CSK vs RR: इन दो 'डबल झटकों' ने चेन्नई सुपरकिंग्स को दिलाई 45 रन से 'रॉयल' जीत

CSK vs RR: इससे पहले धोनी के धुरंधर राजस्थान के गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन के बीच उसे 189 का लक्ष्य देने में सफल रहे. चेन्नई के लिए सबसे ज्यादा 33 रन बनाने वाले फैफ डु प्लेसी ने शुुरुआत में आक्रामक तेवर दिखाए, लेकेिन वह आउट हुए, तो एक छोर पर नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे. जिसने भी थोड़ा बल्ला भांजने की कोशिश की, नहीं ही चला. चेन्नई के बड़े सितारे जमीं पर ही रह गए. न रैना बरसे, न धोनी की धमक सुनाई पड़ी और न ही जडेजा का जलवा. निचले क्रम में कुछ हाथ ब्रावो ने जरूर दिखाए और इससे चेन्नई कोटे के 20 ओवरों में 9 विकेट पर 188 रन बनाने में सफल रहा.

CSK vs RR: इन दो 'डबल झटकों' ने चेन्नई सुपरकिंग्स को दिलाई 45 रन से 'रॉयल' जीत

CSK vs RR: जोस बटलर बार-बार जमने के बाद विकेट गंवा रहे हैं

मुंबई:

Chennai Super Kings vs Rajasthan Royals: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) के इकलौते मुकाबले में आज मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में जो  राजस्थान की बैटिंग के दौरान देखने को मिला, वह पिछले मैचों में नहीं ही मिला. और चेन्नई सुपर किंग्स ने राजस्थान को जोर की पटखनी देते हुए उसे 45 रन से हार दिया. चेन्नई से जीत के लिए मिले 189 रन का पीछा करते हुए शुरुआत खरार रही जब पावर-प्ले में उसने दोनों ही ओपनरों को गंवा दिया. एक समय जोस बटलर ने तेज 49 रन बनाकर टीम को उबारने की कोशिश की, लेकिन एक बार बटलर आउट हुए, तो वजह तस्वीर देखने को मिली, जो पहले के मैचों में देखने को नहीं ही मिली. और यह था राजस्थान को दो बार डबल झटका लगना.

रवींद्र जडेजा ने फेकें पारी के 12वें ओर में बटलर और शिवम दुबे को आउट करके राजस्थान को बडा झटका दिया. राजस्थानी इस झटके से संभले भी नहीं थे कि दो बार बाद ही मोइन अली ने जादुई हाथ दिखाते हुए फिर से डबल झटका दिया, जब रियान पराग और पिछले मैच के हीरो मोइन के ओवर में एक ही अंदाज में आउट हो गए, तो यहीं मैच की तस्वीर भी पूरी तरह साफ हो गयी. यहां से चेन्नई की जीत सिर्फ  औपचारिकता बाकी भर बची थी. राजस्थान कोटे के 20 ओवरों में 9 विकेट पर 143 रन ही बना सका. चेन्नई के लिए मोइन अली ने तीन, कुरेन व जडेजा ने दो-दो और ब्रावो व ठाकुर ने एक-एक विकेट लिया. फील्डिंग में जडेजा ही जडेजा छाए रहे और उन्होंने चार कैच भी लपके. मोइन अली को  मैन ऑफ द मैच चुना गया. 

SCORE BOARD

पावर-प्ले (शुरुआती 6 ओवर): राजस्थान फेल, सैम कुरेन पास
चेन्नई से मिले 189 रन का पीछा करते हुए राजस्तान के दोनों ओपनरों मनन वोहरा और जोस बटलर ने ठीक वैसी ही एप्रोच दिखायी, जिसकी दरकार थी. पिछले मैच के हीरो दीपक चाहर पहला ओवर लेकर आए, तो वोहर ने उन्हें दो चौके जड़कर आगे के लिए मैसेज दे दिया. दूसरे ओवर में बटलर को एक बहुत ही ज्यादा मुश्किल जीवनदान मिला, तो अगले ओवर में इस पर पर इस इंग्लिश विकेटकीपर ने इबारत लिखना शुरू कर दिया. सैम कुरेन के अगले ओवर में वोहरा छक्का जड़ने के बाद अगले ही गेंद पर चलते बने, लेकिन पांचवें ओवर में बटलर ने चाहर को नसीहत देते हुए एक छक्का और चौका जड़कर बता दिया कि वह पावर-प्ले तो भुनाएंगे ही, वह बड़ी पारी भी इस बार खेलने के लिए तैयार हैं, लेकिन सैम कुरेन ने संजू को पावर-प्ले के आखिरी ओवर में आउट कर राजस्थान की पावर को बहुत बड़ा झटका दिया. नतीजा यह रहा कि शुरुआती 6 ओवर की समाप्ति पर राजस्थान 45 पर 2 विकेट गंवाकर जूझ रहा था.

