Kanpur Test ड्रा होने के बाद खिलाड़ियों को लेकर विलियमसन की यह है राय

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में ड्रॉ को सोमवार को अपनी टीम के लिए ‘शानदार नतीजा’ करार दिया क्योंकि दौरे के लिए उनकी टीम की तैयारी पर्याप्त नहीं थी.

Kanpur Test ड्रा होने के बाद खिलाड़ियों को लेकर विलियमसन की यह है राय

केन विलियमसन का बड़ा बयान

खास बातें

  • कानपुर टेस्ट हुआ ड्रा
  • केन विलियमसन ने कीवी खिलाड़ियों की जमकर सराहना की
  • आखिरी विकेट के लिए मैदान में जम गए थे एजाज और रविंद्र
कानपुर :

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन (Kane Williamson) ने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में ड्रॉ को सोमवार को अपनी टीम के लिए ‘शानदार नतीजा' करार दिया क्योंकि दौरे के लिए उनकी टीम की तैयारी पर्याप्त नहीं थी. दुबई में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ T20 विश्व कप फाइनल गंवाने के एक दिन बाद न्यूजीलैंड की टीम भारत पहुंची थी. टेस्ट श्रृंखला से पहले तीन मैचों की T20 श्रृंखला खेली गई जिसे भारत ने 3-0 से जीता. विलियमसन ने मैच के बाद कहा, ‘‘जब जीत की संभावना खत्म हो जाती है तो ड्रॉ अगला सर्वश्रेष्ठ विकल्प होता है जिसके लिए प्रयास किया जाता है. पर्याप्त तैयारी का मौका नहीं मिलने के बाद कई खिलाड़ियों ने बहुमूल्य योगदान दिया. हमारे लिए महत्वपूर्ण है कि हम जल्द से जल्द सामंजस्य बैठाने का प्रयास करें.''

उन्होंने कहा, ‘‘नतीजा सिर्फ एक गेंद दूर था लेकिन अंत में रचिन (रविंद्र) ने अपने पहले टेस्ट में शानदार प्रदर्शन किया और एजाज (पटेल) ने भी अंतिम कुछ ओवरों में बल्ले से काफी प्रतिबद्धता दिखाई जिसके बाद खराब रोशनी के कारण मैच समाप्त हो गया.'' भारत में जन्में दोनों खिलाड़ियों एजाज और रविंद्र ने शानदार जज्बा दिखाते हुए भारतीय स्पिनरों से आठ से अधिक ओवर तक सफलता से महरूम रखा और न्यूजीलैंड को हार से बचा लिया. विलियमसन ने कहा, ‘‘रोशनी कम हो रही थी और हमारे नौ विकेट गिर गए थे और इस तरह की चीजें टेस्ट मैच को शानदार बनाती है और इससे काफी भावनाएं जुड़ी होती हैं.''

Kanpur Test: मैच ड्रा होने के बावजूद द्रविड़ ने खिलाड़ियों की जमकर सराहना की


उन्होंने कहा, ‘‘कल मैच संतुलित था और हमारे लिए पारंपरिक धारणा वाला टेस्ट क्रिकेट था, पूरे दिन बल्लेबाजी करो और मैच ड्रॉ कराओ, जो हाल के समय में अधिक नजर नहीं आता इसलिए यह काफी मजेदार रहा.'' यह पूछने पर कि क्या न्यूजीलैंड ने 284 रन के लक्ष्य को हासिल करने के बारे में सोचा था तो कप्तान ने कहा, ‘‘हमें पता था कि तीनों नतीजे संभव हैं. खुद को लक्ष्य का पीछा करने का मौका देना और काफी जल्दी लक्ष्य हासिल करने का प्रयास करके मुसीबत में फंसने में काफी अंतर होता है.''

PAK vs BAN: चटगांव टेस्ट में पाक टीम ने बांग्लादेश को रौंदा, आबिद अली रहे स्टार

उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए यह मैच को अंत तक ले जाने से जुड़ा था और इसके बाद अगर हम करीब पहुंचते और सही स्थिति में होते तो प्रयास कर सकते थे लेकिन अंत में हम ऐसी स्थिति में नहीं थे.'' विलियमसन ने स्वीकार किया कि उनकी टीम ने पूरे दिन उन्हें काफी दबाव में डालकर रखा. यह पूछने पर कि पांचवें दिन भी ग्रीन पार्क के विकेट पर बल्लेबाजी करने में समस्या नहीं होने से क्या वह हैरान थे तो विलियमसन ने कहा, ‘‘विकेट अधिक नहीं टूटा था लेकिन मैच में नतीजा निकलना बेहद करीब था. यह कुल मिलाकर शानदार मैच रहा.''

सचिन तेंदुलकर ने एमपी के गांवों का किया दौरा

. ​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)