Basant Panchami 2021: बसंत पंचमी पर श्रद्धालुओं ने किया शाही स्नान, हरिद्वार से प्रयागराज तक उमड़े भक्त

Basant Panchami snan: देशभर में बड़ी धूम धाम से आज बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जा रहा है. देश के हर कौने में इस खास पर्व पर लोग आस्था और भक्ति में डूबे नज़र आ रहे हैं.

Basant Panchami 2021: बसंत पंचमी पर श्रद्धालुओं ने किया शाही स्नान, हरिद्वार से प्रयागराज तक उमड़े भक्त

Basant Panchami 2021: बसंत पंचमी पर श्रद्धालुओं ने किया शाही स्नान.

नई दिल्ली:

Basant Panchami Snan 2021: देशभर में बड़ी धूम धाम से आज बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जा रहा है. देश के हर कौने में इस खास पर्व पर लोग आस्था और भक्ति में डूबे नज़र आ रहे हैं. भारत भर में बसंत पंचमी के अवसर पर आज करोड़ों श्रद्धालुओं ने गंगा नदी में पवित्र स्नान किया. हरिद्वार से वाराणसी तक श्रद्धालु डुबकी लगाते नजर आए.

बसंत पंचमी के पवित्र पर्व पर वाराणसी और प्रयागराज में गंगा घाटों पर लोग आस्था की डुबकी लगाते हुए नजर आए. भारी संख्या में लोग यहां स्नान के लिए पहुंचे.

वहीं, उत्तराखंड के हरिद्वार में कुंभ मेले की तैयारियों के बीच मंगलवार को भक्तों की भीड़ नजर आई. हरिद्वार में मंगलवार को भक्तों ने हर की पौड़ी घाट पर बसंत पंचमी के पवित्र मौके पर स्नान किया.

इसके अलावा उत्तर प्रदेश में भी इस बसंत पंचमी के खास मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रयागराज में संगम तट पर स्नान किया.



बसंत पंचमी का महत्व
बसंत पंचमी के दिन बसंत ऋ‍तु का आगमन होता है. ऋतुराज बसंत का बड़ा महत्‍व है. कड़कड़ाती ठंड के बाद प्रकृति की छटा देखते ही बनती है. पलाश के लाल फूल, आम के पेड़ों पर आए बौर, हरियाली और गुलाबी ठंड मौसम को सुहाना बना देती है. यह ऋतु सेहत की दृष्टि से भी बहुत अच्‍छी मानी जाती है. मनुष्‍यों के साथ पशु-पक्ष‍ियों में नई चेतना का संचार होता है. बसंत को प्रेम के देवता कामदेव का मित्र माना जाता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस ऋतु को काम बाण के लिए अनुकूल माना जाता है. वहीं, हिंदू मान्‍यताओ के अनुसार इस दिन देवी सरस्‍वती का जन्‍म हुआ था. इसलिए हिंदुओं की इस त्‍योहार में गहरी आस्‍था है. इस दिन पवित्र नदियों में स्‍नान का विशेष महत्‍व है. पवित्र नदियों के तट और तीर्थ स्‍थानों पर बसंत मेला भी लगता है.