जिनेदिन जिदान ने रीयाल मैड्रिड का मैनेजर पद छोड़ा, बोले- क्लब को मुझ पर विश्वास नहीं है

फ्रांस के महान पूर्व फुटबॉलर जिनेदिन जिदान (Zinedine Zidane) ने रीयाल मैड्रिड फुटबॉल क्लब (Real Madrid) का कोच पद छोड़ दिया है. बता दें कि हाल ही में समाप्त हुए सत्र में मैड्रिड की टीम एक दशक से अधिक समय में पहली बार कोई भी खिताब जीतने में विफल रही.

जिनेदिन जिदान ने रीयाल मैड्रिड का मैनेजर पद छोड़ा, बोले- क्लब को मुझ पर विश्वास नहीं है

जिनेदिन जिदान ने रीयाल मैड्रिड क्लब का मैनेजर पद

फ्रांस के महान पूर्व फुटबॉलर जिनेदिन जिदान (Zinedine Zidane) ने रीयाल मैड्रिड फुटबॉल क्लब (Real Madrid) का मैनेजर पद छोड़ दिया है. बता दें कि हाल ही में समाप्त हुए सत्र में मैड्रिड की टीम एक दशक से अधिक समय में पहली बार कोई भी खिताब जीतने में विफल रही. जिदान ने अपने बयान में कहा है कि, "मैं जा रहा हूं क्योंकि मुझे लगता है कि क्लब को अब मुझ पर विश्वास नहीं है, और न ही क्लब की ओर से कुछ अच्छा करने के लिए समर्थन मिल पा रहा है.'  जिनेदिन जिदान ने रीयाल मैड्रिड फुटबॉल क्लब के फैन्स के लिए अपनी ओर से एक पत्र भी लिखा है और क्लब छोड़ने को लेकर खुले दिल से अपनी बात रखी है.उन्होंने अपने पत्र में आगे लिखा है, मैं रियल मैड्रिड के मूल्यों को समझकर काम किया, यह क्लब इसके सदस्यों, इसके प्रशंसकों और पूरी दुनिया का है, मैंने अपने हर काम में इन मूल्यों का पालन करने की कोशिश की है, और मैंने एक उदाहरण बनने की कोशिश की है"

फुटबॉल का जादूगर जिनेदिन जिदान

जिनेदिन जिदान क्लब को छोड़ते हुए काफी इमोशनल भी नजर आए हैं. अपने पत्र में उन्होंने क्लब के लिए अपने इमोशनल को भी बयां किया है.  बता दें कि 4 दिन पहले ही क्लब ने ऐलान कर दिया था कि, जिनेदिन जिदान क्लब को छोड़ रहे हैं. क्लब ने कहा कि जिदान ने मैड्रिड के कोचके रूप में अपने मौजूदा कार्यकाल को खत्म करने का फैसला किया है. जिदान का अनुबंध 2022 तक था.क्लब ने बयान में कहा, ‘‘हमें अब उनके फैसले का सम्मान करना चाहिए और वर्षों से उनके पेशेवरपन, प्रतिबद्धता और जज्बे के प्रति आभार जताना चाहिए.


जिदान ने पहली बार क्लब का साथ उस समय छोड़ा था जब टीम ने 2016 से 2018 के बीच लगातार तीन चैंपियन्स लीग खिताब जीतकर शानदार प्रदर्शन किया था. कोच के रूप में जिदान के दो साल और पांच महीने के पहले कार्यकाल के दौरान मैड्रिड ने कुल नौ खिताब जीते जिसमें दो क्लब विश्व कप, दो यूएफा सुपर कप, एक स्पेनिश लीग और एक स्पेनिश सुपर कप खिताब शामिल है. जिदान के दूसरे कार्यकाल में हालांकि टीम एक बार लीग खिताब और एक स्पेनिश सुपर कप खिताब ही जीत पाई. जिदान ने मैड्रिड को लगातार तीसरा चैंपियन्स लीग खिताब दिलाने के एक हफ्ते से भी कम समय में पहली बार पद छोड़ा था. उन्होंने तब कहा था कि बदलाव का समय आ गया है और वह क्लब को उनके प्रभारी रहते हुए जीतते हुए नहीं देखते. जिदान ने हाल में अपने भविष्य को लेकर अटकलों को खारिज करते हुए कहा था कि वह इस बारे में क्लब से बात करेंगे. उन्होंने कहा था कि उनका मानना है कि मैड्रिड उनके कोच नहीं रहते अच्छा प्रदर्शन कर सकता है.

जिनेदिन जिदान ने रीयाल मैड्रिड क्लब का कोच पद छोड़ा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कोच के रूप में जिदान का दूसरा कार्यकाल पहली बार पद छोड़ने के एक साल से भी कम समय में मार्च 2019 में शुरू हुआ था बेहद खराब सत्र के बाद टीम संकट में थी. इस दौरान टीम को चिर प्रतिद्वंद्वी बार्सीलोना के खिलाफ हार झेलनी पड़ी और चैंपियन्स लीग के प्री क्वार्टर फाइनल में टीम अयाक्स से हारकर बाहर हो गई. जिदान के दूसरे कार्यकाल का अंत हालांकि 2009-10 से मैड्रिड के सबसे खराब सत्र के साथ हुआ. टीम उस सत्र में भी कोई खिताब नहीं जीत पाई थी. मैड्रिड की टीम ने स्पेनिश लीग खिताब के लिए अंतिम दौर तक कड़ी चुनौती पेश की लेकिन अंत में शहर के अपने प्रतिद्वंद्वी एटलेटिको मैड्रिड से दो अंक से पिछड़ गई और अपने खिताब का बचाव करने में नाकाम रही. टीम के पास 2007-08 के बाद पहली बार लगातार दो ला लीगा खिताब जीतनेका मौका था. चैंपियन्स लीग में टीम सेमीफाइनल तक पहुंची जहां उसे चेल्सी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा. कोपा डेल रे में मैड्रिड का प्रदर्शन बेहद खराब रही और टीम को राउंड आफ 32 में तीसरे डिविजन के क्लब अलकोयानो के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी.