विज्ञापन
Story ProgressBack

नरसिंह जयंती से लेकर बुद्ध पूर्णिमा तक, जानिए इस सप्ताह आ रहे हैं कौन-कौनसे व्रत और त्योहार

इस सप्ताह कई प्रमुख व्रत और त्योहार जैसे नरसिंह जयंती (Narsimha Jayanti), नारद जयंती आने वाले हैं. आइए जानते हैं मई माह की 20 से 26 तारीख वाले सप्ताह के प्रमुख व्रत और त्योहार कौनसे हैं. 

Read Time: 3 mins
नरसिंह जयंती से लेकर बुद्ध पूर्णिमा तक, जानिए इस सप्ताह आ रहे हैं कौन-कौनसे व्रत और त्योहार
इस सप्ताह पड़ेंगे ये प्रमुख व्रत.

Weekly Vrat Tyohar: मई का माह व्रत और त्योहार के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है. इस माह में कई प्रमुख व्रत और त्योहार (Vart Tyohar) आते हैं. मई माह के 20 से 26 तारीख वाला सप्ताह वैशाख मास की त्रयोदशी तिथि से शुरू हो रहा है और ज्येष्ठ माह की तृतीया तिथि को समाप्त होगा. सप्ताह के पहले दिन सोम प्रदोष व्रत है. इसके साथ ही इस सप्ताह कई प्रमुख व्रत और त्योहार जैसे नरसिंह जयंती (Narsimha Jayanti), नारद जयंती आने वाले हैं. आइए जानते हैं मई माह की 20 से 26 तारीख वाले सप्ताह के प्रमुख व्रत और त्योहार कौनसे हैं. 

कब लग रहा है साल का दूसरा सूर्य ग्रहण, नोट कर लें सूतक काल का समय

इस हफ्ते के व्रत और त्योहार 

सोम प्रदोष व्रत 

सप्ताह की शुरूआत यानी 20 मई को सोम प्रदोष का व्रत है. सोमवार भगवान शिव को समर्पित दिन है इसलिए सोम प्रदोष का व्रत बहुत महत्वपूर्ण होता है. इस दिन प्रदोष काल में भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा की जाती है. इस व्रत को करने से गायों के दान के बराबर फल की प्राप्ति होती है.

बहुत शुभ होते हैं केले के पत्ते, जानिए इन पर किन देवताओं को लगाया जाता है भोग

नरसिंह जयंती 

सप्ताह के दूसरे दिन 21 मई मंगलवार को नरसिंह जयंती मनाई जाएगी. नरसिंह जयंती वैशाख शुक्ल की चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है. भगवान विष्णु (Lord Vishnu) से अपने भक्त प्रह्लाद की रक्षा के लिए नरसिंह का अवतार लिया था.

बुद्ध पूर्णिमा 

सप्ताह के चौथे दिन गुरुवार को बुद्ध पूर्णिमा (Buddh Purnima) मनाई जाएगी. बुद्ध पूर्णिमा वैशाख पूर्णिमा को मनाई जाती है. यह भगवान विष्णु के अवतार भगवान बुद्ध की जन्म तिथि भी है. इस दिन भगवान विष्णु की पूजा से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं.

नारद जयंती 

सप्ताह के छठे दिन नारद जयंती मनाई जाएगी. नारद जयंती ज्येष्ठ माह के कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाई जाती है. मान्यता है कि इस दिन बह्मा के मानस पुत्र नारद जी की पूजा से बुद्धि और बल की प्राप्ति होती है. मान्यता है कि इस दिन भगवान कृष्ण को बांसुरी चढ़ाने से भक्तों की हर इच्छा पूर्ण होती है.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
कब लग रहा है साल का दूसरा सूर्य ग्रहण, नोट कर लें सूतक काल का समय
नरसिंह जयंती से लेकर बुद्ध पूर्णिमा तक, जानिए इस सप्ताह आ रहे हैं कौन-कौनसे व्रत और त्योहार
Raksha Bandhan 2024 : रक्षाबंधन कब है? नोट कर लीजिए सही तारीख, शुभ, मुहूर्त और महत्व
Next Article
Raksha Bandhan 2024 : रक्षाबंधन कब है? नोट कर लीजिए सही तारीख, शुभ, मुहूर्त और महत्व
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;