Ganesh Chaturthi 2017: गणेशोत्सव में कुछ यूं घोलें इको फ्रेंडली रंग...

इस बार गणेश चतुर्थी पर केमिकल से बनी बप्पा मूर्तियों को कहें बाय, क्योंकि विसर्जन करने पर ये नदियों, समुद्र वगैरह के पाने को दूषि‍त कर देती हैं. इससे बचने के लिए हैं कुछ उपाय- 

Ganesh Chaturthi 2017: गणेशोत्सव में कुछ यूं घोलें इको फ्रेंडली रंग...

गणेश चतुर्थी 2017: बप्पा की ऐसी मूर्तियां विसर्जन करने पर वातावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचाएंंगी.

गणपति बप्पा मोरिया, मंगलमूर्ति मोरिया... गणेश उत्सव ( Ganesh Chaturthi 2017 ) की आप सभी को शुभकामनाएं. हर साल की तरह इस साल भी गणपति बप्पा के आने की तैयारियां जोरों शोरों से की जा रही हैं. सभी इस बार भी हमेशा की तरह अपनी गणेश चतुर्थी को पहले से अलग बनाने की कोशि‍श में लगे हैं. लेकिन बदलते वातावरण और प्रदूषण ने इस बार गणेश चतुर्थी पर कई लोगों को गणपति बप्पा को याद करने का तरीका बदलने की ओर मोड दिया है. अगर आप अपनी पृथ्वी से करते हैं प्यार और चाहते हैं कि यह इंसानों के रहने लायक बनी रहे, तो इसे प्रदूषण मुक्त करना होगा. इसके लिए आपको हर उस जगह कोताही बरतने की जरूरत है, जहां इसकी संभावना हो... तो क्यों न इस बार गणेश चतुर्थी पर आप मनाएं इको फ्रेंडली गणेश चतुर्थी... कैसे ये हम आपको बताते हैं. 

इस बार गणेश चतुर्थी पर केमिकल से बनी बप्पा मूर्तियों को कहें बाय, क्योंकि विसर्जन करने पर ये नदियों, समुद्र वगैरह के पाने को दूषि‍त कर देती हैं. इससे बचने के लिए हैं कुछ उपाय- 

चावल के एकदंतधारी...
इस बार गणेश चतुर्थी पर बनाएं चावल के गणपति, मूर्ति न सही एक चौकी पर गणपति ही सही. अपने घर में एक चौकी पर अपने हाथों से चावलों को डाल कर गणपति का रूप दें. इसी का पूजन करें. जब आप इनका विसर्जन करेंगे, तो यह वातावरण को कोई नुकसान नहीं पहुंचाएगा. 


फूलों से बप्पा...
अगर आप चावलों के गणपति नहीं बनाना चाहते तो बप्पा के स्वरूप को फूलों से भी बना सकते हैं. यह उन लोगों के लिए अच्छा उपाय है, जो गणेश चतुर्थी पर एक ही दिन के लिए बप्पा को स्थापित करते हैं. फूलों से तैयार गणपति का पूजन करने के बाद आप चाहें तो इन्हें गमलों में रख दें. जब यह फूल जब मिट्टी के साथ मिलेंगे तो नए पौधे बन जाएंगे. 


मिट्टी के गजानन
गणेश चतुर्थी पर मिट्टी के गजानन बनाना भी बुरा नहीं. इसके लिए बहुत सारे वीडियो आप ऑनलाइन देख सकते हैं और बप्पा की मूर्ति बनाने के सरल तरीके खोज सकते हैं. गणेश चतुर्थी पर बनाई यह मूर्ति नदी को प्रदूष‍ित नहीं करेगी और आप बप्पा की इस सुंदर संसार संरचना को बिना कोई नुकसान पहुंचाए अपनी परम्पराएं भी निभा पाएंगे... 

फिशफूड 
गणेश चतुर्थी पर एक अच्छा उपाय यह होगा कि आप फिशफूड से बप्पा बनाएं. जब आप गणपति बप्पा का विसर्जन करेंगे तो आप आराम से इन्हें नदी या फिर नहर में विसर्जित कर सकते हैं. इससे आप एक साथ दो अच्छे काम कर सकते हैं, एक तो मछलियों को खाना दे सकते हैं और दूसरा नदी या नहर को प्रदूष‍ित होने से भी बचा सकते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com