VIDEO: जिस पर लोगों के करोड़ों रुपये डकारने का आरोप, जेल में ले रहा कोल्ड बीयर का मजा, पुलिसकर्मी भी साथ 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह वीडियो 28 और 29 अगस्त का है, जब अनिल जिंदल इलाज के बहाने फरीदाबाद  के नामी हॉस्पिटल मेट्रो हॉस्पिटल में दाखिल हुए. वीडियो में साफ दिख रहा है कि उनकी सेवा में ठंडी बीयर शराब की केन पेश की गई.

VIDEO: जिस पर लोगों के करोड़ों रुपये डकारने का आरोप, जेल में ले रहा कोल्ड बीयर का मजा, पुलिसकर्मी भी साथ 

SRS ग्रुप के चेयरमैन अनिल जिंदल पर लोगों के करोड़ों रुपये का गबन करने का आरोप है.

फरीदाबाद:

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) से सटे फरीदाबाद के मेट्रो हॉस्पिटल (Metro Hospital Faridabad) का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जहां उपचाराधीन कैदी इलाज के नाम पर बियर का लुफ्त उठा रहे हैं. ना केवल कैदी बल्कि उनकी सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी भी कैदी का साथ देने में पीछे नहीं है. सोशल मीडिया पर उनका यह वीडियो वायरल हो रहा है.

दरअसल, यह कैदी हैं अनिल जिंदल, जो फरीदाबाद के मशहूर SRS ग्रुप के चेयरमैन हैं और लोगों के करोड़ों रुपये का गबन करने का उन पर आरोप है. जिंदल, फिलहाल नीमका जेल में बंद हैं. उन पर आरोप है कि वह बीच-बीच में अस्पताल में उपचार के बहाने अपनी थकान दूर करने के लिए मेट्रो हॉस्पिटल में एडमिट हो जाते हैं, जहां पर उनको शराब के साथ-साथ और भी सुविधाएं दी जाती हैं.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह वीडियो 28 और 29 अगस्त का है, जब अनिल जिंदल इलाज के बहाने फरीदाबाद  के नामी हॉस्पिटल मेट्रो हॉस्पिटल में दाखिल हुए. वीडियो में साफ दिख रहा है कि उनकी सेवा में ठंडी बीयर शराब की केन पेश की गई.

हालांकि, मेट्रो हॉस्पिटल में नाइट सिक्योरिटी में तैनात एक गार्ड ने बताया कि जब उसने ये सामान अंदर ले जाने से एक शक्स को मना किया तो वह यहां के बड़े डॉक्टर की अप्रोच के साथ-साथ बड़े राजनेताओं का नाम लेने लगा और अक्सर यहां इस तरह की सुविधा मिलने का दावा करने लगा.


संदीप नाम के इस सिक्योरिटी गार्ड ने जब इसकी शिकायत अपने संबंधित अधिकारियों से की तो बतौर सिक्योरिटी गार्ड, उसे चुप करा दिया गया और मामले को रफा-दफा करने के लिए कहा गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


- - ये भी पढ़ें - -
* मुंबई से दोगुना दिल्ली में महिलाओं के खिलाफ अपराध, जानिए- 19 बड़े शहरों का हाल
* कोरोना महामारी से प्रभावित वर्ष 2020 में 28% बढ़ा क्राइम ग्राफ, जानें किस धारा में दर्ज हुए सबसे ज्यादा केस
* रवीश का सवाल- UP में अगर कानून का राज है तो हाईकोर्ट ने NSA के 78% केस खारिज क्यों किए?