है.

Advertisement

बांझपन रोकने के लिए यह जानना जरूरी है कि इन समस्याओं से बचने के लिए कौन से उपाय करना सबसे अच्छा:

1) सबसे पहले धूम्रपान और शराब पीने जैसी कुछ आदतें प्रजनन क्षमता पर हानिकारक प्रभाव डाल सकती हैं. धूम्रपान को पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या कमी और शुक्राणुओं की सुस्त गति और महिलाओं में गर्भपात में वृद्धि से जोड़ा गया है.

Advertisement

2) शराब प्राकृतिक रूप से और मेडिकल ट्रीटमेंट के माध्यम से गर्भ धारण करने की कोशिश कर रही महिलाओं और पुरुषों की प्रजनन क्षमता को प्रभावित करती है. शराब शुक्राणु के लिए विषाक्त है. यह शुक्राणुओं की संख्या को कम करता है और यौन कार्य में बाधा डाल सकता है हार्मोन संतुलन को बाधित कर के गर्भपात के जोखिम को बढ़ा सकता है.

Advertisement

मलाइका अरोड़ा को वर्कआउट के लिया मिला नया पार्टनर, बताएं साथ एक्सरसाइज करने के फायदे

3) कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और फाइबर से भरपूर बैलेंस डाइट का सेवन करना चाहिए. पशुओं के मांस की जगह प्रोटीन से भरपूर सब्जियों को डाइट में शामिल करना चाहिए, जो फाइबर और आयरन से भरपूर होती है. कार्बोहाइड्रेट से कम ट्रांस फैट और शुगर वाले फूड्स, हाई फैट, डेयरी प्रोडक्ट्स के साथ मल्टीविटामिन लेने से महिलाओं में बांझपन का खतरा कम हो जाता है. अनबैलेंस डाइट से विटामिन सी, फोलेट, सेलेनियम या जिंक की कमी के कारण बांझपन का खतरा बढ़ जाता है. 

Advertisement
male infertility

अनबैलेंस डाइट से विटामिन सी, फोलेट, सेलेनियम या जिंक की कमी होती है. Photo Credit: iStock

4) फिजिकल एक्टिविटी व्यक्ति की प्रजनन क्षमता को बढ़ा सकती है, लेकिन बहुत अधिक व्यायाम महिलाओं में मासिक धर्म की समस्या पैदा कर सकता है और पुरुषों में अंडकोष के आसपास की गर्मी को बढ़ा सकता है, जिससे शुक्राणु उत्पादन पर असर होता है.

5) प्रोटीन से भरपूर डाइट और लगातार व्यायाम के माध्यम से सेहत बनाए रखनी चाहिए. हार्मोन असंतुलन की संभावना को कम करने के लिए अपने शरीर का वजन जादा बढ़ने नही देना चाहिए. बांझपन को रोकने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है कि अपना वजन बैलेंस रखें. मोटापे के कारण पुरुषों में गर्मी बढ़ जाती है और शुक्राणुओं की संख्या कम हो जाती है और महिलाओं में यह ओव्यूलेशन पर दबाव डालता है जो बांझपन का कारण होता है.

इन 7 रोगों के लिए अचूक औषधी है लहसुन का तेल, गजब फायदों को जानकर आप भी रह जाएंगे दंग

6) प्रजनन क्षमता को प्रभावित करने वाली कुछ मेडिकल कंडिशन्स के लिए हर साल रोजाना जांच करवानी चाहिए. पैल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज (पीआईडी), एंडोमेट्रियोसिस और सर्वाइकल कैंसर जैसी कंडिशन का शीघ्र निदान बांझपन को रोक सकता है. इसके अलावा यौन संचारित रोगों का पता लगाने और उपचार करने से भी किसी की प्रजनन क्षमता को सुरक्षित रखने में मदद मिल सकती है.

7) कुछ दवाइयं या हर्बल उपचार भी प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकते हैं. ऐसी दवाओं के बारे में स्त्री रोग विशेषज्ञ से चर्चा की जानी चाहिए.

8) पर्यावरणीय विषाक्त पदार्थों और कीटनाशकों, जहरीले रसायनों और आयनकारी विकिरण जैसे खतरों से भी बचना चाहिए.

9) तनाव और नींद की कमी से बांझपन का खतरा बढ़ सकता है. ध्यान, योग, गहरी सांस लेना और अन्य तकनीकों को अपनाकर तनाव को कम करने में मदद हो सकती है.

सुबह उठकर कर लिए ये 7 काम तो गोली की स्पीड से चलने लगेगा आपका माइंड

अगर 6 महीने या उससे अधिक समय तक गर्भधारण करने के प्रयास विफल हो जाते हैं, तो बांझपन कि स्थिति जानकर डॉक्टर की सलाह से इसका इलाज किया जा सकता है.

कुछ दवाएं पुरुषों और महिलाओं दोनों में प्रजनन क्षमता को खराब कर सकती हैं. कैंसर रोधी दवाएं अस्थायी या स्थायी रूप से गर्भाशय और टेस्टिकुलर फेलियर का कारण बन सकती हैं. 

धूम्रपान पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के उत्पादन को भी कम करता है, जिससे नपुंसकता होती है. महिलाओं में धूम्रपान सर्वाइकल म्यूकस में बदलाव का कारण बनता है, जो शुक्राणु को अंडे तक पहुंचने से रोकता है और बांझपन कि स्थिती पैदा करता है.

(डॉ हृषिकेश पाई, सलाहकार स्त्री रोग विशेषज्ञ और बांझपन विशेषज्ञ, लीलावती अस्पताल, मुंबई, चंडीगढ़ और नई दिल्ली में फोर्टिस अस्पताल)

अस्वीकरण: इस लेख में व्यक्त विचार लेखक के निजी विचार हैं. एनडीटीवी इस लेख की किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता या वैधता के लिए ज़िम्मेदार नहीं है. सभी जानकारी यथास्थिति के आधार पर प्रदान की जाती है. लेख में दी गई जानकारी, तथ्य या राय एनडीटीवी के विचारों को नहीं दर्शाती है और एनडीटीवी इसके लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व नहीं लेता है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
क्यों मनाया जाता है विश्व तंबाकू निषेध दिवस, क्या है इसका इतिहास और इस साल की थीम? जानिए इस दिन का महत्व
Infertility Causes: महिला और पुरुषों में इनफर्टिलिटी के ये हैं 9 कारण, जानें कन्सीव करने में दिक्कत होने पर क्या करना चाहिए
प्याज या मेथी नहीं बल्कि बालों को लंबा करने में मदद करेगा ये पानी, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल, कुछ ही दिनों में दिखेगा असर
Next Article
प्याज या मेथी नहीं बल्कि बालों को लंबा करने में मदद करेगा ये पानी, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल, कुछ ही दिनों में दिखेगा असर
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;