हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री से कहासुनी के बाद SP संगीता कालिया का ट्रांसफर

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री से कहासुनी के बाद SP संगीता कालिया का ट्रांसफर

चंडीगढ़:

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से शुक्रवार को एक बैठक में हुई बहस के बाद फतेहाबाद की एसपी संगीता कालिया का ट्रांसफर कर दिया गया है। एसपी कालिया को मानेसर में इंडिया रिजर्व बटालियन का कमांडेंट बनाया गया है।

दरअसल, राज्य में शराब कौन बिकवाता है पुलिस या सरकार? इसका जवाब हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को फतेहाबाद की एसपी संगीता कालिया से शुक्रवार को जिले में आयोजित एक बैठक में मिला। जब उन्होंने पुलिस पर लगे आरोपों का ये कहकर जवाब दिया कि लाइसेंस देने का काम राज्य सरकार करती है। विज इस बात पर बुरी तरह चिढ़ गए और मंत्री ने वरिष्ठ महिला पुलिस अफसर को 'गेट आउट' तक कह डाला था, लेकिन जब वो अड़ गईं तो मंत्री खुद ही अपने लोगों के साथ बैठक छोड़कर चले गए और उल्टा अधिकारी पर बुरे व्यवहार का आरोप लगाते हुए कहा कि जब तक ये ऑफिसर है वो बैठक में नहीं आएंगे।

आप इस तरह मेरा अपमान नहीं कर सकते
उल्‍लेखनीय है कि पुलिस अफसर संगीता कालिया और मंत्री अनिल विज पास ही बैठे थे। जब विज ने संगीता से कहा 'गेट आउट', तब संगीता ने कहा, 'मैं नहीं जाऊंगी। आप इस तरह से मेरा अपमान नहीं कर सकते।'

विज जन शिकायत निवारण समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने संगीता से पूछा था कि पंजाब की सीमा से लगे इलाकों में शराब की तस्करी रोकने के लिए पुलिस क्या कर रही है। अफसर के जवाब से वह संतुष्ट नहीं दिखे।

(वीडियो देखें)

मंत्रीजी के लहजे पर जताई थी आपत्ति
संगीता ने मंत्री को जवाब दिया था, 'हम कार्रवाई कर रहे हैं। हमने ढाई हजार मामले दर्ज किए हैं। इनमें से कई लोग जमानत पर बाहर आ गए और फिर से तस्करी में लग गए हैं।' लेकिन, विज पुलिस अफसर से इस बात पर बहस करते रहे और पूछते रहे कि वह और कार्रवाई क्यों नहीं कर रही हैं। उनकी बात से यह ध्वनि आ रही थी कि कार्रवाई नहीं किए जाने की जिम्मेदार संगीता हैं। संगीता ने इस पर आपत्ति जताई तो विज ने उनसे बैठक से निकल जाने को कहा।

नाराज विज बोले, सीएम से शिकायत करूंगा
उपायुक्त एन.के. सोलंकी और जिले के अन्य अफसर बैठक में मौजूद थे, लेकिन किसी ने हस्तक्षेप नहीं किया। विज ने नाराजगी में बैठक छोड़ दी और बाद में कहा कि जब तक महिला अफसर (संगीता) तैनात हैं, वह फतेहाबाद नहीं आएंगे।

विज ने संवाददाताओं से कहा, "जब तक वह यहां की पुलिस अधीक्षक हैं, मैं यहां नहीं आऊंगा। मैं मुख्यमंत्री से इसकी शिकायत करूंगा। मैंने दो-तीन बार मामला उठाया लेकिन उनका रवैया बहुत लापरवाह था।' उपायुक्त सोलंकी विज के पीछे-पीछे उनकी कार तक गए और उन्हें रोकने की कोशिश की। लेकिन, विज नहीं रुके और चले गए।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(इनपुट एजेंसी से भी)