6 लाइफस्टाइल फैक्टर्स जो यौन क्षमता को करते हैं कमजोर, Infertility से बचने के लिए जल्द करें इनमें सुधार

Infertility Causes: इनफर्टिलिटी कई प्रकार के कारकों की वजह हो सकती है, जिनमें मेडिकल कंडिशन, एज और लाइफस्टाइल फैक्टर शामिल हैं. यहां कुछ के बारे में बताया गया है जो इनफर्टिलिटी का कारण बन सकते हैं.

6 लाइफस्टाइल फैक्टर्स जो यौन क्षमता को करते हैं कमजोर, Infertility से बचने के लिए जल्द करें इनमें सुधार

Infertility Causes: दुनिया भर में लगभग 15 प्रतिशत कपल्स इनफर्टिलिटी का अनुभव करते हैं.

How To Increase Fertility Chances: बांझपन एक साल या उससे ज्यादा समय तक रेगुलर असुरक्षित यौन संबंध बनाने के बावजूद गर्भधारण करने में असमर्थता के बारे में है. पुरुषों में कम शुक्राणुओं की संख्या और महिलाओं में ओव्यूलेशन की समस्या इसका कारण हो सकते हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, दुनिया भर में लगभग 15 प्रतिशत कपल्स इनफर्टिलिटी का अनुभव करते हैं. इनफर्टिलिटी कई प्रकार के कारकों की वजह हो सकती है, जिनमें मेडिकल कंडिशन, एज और लाइफस्टाइल फैक्टर शामिल हैं. यहां कुछ के बारे में बताया गया है जो इनफर्टिलिटी का कारण बन सकते हैं.

इनफर्टिलिटी की वजह बन सकते हैं ये लाइफस्टाइल फैक्टर:

1. मोटापा

मोटापा बांझपन के लिए एक बड़ा रिस्क फैक्टर है, खासकर महिलाओं में. एक्स्ट्रा वेट हार्मोन लेवल और ओव्यूलेशन को रिस्ट्रिक्ट कर सकता है, जिससे गर्भ धारण करना कठिन हो जाता है. मोटापा गर्भावस्था के दौरान रिस्क फैक्टर्स को भी बढ़ा सकता है, जैसे गर्भावस्था के दौरान डायबिटीज और प्री-एक्लेमप्सिया. पुरुषों में मोटापे के कारण टेस्टोस्टेरोन का लेवल कम हो सकता है, स्पर्म की क्वालिटी में कमी आ सकती है.

पुरुषों की फर्टिलिटी को इफेक्ट करती है ये बीमारी, जानें नेक्रोसस्पर्मिया के कारण और ट्रीटमेंट ऑप्शन

2. धूम्रपान करना

इनफर्टिलिटी सहित कई स्वास्थ्य समस्याओं के लिए धूम्रपान एक बड़ा रिस्क फैक्टर है. धूम्रपान अंडे और शुक्राणु में डीएनए को नुकसान पहुंचा सकता है, जिससे प्रजनन क्षमता कम हो सकती है. यह हार्मोन लेवल को भी प्रभावित कर सकता है, गर्भपात के जोखिम को बढ़ा सकता है. जो महिलाएं धूम्रपान करती हैं, उनको धूम्रपान न करने वालों की तुलना में पहले मेनोपॉज हो सकता है, जिससे उनके गर्भधारण की संभावना कम हो जाती है.

nn814mq8

3. बहुत ज्यादा शराब का सेवन

बहुत ज्यादा शराब का सेवन पुरुषों और महिलाओं दोनों में प्रजनन स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है. महिलाओं में शराब मेंट्रुअल साइकिल को रिस्ट्रिक कर सकती है और प्रजनन क्षमता को कम कर सकती है. यह गर्भपात के जोखिम को भी बढ़ा सकता है.पुरुषों में शराब टेस्टोस्टेरोन लेवल को कम कर सकती है.

4. तनाव

स्ट्रेस इनफर्टिलिटी में भी भूमिका निभा सकता है. स्ट्रेस हार्मोन लेवल, ओव्यूलेशन और स्पर्म प्रोडक्शन को रिस्ट्रिक्ट कर सकता है. यह सेक्स ड्राइव को भी कम कर सकता है. आप योग, ध्यान या व्यायाम के जरिए तनाव कम करने से प्रजनन क्षमता में सुधार हो सकता है.

प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए आपको करने होंगे 7 काम, आज ही छोड़ दें ये गंदी आदतें

5. खराब डाइट

एक खराब डाइट हार्मोन लेवल को रिस्ट्रिक्ट करके और प्रजनन क्षमता को कम करके इनफर्टिलिटी को बढ़ा सकता है. सेचुरेटेड फैट, शुगर और प्रोसेस्ड फूड्स से मोटापा और अन्य स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं जो प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकती हैं. दूसरी ओर, सब्जियों, फलों, साबुत अनाज और लीन प्रोटीन से भरपूर एक हेल्दी डाइट फर्टिलिटी में सुधार कर सकती है.

6. व्यायाम न करना

व्यायाम की कमी मोटापे, हार्मोनल इनबैलेंस और लो फर्लिलिटी का कारण बन सकती है. एक्सरसाइज हार्मोन लेवल को कंट्रोल करने, तनाव कम करने और हेल्दी वेट बनाए रखने में मदद कर सकती है. हालांकि, बहुत ज्यादा एक्सरसाइज भी प्रजनन क्षमता के लिए हानिकारक हो सकता है.

Vaginal Health: वजाइनल हेल्‍थ से जुड़ी वो बातें, जो हर महिला को पता होनी चाहिए...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.