"लॉकडाउन नहीं है समाधान", दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामले और लॉकडाउन की संभावनाओं पर बोले सत्येंद्र जैन

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ मंत्री सत्येंद्र जैन ने लॉकडाउन की संभावनाओं को खारिज करते हुए कहा कि लॉकडाउन कोरोना वायरस का समाधान नहीं है.

दिल्ली में गहराते कोरोना संकट पर बात करते स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन

नई दिल्ली:

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ मंत्री सत्येंद्र जैन ने लॉकडाउन की संभावनाओं को खारिज करते हुए कहा कि लॉकडाउन कोरोना वायरस का समाधान नहीं है.उन्होंने माना कि लॉक डाउन करके देखा गया था, उसके पीछे एक लॉजिक था. उस समय किसी को नही पता था कि वायरस कैसे फैलता है. तब कहा गया था कि संक्रमित होने से लेकर ख़त्म होने तक 14 दिन का साइकिल है. उन्होंने कहा कि तब एक्सपर्ट का मानना था कि अगर 21 दिनों के लिए एक्टिविटी को लॉक कर दें तो वायरस फैलना बन्द हो जाएगा. लिहाजा लॉकडाउन बढ़ता गया लेकिन इसके बावजूद कोरोना ख़त्म नही हुआ. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक मुझे लगता है कि लॉक डाउन समाधान नही है." 

दिल्ली में कोरोना की स्थिति पर चर्चा के दौरान सत्येंद्र जैन ने बताया कि अभी जो कोरोना के मामलों की पॉजिटिविटी है वो पौने 2 प्रतिशत के करीब कई दिन से चल रही है. उन्होंने कहा कि केस जो पहले कम थे अभी थोड़ा ज़्यादा बढ़े हैं. हमने टेस्टिंग बहुत ज़्यादा बढा दी है. अब रोज़ाना 80-90 हज़ार टेस्ट हो रहे हैं. देश के औसत टेस्टिंग से 5 गुना ज़्यादा टेस्ट हम कर रहे हैं. सत्येंद्र जैन ने बताया कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग कर रहे हैं, एक-एक टेस्ट जो पॉजिटिव आ रहा है उसमें 30 लोगों की कांटेक्ट ट्रेसिंग कर रहे हैं ताकि इसको जल्द से जल्द काबू में लाया जा सके. 

दिल्ली के अस्पताल कितने तैयार
राजधानी के अस्पतालों की तैयारियों पर बात करते हुए सत्येंद्र जैन ने कहा कि अभी हॉस्पिटल में पर्याप्त बेड हैं. अस्पतालों में 80% बेड खाली हैं. इस पर नज़र बनाये हुए हैं. उन्होंने कहा कि अगर थोड़ी सी भी occupancy बढ़ती है तो और भी बेड अगर बढ़ाने होंगे तो हम बढ़ा देंगे. उन्होंने बताया कि राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल में अभी 500 बेड हैं और ऑक्यूपेंसी सिर्फ 20-25 बेड की है. इसी तरह LNJP में 300 बेड हैं सभी ICU हैं. राजीव गांधी में 500 बेड में 300 बेड ICU हैं. स्वास्थ्य मंत्री के अनुसार बहुत बड़ी संख्या में ICU बेड रखे गये हैं. बेड्स की कमी हमने पहले भी कभी नहीं होने दी, जिस दिन 8,600 केस आये थे उस दिन 18,500 बेड दिल्ली में थे जिसमें से 8,500 बेड खाली थे.

कोरोना का पीक
कोरोना की दूसरी लहर के पीक पर बात करके हुए उन्होंने कहा अभी हमें ट्रेंड को देखना पड़ेगा कि 1 हफ्ते के बाद क्या होता है. निश्चित ट्रेंड आने में 3-4 हफ्ते का समय लग जाता है. लोगों से मास्क लगाने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि  एक साल की जद्दोजहद के बाद सबने समझ लिया है कि मास्क लगाना पब्लिक प्लेस में सबसे ज़्यादा आवश्यक है. 

तेज़ी से मामले बढ़ने पर एक्सपर्ट्स की राय
सत्येंद्र जैन के मुताबिक ये लौट कर आने वाली बीमारी है. एक्सपर्ट्स का शुरू से कहना है कि ये मत मान कर चलिये कि ये एकदम से खत्म हो जायेगा. इसके साथ जीना सीखना होगा. लोग 2-3 महीने शिद्दत से मास्क लगाते हैं फिर छोड़ देते हैं. उन्होंने कहा कि इस वायरस का व्यवहार निश्चित नहीं है. जो भी कारण है उससे बचाव का रास्ता सबको पता है.

प्राइवेट अस्पतालों की मनमानी पर
प्राइवेट अस्पतालों द्वारा इलाज के नाम पर मनमानी वसूली करने पर सत्येंद्र जैन ने कहा कि सरकार ने पहले ही रेट फिक्स किये हुए हैं. उससे ज़्यादा नहीं लिये जा सकते हैं. 

सार्वजनिक स्थानों पर होली खेलने पर मनाही 
सत्येंद्र जैन के अनुसार दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर होली खेलने से रोकने के लिए सरकार ने कई टीम बनाई हैं. ज़िला स्तर पर भी टीम बनाई जा रही हैं. DM और पुलिस को निर्देश दिए गए हैं. उन्होंने साफ किया कि कोई नियम उल्लंघन करता पाया जाता है तो उस पर कानूनी कार्रवाई की जायेगी. मैं अपील करना चाहूंगा कि त्योहार है खुशी से मनाइये लेकिन घर के अंदर मनाइये. उन्होंने कहा कि सार्वजनिक तौर पर होली अगले साल मनाई जाएगी. बकौल जैन, अगर 50 लोग इकठ्ठे हो रहे हैं क्लोज़ कांटेक्ट में हैं और 2 लोग भी पॉजिटिव हुए तो 50 पॉजिटिव हो जाएंगे. ऐसे सुपर स्प्रेडर इवेंट न करें जिसकी वजह से अचानक से विस्फोट हो.


1 अप्रैल से 45 साल से ऊपर आयु वाले लोगों के वैक्सीनेशन पर
दिल्ली के स्वास्थ्य़ मंत्री ने बताया कि 1 अप्रैल से दिल्ली में भी वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा. अभी तक की वैक्सीनेशन में थोड़ी दिक्कत आ रही थी कि पहले लोगों को रजिस्टर कराना होता था. कुछ लोग रजिस्टर कराने के बाद Assigned तारीख पर नहीं पहुंच पा रहे थे. उन्होंने बताया कि दोपहर 3 बजे से रात के 9 बजे तक 6 घन्टे की विंडो है जब आप बिना रजिस्ट्रेशन के जा सकते हैं. साथ ही बताया कि इसके अलावा सुबह 9 बजे से रात के 9 बजे तक, 12 घन्टे वैक्सीनेशन की अवधि को बढ़ा दिया गया है. लोग अपनी सुविधा के हिसाब से जा सकते हैं. उन्होंने बताया कि दिल्ली में फिलहाल पर्याप्त संख्या में वैक्सीन उपलब्ध है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com