विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Feb 01, 2019

प्रवीण कुमार ने बताया भारतीय सीमरों की सफलता का कारण

Read Time: 17 mins
प्रवीण कुमार ने बताया भारतीय सीमरों की सफलता का कारण
प्रवीण कुमार
नई दिल्ली:

भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार ने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम की ऐतिहासिक जीत पर खुशी जताई, तो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया को मिली हार के पीछे भी अपना तर्क रखा. प्रवीण ने माना कि ऑस्ट्रेलिया को पूर्व कप्तान स्टीवन स्मिथ और डेविड वॉर्नर की कमी खली लेकिन उन्होंने साथ ही कहा कि मौजूदा ऑस्ट्रेलियाई टीम कमजोर नहीं है. भारत ने हाल ही में 70 साल बाद विराट कोहली की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया में 2-1 से टेस्ट सीरीज अपने नाम की. प्रवीण से जब पूछा गया कि भारत को क्या ऑस्ट्रेलिया के अनुभवहीन होने का फायदा मिला तो उन्होंने कहा कि इसका फायदा कहीं न कहीं भारत को हुआ लेकिन फिर भी ऑस्ट्रेलिया को कमजोर कहना सही नहीं होगा.

Advertisement

प्रवीण ने आईपीएसएसपीबी क्रिकेट टूर्नामेंट के लांच के मौके पर कहा, "अनुभव न होने का फायदा प्रतिद्वंद्वी को मिलता है. पहले ऑस्ट्रेलिया की टीम कॉम्पैक्ट थी. मैथ्यू हेडेन, एडम गिलक्रिस्ट, रिकी पोटिंग, सब थे. इस बार डेविड वॉर्नर और स्टीवन स्मिथ के न होने से थोड़ा फर्क तो पड़ा लेकिन फिर भी ऑस्ट्रेलिया की टीम इतनी हल्की टीम नहीं है कि हम कह सकें उस टाइम की बहुत अच्छी थी और यह टीम अच्छी नहीं है." प्रवीण ने कहा कि भारतीय टीम खेल की तीनों प्रारूप में एक बेहतरीन गेंदबाजी इकाई के रूप में उभरी है. ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट और वनडे सीरीज में गेंदबाजों का अहम योगदान रहा था. प्रवीण का मानना है कि मौजूदा भारतीय टीम में अलग-अलग शैली के गेंदबाज हैं, जिससे टीम को फायदा हुआ है. उन्होंने साथ ही कहा कि इस टीम का गेंदबाजी आक्रमण काफी कॉमपैक्ट है.

Advertisement

यह भी पढ़ें: मिताली राज के इस 'विराट रिकॉर्ड' के आगे महेंद्र सिंह धोनी भी पीछे छूटे

प्रवीण ने कहा कि फिलहाल भारत का बड़ा जबरदस्त गेंदबाजी आक्रमण है. कोई चाइनामैन है, कोई लेग स्पिनर है. केदार जाधव भी बीच में अच्छा डाल रहे हैं. बात करें मोहम्मद शमी की, भुवी (भुवनेश्वर) की तो इनमें से ऐसा कोई नहीं है जो डेथ ओवरों में गेंदबाजी न कर पाता हो. हमारे चारों-पांचों तेज गेंदबाज डेथ में भी अच्छी गेंद डाल रहे हैं और नई गेंद से भी. बीच के ओवरों में भी अच्छी गेंदबाजी हो रही है. इससे पता चलता है कि एक इकाई के तौर पर यह सभी अच्छा काम कर रहे हैं और इन लोगों के बीच अच्छा तालमेल है. प्रवीण भारत के मजबूत गेंदबाजी आक्रमण की वजह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को बताते हैं. उनके मुताबिक आईपीएल ने गेंदबाजों को काफी कुछ सिखाया है। 

Advertisement

VIDEO: ऑस्ट्रेलिया में भारत ने पहली बार द्विपक्षीय सीरीज जीती. 

उन्होंने कहा, "आईपीएल बड़ा प्लेटफॉर्म है. आईपीएल ने गेंदबाजों को काफी कुछ सिखाया, कैसे बचना है, कैसे विकटें लेनी हैं, कैसे डेथ ओवरों में गेंदबाजी करनी है. इससे काफी फर्क पड़ा है. आप भुवी को ही देख लें. 2008 में जब वो आया था, तब मेरे ख्याल में वो 120-122 की स्पीड से गेंद करता था. सभी ट्रेनिंग करते गए, अपने आप को फिट रखते गए. इसका काफी फर्क पड़ा है.

Advertisement

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
दो कोच और भी हैं होड़ में, बीसीसीआई टाल सकता है हेड कोच की निुयक्ति
प्रवीण कुमार ने बताया भारतीय सीमरों की सफलता का कारण
"MS Dhoni will return in next year IPl as well", fellow cricketer confirm on social media
Next Article
"धोनी अगले साल भी आईपीएल में खेलेंगे", सोशल मीडिया पर साथी खिलाड़ियों ने भी कर दी पुष्टि
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;