इससे पहले धोनी के धुरंधर राजस्थान के गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन के बीच उसे 189 का लक्ष्य देने में सफल रहे. चेन्नई के लिए सबसे ज्यादा 33 रन बनाने वाले फैफ डु प्लेसी ने शुुरुआत में आक्रामक तेवर दिखाए, लेकेिन वह आउट हुए, तो एक छोर पर नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे. जिसने भी थोड़ा बल्ला भांजने की कोशिश की, नहीं ही चला. चेन्नई के बड़े सितारे जमीं पर ही रह गए. न रैना बरसे, न धोनी की धमक सुनाई पड़ी और न ही जडेजा का जलवा. निचले क्रम में कुछ हाथ ब्रावो ने जरूर दिखाए और इससे चेन्नई कोटे के 20 ओवरों में 9 विकेट पर 188 रन बनाने में सफल रहा. राजस्थान के लिए युवा लेफ्टी  सीमर चेतन सकारिया ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए, जबकि मौरिस ने दो और तेवतिया व रहमान को एक-एक विकेट मिला.

पावर-प्ले (शुरुआती 6 ओवर): पावर दिखी, पर विकेट भी गए!
उनाडकट ने तेवर अच्छे दिखाए थे, जब उनकी पारी की पहली ही गेंद पर ऋतुराज का मुश्किल कैच छोड़ दिया, लेकिन इसके बाद पावर दिखाने की जिम्मेदारी फैफ डु फ्लेसी ने अपने कंधे पर ले ली. फिर चाहे युवा सकारिया को अगले ओवर की आखिरी गेंद पर कदमों का इस्तेमाल कर छक्का जड़ना हो या फिर फिर उनादकट के पांचवें ओवर में लगातार दो चौके ज़डकर विकेटकीपर के सिर के ऊपर से लगातार दो चौके लगाना हो, फैफ एकदम पूरे रंग में दिखायी पड़े. इस ओवर में डु प्लेसी ने उनादकट की जमकर धुनायी की और ओवर में 19 रन बटोरे. लेकिन क्रिस मौरिस ने फैफ के अंदाज पर अगले ही ओवर में ब्रेक लगा दिए. चेन्नई पावर-प्ले के ओवरों में 2 विकेट पर 46 रन बनाने में कामयाब रहा. 

इससे  पहले और संजू सैमसन के शूरवीर आमने-सामने होंगे. राजस्थान ने टॉस जीतकर पहले बॉलिंग करने का फैसला किया.  चलिए दोनों टीमों की फाइनल इलेवन पर भी नजर दौड़ा लें:

सीएसके: 1. एमएस धोनी (कप्तान) 2. ऋतुराज गायकवाड 3. फैफ डु प्लेसिस 4. मोईऩ अली 5. सुरेश रैना 6. अंबाती रायुडू 7. सैम कुरेन 8. रवींद्र जडेजा 9. ड्वेन ब्रावो 10. शार्दूल ठाकुर 11. दीपक चाहर 

आआऱ: 1. संजू सैमसन (कप्तान) 2. जोस बटल 3. मनन वोहरा 4. शिबम दुबे 5. डेविड मिल 6. रियान पराग 7. राहुल तेवतिया 8. क्रिस मौरिस 9. जयदेव उनाटकट 10. चेतन सकारिया 11. मुस्तिफजुर रहमान


दोनों टीमों ने टूर्नामेंट के शुरुआती मुकाबले गंवाने के बाद वापसी करते हुए जीत हासिल की, हालांकि दोनों टीमों का प्रतिद्वंद्वियों को हराने का तरीका अलग अलग रहा. धोनी की अगुआई वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने जहां पंजाब किंग्स के खिलाफ आसान जीत दर्ज की तो वहीं राजस्थान रॉयल्स ने अंतिम ओवर में जीत से दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ दो अंक जुटाये. दोनों टीमें अपने अभियान को आगे बढ़ाने के लिये दूसरी जीत दर्ज करना चाहेंगी. दिल्ली कैपिटल्स से शुरुआती मैच में सात विकेट की शिकस्त के बाद चेन्नई सुपर किंग्स ने दीपक चाहर के प्रदर्शन की बदौलत वापसी की. चाहर ने चार विकेट झटककर पंजाब किंग्स के बल्लेबाजी लाइन अप को झकझोर दिया जिससे टीम ने छह विकेट की जीत से खाता खोला. चेन्नई दो में से एक मैच जीतक चौथे और राजस्थान भी इसी आंकड़े के साथ टेबल में पांचवें नंबर पर है. 
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ दिन पहले नीलामी में कृष्णप्पा गौतम 9.25 करोड़ में बिके थे. ​