Delhi Crime: अवैध हथियार सप्लाई करने वाले दो गैंग का भंडाफोड़, 25 पिस्टल बरामद, 3 गिरफ्तार

दिल्ली की स्पेशल सेल ने अवैध हथियारों की तस्करी करने वाले अंतरराज्यीय मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है.

Delhi Crime: अवैध हथियार सप्लाई करने वाले दो गैंग का भंडाफोड़, 25 पिस्टल बरामद, 3 गिरफ्तार

दिल्ली में हथियारों की अवैध तस्करी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़.

नई दिल्ली:

दिल्ली की स्पेशल सेल ने अवैध हथियारों की तस्करी करने वाले अंतरराज्यीय मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है. डीसीपी प्रमोद कुशवाहा के मुताबिक स्पेशल सेल टीमों की निगरानी में दो अलग-अलग ऑपरेशनों में अवैध हथियारों की तस्करी में शामिल दो मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया गया. अवैध हथियारों की तस्करी करने वाले 3 आरोपियों सूरज परमार, रवि कुमार, प्रदीप कुमार को गिरफ्तार किया गया है. आरोपियों के पास से 25 पिस्टल और 70 जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं. इन हथियारों की सप्लाई दिल्ली में अपराधियों को होने वाली थी.

पुलिस के मुताबिक आगामी स्वतंत्रता दिवस को ध्यान में रखते हुए अवैध हथियारों के तस्करों को पकड़ने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है. इसी बीच अवैध हथियारों की तस्करी करने वाले 2 अंतरराज्यीय मॉड्यूल का पता लगा. मुरैना स्थित पहले मॉड्यूल के बारे में सूचना पर कार्रवाई करते हुए पता चला कि आरोपी सूरज परमार दिल्ली के अपराधियों को अवैध हथियार की डिलीवरी देने वाला है. सूरज को हथियारों के साथ 28 जुलाई को सरिता विहार इलाके से पकड़ा गया. उसके पास से 15 पिस्टल और 50 कारतूस बरामद हुए हैं.


आरोपी सूरज शुरुआत में मप्र के अपराधियों को अवैध हथियारों की आपूर्ति करता था. बाद में वह राजस्थान, यूपी और दिल्ली सहित अन्य राज्यों के अपराधियों के संपर्क में आ गया. आरोपियों ने इन राज्यों के अपराधियों को भी अवैध हथियारों और गोला-बारूद की आपूर्ति शुरू कर दी थी. आरोपी सूरज खरगोन से अवैध पिस्टल 7-8 हजार रुपये में खरीदता था और 20-25 हजार रुपये में बेचता था. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसी तरह अवैध हथियारों के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के एक मॉड्यूल का पता चलने पर इस मॉड्यूल के दो सदस्यों रवि कुमार और प्रदीप कुमार राजा को 28 जुलाई को दिल्ली के अक्षरधाम से गिरफ्तार किया है. इनके पास से 10 पिस्टल और 25 कारतूस बरामद हुए हैं. पुलिस के मुताबिक रवि पर यूपी और दिल्ली में हथियार तस्करी, पुलिस पर हमला, स्नैचिंग, डकैती और चोरी सहित 12 आपराधिक मामले दर्ज हैं.