डेव व्हाटमोर भारतीय घरेलू क्रिकेट इतिहास के सबसे महंगे कोच नियुक्त हुए, बदल पाएंगे बड़ौदा की किस्मत

सूत्रों के मुताबिक व्हाटमोर सेशन शुरू होने से पहले बड़ौदा क्रिकेट टीम से जुड़ जाएंगे. पिछले दिनों काफी लंबी बातचीत के  बाद राज्य एसोसिएशन ने आखिरकार उनके नाम को हरी झंडी दे दी.

डेव व्हाटमोर भारतीय घरेलू क्रिकेट इतिहास के सबसे महंगे कोच नियुक्त हुए, बदल पाएंगे बड़ौदा की किस्मत

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर और मशहूर कोच डेव व्हाटमोर

खास बातें

  • मोटी सैलरी, बड़ा चैेलेंज!
  • इतनी सैलरी तो कभी किसी कोच को नहीं मिली!!
  • सीजन शुरू होने से पहले टीम के साथ जुड़ेंगे
नयी दिल्ली:

साल 1996 में श्रीलंका को अपने मार्गदर्शन में विश्व कप जिताने वाले डेव व्हाटमोर ने अब भारतीय घरेलू क्रिकेट इतिहास में एक नया ही रिकॉर्ड बना दिया है. व्हाटमोर अब घरेलू क्रिकेट में सबसे ज्यादा सैलरी पाने वाले कोच बन गए हैं. बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन ने इस दिग्गज कोच आगामी सेशन के लिए अपनी टीम का कोच नियुक्त किया है. सभी जानते हैं कि डेव व्हाटमोर को कोचिंग का कितना गहन अनुभव है. अभी तक अपने लगभग तीन दशक से भी  ज्यादा के कोचिंग करियर में व्हाटमोर ने कई अंतरराष्ट्रीय टीमों को कोचिंग दी है, लेकिन उन्हें साल 1996 में श्रीलंका क्रिकेट को विश्व कप दिलाने और शुरुआती 15 ओवरों में आतिशी बल्लेबाजी की शुरुआत की रणनीति के लिए जाना जाता है. 

सूत्रों के मुताबिक व्हाटमोर सेशन शुरू होने से पहले बड़ौदा क्रिकेट टीम से जुड़ जाएंगे. पिछले दिनों काफी लंबी बातचीत के  बाद राज्य एसोसिएशन ने आखिरकार उनके नाम को हरी झंडी दे दी.  व्हाटमोर का कोचिंग करियर 90 के दशक की शुरुआत में शुरू हुआ था. बहरहाल, बड़ौदा का हालिया घरेलू क्रिकेट प्रदर्शन ज्यादा अच्छा नहीं रहा है और अब देखना होगा कि व्हाटमोर राज्य टीम की किस्मत कैसे बदलते हैं. 

 ये भी पढ़ें 

रोहित शर्मा IPL के इतिहासपुरुष बने, बना डाला बड़ा रिकॉर्ड

जान लीजिए कि मुंबई और कोलकाता में से आप किस टीम में निवेश करें, किन खिलाड़ियों पर दांव लगाएं, Video

क्या संजू सैमसन दिग्गज गावस्कर की इस अहम सलाह पर अमल करेंगे?

विराट कोहली ने नहीं ही मानी कोच रवि शास्त्री की यह सलाह


बड़ौदा का आखिरी विजयी सेसन साल 2000-01 में रहा था. इस साल क्रुणाल पंड्या की कप्तानी में बड़ौदा ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में सभी मुकाबले जीते थे, लेकिन टीम नॉकआउट में हार गयी थी. व्हाटमोर साल 2017-18 में केरल के भी कोच थे, लेकिन तब भी उनको बड़ौदा जितना वेतन नहीं मिला था. अगले सत्र के लिए बड़ौदा एसोसिएशन व्हाटमोर को सालाना एक करोड़ रुपये का भुगतान करेगी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बड़ौदा क्रिकेट पिछले साल क्रुणाल पंड्या और दीपक हूडा के बीच हुए विवाद के कारण चर्चा में रही थी. इस विवाद से राज्य एसोसिएशन की काफी बदनामी हुयी थी. अब व्हाटमोर को एसोसिएशन ने ज्यादा अधिकार दिए हैं और इस तरह के प्रकरण के होने की उम्मीद बहुत ही कम है. व्हाटमोर फिलहाल 67 साल के हैं. उनकी कोचिंग में केरल की टीम 2017-18 में अंतिम आठ में पहुंची थी. अब देखने की बात यह होगी कि इतनी सैलरी लेने के बाद व्हाटमोर बड़ौदा की किस्मत कैसे बदलते हैं. 
VIDEO: हमारी स्पोर्ट्स टीम से सुनिए आज आरसीबी और सीएसके के बीच किसका पलड़ा भारी है. ​