Aus vs Ind 4th Test:...और टी. नटराजन इस रिकॉर्ड के साथ ही वेरी-वेरी स्पेशल भारतीय क्रिकेटर बन गए

Aus vs Ind 4th Test: नटराजन ने  दो दिसंबर को कैनबरा में दूसरे एक दिवसीय मैच में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था. भारत ने वह मैच 13 रन से जीता था. तब नटराजन ने दस ओवर में 70 रन देकर दो विकेट लिये थे. इसके बाद तीन मैचों की टी20 श्रृंखला में भी वह भारतीय टीम का हिस्सा थे जिसमें उन्होंने छह विकेट लिये थे.

Aus vs Ind 4th Test:...और टी. नटराजन इस रिकॉर्ड के साथ ही वेरी-वेरी स्पेशल भारतीय क्रिकेटर बन गए

Aus vs Ind 4th Test: टी. नटराजन का भाग्य देखते ही देखते बदल गया

नई दिल्ली:

वास्तव में जो जिसकी किस्मत में लिखा होता है, वह मिलकर ही रहता है. इसे ऐसे भी कह सकते हैं कि दाने-दाने पर लिखा है खाने वाले का नाम! और यह बात टीम इंडिया के लेफ्टी सीमर टी. नटराजन (T.Natarajan) पर बहुत ही अच्छी तरह से लागू होता है, जो भारतीय क्रिकेट इतिहास में अपने आप में अनोखे ही खिलाड़ी बन गए हैं और उन्होंने गाबा (Gabba Test) में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुक्रवार को शुरू हुए चौथे टेस्ट (Aus vs Ind 4th Test) में वह रिकॉर्ड बना दिया, जो भारतीय क्रिकेट इतिहास में पहले कोई नहीं बना सका. या कहें कि किस्मत ने टी. नटराजन (T.Natarajan) के खाते में यह रिकॉर्ड  लिखा, तो गलत नहीं ही होगा. नटराजन (T.Natarajan) ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुक्रवार को अपने टेस्ट करियर का आगाज किया. अब यह देखने की बात होगी कि टी20 और वनडे में बेहतर करने वाले टी. नटराजन (T. Natarajan) अपने पहले टेस्ट में कैसी छाप छोड़ पाते हैं. 

यह भी पढ़ें: अजहरुद्दीन की पारी का उनके शहर ने ऐसे जश्न मनाया मानो भारत ने वर्ल्ड कप जीत लिया हो, VIDEO

तमिलनाडु के इस 29 वर्षीय क्रिकेटर को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे और आखिरी टेस्ट में प्रमुख खिलाड़ियों के चोटिल होने के कारण अंतिम एकादश में जगह मिली. और इसी के साथ नटराजन एक ही दौरे पर तीनों प्रारूपों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर बन गए. नटराजन ऑस्ट्रेलिया में नेट गेंदबाज के तौर पर आये थे, लेकिन दिन दर दिन गुजरने के साथ हवा नटराजन के पक्ष में बहती रही और वह दौरा खत्म होते-होते पैक्टिस से टेस्ट गेंदबाज बन गए. 

यह भी पढ़ें:   मोइन अली कोविड-19 के नए स्ट्रेन से संक्रमित होने वाले पहले क्रिकेटर बने

नटराजन ने  दो दिसंबर को कैनबरा में दूसरे एक दिवसीय मैच में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था. भारत ने वह मैच 13 रन से जीता था. तब नटराजन ने दस ओवर में 70 रन देकर दो विकेट लिये थे. इसके बाद तीन मैचों की टी20 श्रृंखला में भी वह भारतीय टीम का हिस्सा थे जिसमें उन्होंने छह विकेट लिये थे. भारत ने वह श्रृंखला 2 . 1 से जीती. आईसीसी ने ट्वीट किया ,‘टेस्ट क्रिकेट में स्वागत है. थंगारासु नटराजन एक ही दौरे पर तीनों प्रारूपों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले पहले भारतीय बने.'


बता दें कि तमिलनाडु के इस तेज गेंदबाज की मां दिहाड़ी मजदूर का काम कर करती थी.  उन्होंने टेस्ट पदार्पण के पहले दिन 20 ओवर में 63 रन देकर दो विकेट लिये. भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने ट्वीट किया, ‘‘सपने पूरे होते है. भारतीय टीम के 300वें खिलाड़ी बने नटराजन के लिए  इससे बेहतर स्थिति नहीं हो सकती थी. नाटू (नटराजन) अब तीनों प्रारूप के खिलाड़ी बन गये है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने अपने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी.