रणजी ट्रॉफी का पहला चरण 10 फरवरी से, 30 मई से होंगे नॉकआउट मुकाबले

बहुप्रतीक्षित रणजी ट्रॉफी का पहला चरण 10 फरवरी से 15 मार्च के बीच खेला जाएगा

रणजी ट्रॉफी का पहला चरण 10 फरवरी से, 30 मई से होंगे नॉकआउट मुकाबले

क्रिकेट (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • रणजी ट्रॉफी का पहला चरण 10 फरवरी से
  • 30 मई से होंगे नॉकआउट मुकाबले
  • बीसीसीआई सचिव जय शाह ने राज्य इकाइयों को दी जानकारी
नई दिल्ली :

बहुप्रतीक्षित रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) का पहला चरण 10 फरवरी से 15 मार्च तक खेला जाएगा जिसके बाद देश की शीर्ष घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिता को इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) के दौरान ब्रेक दिया जाएगा. टूर्नामेंट का अगला चरण 30 मई से 26 जून तक होगा. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (India National Cricket Team) के सचिव जय शाह ने राज्य इकाइयों को गुरुवार को यह जानकारी दी. शाह के पत्र से स्पष्ट हो गया है कि यह सबसे छोटे प्रथम श्रेणी सत्र में से एक होगा जिसमें अधिकांश टीम को सिर्फ तीन मैच खेलने को मिलेंगे. इसका मतलब हुआ कि ग्रुप लीग चरण से बाहर होने वाली टीम को बढ़ी हुई मैच फीस का अधिक फायदा नहीं मिलेगा क्योंकि अधिकांश टीम ग्रुप चरण से बाहर हो जाएंगी. जैसा कि पीटीआई ने पहले जानकारी दी थी चार-चार टीम के आठ एलीट ग्रुप बनाए जाएंगे जबकि बाकी बची छह टीम को प्लेट डिविजन में जगह मिलेगी. मैच फीस के नए स्लैब के अनुसार 40 से अधिक मुकाबले खेलने वालों को प्रतिदिन 60 हजार रुपये का भुगतान होगा जो 35 हजार रुपये प्रति दिन की पिछली मैच फीस से काफी अधिक है. इसके अलावा 21 से 40 मैच का अनुभव रखने वाले खिलाड़ियों को प्रति दिन 50 हजार रुपये का भुगतान किया जाएगा. 

टूर्नामेंट के दौरान 62 दिन में 64 मुकाबले खेले जाएंगे. पहले चरण में 57 मैच होंगे. दूसरे चरण में सात नॉकआउट मैच होंगे जिसमें चार क्वार्टर फाइनल, दो सेमीफाइनल और फाइनल होगा. एलीट ग्रुप के मैच राजकोट, कटक, चेन्नई, अहमदाबाद, त्रिवेंद्रम, दिल्ली, हरियाणा और गुवाहाटी में खेले जाएंगे. प्लेट लीग मैच कोलकाता में होंगे. टूर्नामेंट के दौरान नौ स्थलों पर नौ जैविक रूप से सुरक्षित माहौल की जरूरत पड़ेगी. पिछले साल रणजी ट्रॉफी के इतिहास में पहली बार इस टूर्नामेंट को रद्द किया गया था और इस साल भी कोविड-19 की तीसरी लहर के कारण बीसीसीआई को टूर्नामेंट को स्थगित करने को बाध्य होना पड़ा. यह टूर्नामेंट पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 13 जनवरी को शुरू होना था. भारत में लाल गेंद से पिछला घरेलू क्रिकेट मुकाबला मार्च 2020 में खेला गया था.

कैप्टन रोहित की कप्तानी पर खुलकर बोले हर्षल पटेल, कोच द्रविड़ के लिए कही यह बात


शाह ने राज्य इकाइयों को भेजे पत्र में लिखा, ‘‘मुझे आपके साथ यह साझा करने की खुशी है कि हम अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट दोनों को बहाल करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. हमारे धैर्य के साथ इंतजार किया कि महामारी की पकड़ ढीली हो और समय आ गया है कि हमारे क्रिकेटर एक बार फिर आकर्षण का केंद्र बनें.'' उन्होंने लिखा, ‘‘संशोधित रणजी ट्रॉफी का प्रारूप अब तैयार है. प्रसार के खतरे को कम करने के लिए हमने देश के नौ अलग स्थलों पर रणजी ट्रॉफी का आयोजन करने का फैसला किया है जबकि यह भी सुनिश्चित किया है कि जैविक रूप से सुरक्षित माहौल पर अधिक जोर नहीं पड़े.''

अतीत में जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में कोविड दस्तक दे चुका है और इसमें आईपीएल भी शामिल है. शाह ने हालांकि कहा कि बोर्ड ने आपात योजना तैयार की है. शाह ने लिखा, ‘‘वायरस जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में भी घुस रहा है, इस ढांचे को तैयार करते हुए हमने अपने अतीत के अनुभव के आधार पर आपात योजना भी तैयार की है.'' एलीट ग्रुप में प्रत्येक स्थल पर दो स्टेडियम में मैच का आयोजन होगा जबकि कोलकाता में प्लेट ग्रुप में तीन स्टेडियम उपयोग में लाए जाएंगे. दिल्ली को एलीट एच ग्रुप में तमिलनाडु, झारखंड और छत्तीसगढ़ के साथ रखा गया है जिसके मुकाबले गुवाहाटी में होंगे. गत चैंपियन सौराष्ट्र की टीम अपने ग्रुप मुकाबले अहमदाबाद में खेलेगी. टीम को एलीट डी ग्रुप में मुंबई, ओडिशा और गोवा के साथ रखा गया है. 

सौरव गांगुली के निशाने पर आए चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे

. ​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)