पारिवारिक कलह ने ली 4 जिंदगियां, 2 मासूमों की भी छीनी सांसें

दिल्‍ली में के बाहरी उत्तरी जिला के समयपुर बादली थाना क्षेत्र में मंगलवार तड़के एक ही परिवार के 4 लोगो की जिंदगियां चली गईं और चारो व्यक्ति एक कमरे में मृत अवस्था में पाए गए.

पारिवारिक कलह ने ली 4 जिंदगियां, 2 मासूमों की भी छीनी सांसें

दिल्ली के एक घर से परिवार के चार लोगों के शव संदिग्ध हालत में मिले, मरने वालों में दो बच्चे भी

नई दिल्ली:

दिल्‍ली में के बाहरी उत्तरी जिला के समयपुर बादली थाना क्षेत्र में मंगलवार तड़के एक ही परिवार के 4 लोगो की जिंदगियां चली गईं और चारो व्यक्ति एक कमरे में मृत अवस्था में पाए गए. समयपुर बादली में बाग वाली गली में सुबह करीब 9 बजे एक कमरे में 4 मृत लोगों की सूचना मिलने पर हड़कंप मच गया. पुलिस मौके पर पहुंची तो पाया कि एक कमरे में 4 लाशें पड़ी थीं जिनमे 2 मासूम बच्चे भी थे. मृत व्यक्ति की पहचान अमित (30 साल) के रूप में हुई और उसके साथ ही 3 लाशें अमित की पत्नी निक्की (25 साल), पुत्री वंशिका (6 साल) और पुत्र कार्तिक (2.5 साल) की थी.

पूछताछ में मालूम चला कि अमित और निक्की की शादी 2014 में हुई थी और पिछले कुछ महीनों से अमित और उसकी पत्नी के बीच काफी तनाव चल रहा था. दोनों के बीच छोटी-छोटी बातों को लेकर झगड़ा होता रहता था. उसकी पत्नी छोटी मोटी बातों को लेकर उससे झगड़ती रहती थी और अमित ने उसे ऐसा करने से कई बार मना किया.

मालूम चला कि अमित रात को अपने कमरे में सोने चला गया और जब सुबह उसने दरवाजा नहीं खोला तो उसके भाई सतीश के लड़के ने किसी तरह खिड़की से कमरे में घुस गया और दरवाजा खोला. कमरे के अंदर अमित छत पर लगे पंखे से लटका हुआ था और उसकी पत्नी और बच्चे बिस्तर पर मृत पड़े हुए थे.

किसी तरह अमित को नीचे उतारा गया लेकिन वह भी अपनी सांसें छोड़ चुका था. मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. हालांकि प्रथम दृष्टया मामला पारिवारिक कलह के कारण हत्या और आत्महत्या का पाया गया है. जांच जारी है.

VIDEO: सवा साल ESI अस्‍पताल की मोर्चरी में 'सड़ते' रहे दो कोविड मरीजों के शव

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com