Ind vs Eng 4Th Test: कोच शा्स्त्री बोले, कोई भी मोदी स्टेडियम की पिच की शिकायत नहीं करेगा

Ind vs Eng 4Th Test: शास्त्री ने टीम के विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में जगह बनाने के लिये प्रशंसा की जबकि पिछले साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने क्वालीफिकेशन के मानदंड में बदलाव किया था. उन्होंने कहा, ‘हमारे लिये विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में तालिका में शीर्ष पर रहना ढाई साल की मेहनत है और उन वर्षों में सफल होने के लिये इससे पहले छह साल की मेहनत है.

Ind vs Eng 4Th Test: कोच शा्स्त्री बोले, कोई भी मोदी स्टेडियम की पिच की शिकायत नहीं करेगा

Ind vs Eng: निश्चित ही टीम की सफलता में शास्त्री और स्टॉफ का योगदान रहा है

अहमदाबाद:

भारत के मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri)ने शनिवार को माना कि मोटेरा ट्रैक की प्रकृति पर हल्ला मचाने का कोई कारण नहीं दिखता है क्योंकि क्यूरेटर ने ऐसी पिचें बनायी जिनसे यहां पिछले दो मैचों में ‘शानदार मनोरंजन' हुआ. इंग्लैंड के कुछ पूर्व खिलाड़ियों ने तीसरे टेस्ट के लिये पिच की कड़ी आलोचना की थी क्योंकि मेहमान टीम दिन/रात्रि मुकाबले में 112 और 81 रन पर सिमट गयी थी. इंग्लैंड को स्पिनरों के लिये फायदेमंद पिच पर खेलने में परेशानी हुई, जबकि भारत ने यहां तीसरे और चौथे टेस्ट में जीत हासिल कर जून में न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल के लिये क्वालीफाई किया.

वीरेंद्र सहवाग का तूफान, तेंदुलकर के साथ मिलकर केवल 61 गेंद पर 110 रन बनाकर जीताया मैच..देखें Video

इंग्लैंड को दूसरी पारी में 135 रन पर समेटकर चौथे टेस्ट में यहां पारी और 25 रन की जीत के बाद शास्त्री ने कहा, ‘मैं इसे मैदानकर्मियों को समर्पित करूंगा. मुझे लगता है कि आशीष भौमिक एक शानदार मैदानकर्मी हैं, वह अपना काम जानते हैं. वह दलजीत सिंह के साथ काम कर चुके हैं जो मास्टर क्यूरेटर हैं.'उन्होंने कहा, ‘‘कौन इस पिच की शिकायत करेगा? इस पर शानदार मनोरंजन हुआ, दोनों टीमों के लिये और खेल के लिये. साथ ही 3-1 के नतीजे से पता नहीं चलता कि यह श्रृंखला कितनी करीब थी.'

nd v Eng 4Th Test: ऋषभ पंत के ये दो शॉट बने आम से लेकर खास तक चर्चा का विषय, फैंस बोले कि...


शास्त्री ने टीम के विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में जगह बनाने के लिये प्रशंसा की जबकि पिछले साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने क्वालीफिकेशन के मानदंड में बदलाव किया था. उन्होंने कहा, ‘हमारे लिये विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में तालिका में शीर्ष पर रहना ढाई साल की मेहनत है और उन वर्षों में सफल होने के लिये इससे पहले छह साल की मेहनत है.'उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ियों ने एक बार में एक ही सीरीज पर ध्यान दिया और वे विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के बारे में ज्यादा परेशान नहीं थे क्योंकि ‘गोल पोस्ट' हर बार शिफ्ट हो जाता था.' शास्त्री ने कहा, ‘हम तालिका में शीर्ष पर चल रहे थे और कुछ नियमों में बदलाव के बाद प्रतिशत प्रणाली आ गयी, जब हम खेल भी नहीं रहे थे. लेकिन कोई बात नहीं, फिर भी हमें 520 अंक मिले, हम तालिका में शीर्ष पर रहने और फाइनल खेलने के हकदार हैं.'
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी. ​