विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Apr 29, 2022

Aaj Ka Panchang: आज का पंचांग, जानिए शुभ-अशुभ मुहूर्त

Aaj Ka Panchang: पंचांग के मुताबिक (Today Panchang) वैशाख कृष्ण पक्ष (Vaishakh Krishna Paksha) की चतुर्दशी तिथि है. सूर्योदय 5 बजकर 42 मिनट पर है. सूर्यास्त का समय शाम 6 बजकर 55 मिनट है.

Read Time: 3 mins
Aaj Ka Panchang: आज का पंचांग, जानिए शुभ-अशुभ मुहूर्त
Aaj Ka Panchang: राहु काल सुबह 12 बजकर 40 मिनट से दोहर 12 बजकर 19 मिनट तक रहेगा.

Aaj Ka Panchang: पंचांग के मुताबिक (Today Panchang) वैशाख कृष्ण पक्ष (Vaishakh Krishna Paksha) की चतुर्दशी तिथि है. सूर्योदय 5 बजकर 42 मिनट पर है. सूर्यास्त का समय शाम 6 बजकर 55 मिनट है. राहु काल सुबह 12 बजकर 40 मिनट से दोहर 12 बजकर 19 मिनट तक रहेगा. रेवती नक्षत्र शाम 6 बजकर 43 मिनट तक है. इसके अलावा आज मासिक शिवरात्रि है. मासिक शिवरात्रि पर पूजा के लिए शुभ मुहूर्त सुबह से लेकर देर रात तक है. आइए जानते हैं आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang) शुभ अशुभ मुहूर्त. 

29 अप्रैल 2022 का पंचांग, शुभ मुहूर्त  (29 April Panchang Shubh Muhurat) 

ब्रह्म मुहूर्त-  सुबह 04:16 से 05:59 बजे तक

अभिजित मुहूर्त- 11 बजकर 52 मिनट से दोपहर 12 बजकर 45 मिनट तक.

विजय मुहूर्त- 02:31 पी एम से 03:24 पी एम 

गोधूलि मुहूर्त-शाम 06:42 से 07:06 बजे तक

अमृत काल- 04:12 पी एम से 05:52 पी एम

सर्वार्थ सिद्धि योग- पूरे दिन 

अशुभ समय (Ashubh Muhurat)

राहु काल- सुबह 11 बजकर 40 मिनट से दोपहर 12 बजकर 19 मिनट तक 

यमगण्ड- दोपहर 3 बजकर 37 मिनट से 5 बजकर 16 मिनट तक 

विडाल योग- शाम 5 बजकर 42 मिनट से शाम 06 बजकर 43 मिनट तक

दुर्मुहूर्त- सुबह 08 बजकर 21 मिनट से 09 बजकर 14 मिनट तक

गुलिक काल- सुबह 07 बजकर 21 मिनट से दोपहर 09 बजे तक

आज का पंचांग (Aaj ka Panchang)

आज का योग- सिद्ध 

आज का वार- शुक्रवार

आज का पक्ष- कृष्ण पक्ष

आज की तिथि- त्रयोदशी  

सूर्योदय- 5 बजकर 42 मिनट पर 

दिशा शूल- पश्चिम

चंद्र वास- उत्तर

राहु वास- दक्षिण

ऋतु- ग्रीष्म

मासिक शिवरात्रि की पूजा विधि (Masilk Shivratri 2022 Puja Vidhi)

मासिक शिवरात्रि व्रत की पूजा के लिए सुबह स्नान करें. इसके बाद मंदिर में जाकर भगवान शिव और उनके परिवार की विधिवत पूजा करें. इस क्रम में सबसे पहले शिवलिंग पर जल, घी, शक्कर, दूध, दही आदि से रूद्राभिषेक कर सकते हैं. मान्यता है  कि भगवान शिव का रूद्राभिषेक करने से भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं और मनोकामना पूरी करते हैं. 

सिटी सेंटर: हनुमान मंदिर के सेवादार यूसुफ पेश कर रहे भाईचारे की मिसाल

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
देवशयनी एकादशी से लेकर प्रदोष व्रत और कामिका एकादशी जैसे व्रत पड़ रहे हैं इस महीने के आखिरी कुछ दिनों में, देखें पूरी लिस्ट 
Aaj Ka Panchang: आज का पंचांग, जानिए शुभ-अशुभ मुहूर्त
शुक्र का कुंडली के चौथे भाव में प्रभाव कैसा होता है, यहां जानिए कुछ खास बातें
Next Article
शुक्र का कुंडली के चौथे भाव में प्रभाव कैसा होता है, यहां जानिए कुछ खास बातें
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;