Pitru paksh में श्राद्ध करने की नहीं पड़ेगी जरूरत अगर मृत्यु के समय पालन किए जाए ये नियम

Shradh nityam : अगर मृत्यु के बाद मनुष्य कुछ चीजों का अगर ध्यान कर लिया जाय तो आगे चलकर श्राद्ध करने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

Pitru paksh में श्राद्ध करने की नहीं पड़ेगी जरूरत अगर मृत्यु के समय पालन किए जाए ये नियम

Pitru paksha shradh : जब इंसान प्राण त्यागने वाला हो तो उसके मुंह में गंगाजल डाल देना चाहिए.

Pitru paksh 2022 : पितृ पक्ष के समय लोग अपने पितरों को तर्पण, श्राद्ध और पिंडदान करती हैं. तभी जाकर पूर्वजों का आशीर्वाद प्राप्त होता है. लेकिन अगर मृत्यु के बाद मनुष्य कुछ चीजों का अगर ध्यान कर लिया जाय तो आगे चलकर श्राद्ध (shradh nityam) करने की जरूरत नहीं पड़ेगी. गरुड़ पुराण (garun puran) में उन वस्तुओं का जिक्र किया गया है जिसके बारे में हम भी आपको यहां पर बताएंगे तो चलिए जानते हैं.

मृत व्यक्ति के पास किन चार चीजों को रखें

- तुलसी के पौधे को धार्मिक मान्यता दी गई है. अगर मृत व्यक्ति को तुलसी के पेड़ के पास लेटा दिया जाय तो उसे सीधे स्वर्ग प्राप्त होगा. अगर उस व्यक्ति के मुंह और माथे पर तुलसी के पत्ते रख दिए जाए वह परलोक सीधारता है.

- गंगाजल को भी बहुत शुभ माना जाता है. जब इंसान अंतिम समय में हो प्राण त्यागने वाला हो तो उसके मुंह में गंगाजल डाल देना चाहिए. इससे उसको सभी पापों से मु्क्ति मिल जाती है. वह इंसान सीधा बैकुंठ धाम को प्राप्त होता है. ऐसी मान्यता है कि जब तक इंसान की हड्डियां गंगा जी में रहती हैं वो स्वर्ग में ही विचरण करता है.

- तिल भी इसमें शामिल है. जब भी किसी व्यक्ति की मृत्यु का समय निकट आए तो उसके हाथ से तिल दान जरूर करवाना चाहिए. ऐसा करने से असुर, दैत्य दूर रहते हैं. 

- कुश का भी सनातन धर्म में विशेष महत्व है. यह एक प्रकार की घास होती है. मृत्यु के समय इंसान को कुश का आसन बिछाकर लेटा देना चाहिए. फिर उसके सिर पर तुलसी का पत्ता रख दें. इससे भी व्यक्ति सीधा परलोक सीधारता है.


 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

आलिया भट्ट, रणबीर कपूर और अयान मुखर्जी को मुंबई में किया गया स्पॉट​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com