नोएडा में सुपरटेक के दोनों अवैध टावर को गिराने की कवायद शुरू

इमारतें को गिराने के लिए तीन केंद्रीय एजेंसियों से मंजूरी लेनी होगी, इमारतों से निकलने वाले मलबे का दोबारा इस्तेमाल किया जाएगा

नोएडा में सुपरटेक के दोनों अवैध टावर को गिराने की कवायद शुरू

नोएडा में सुपरटेक के वे दोनों टॉवर जिन्हें गिराया जाना है.

नोएडा:

नोएडा के सेक्टर-93-ए में सुपरटेक एमरॉल्ड कोर्ट हाउसिंग सोसाइटी में बने दोनों अवैध टावर को गिराने की कवायद शुरू हो गई है. अधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्‍थान (सीबीआरआई) की एक टीम ने सोमवार को दोनों टावर की जांच की. मुआइना करने के बाद टीम ने नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ बैठक की. इन इमारतें को गिराने के लिए तीन केंद्रीय एजेंसियों से मंजूरी लेनी होगी. इमारतों से निकलने वाले मलबे का दोबारा इस्तेमाल किया जाएगा.


सीबीआरआई ने इन दोनों टावर के साथ-साथ आसपास की दूसरी रिहायशी इमारतों का स्ट्रक्चर, फाउंडेशन का नक्शा मांगा है. सीबीआरआई, नक्शे के आधार पर करीब एक सप्ताह में टावर को गिराने की कार्य योजना तैयार करके नोएडा प्राधिकरण को देगी. टीम इस परियोजना के मानचित्र और कुछ जरूरी दस्तावेज अपने साथ ले गई है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उच्चतम न्यायालय ने 30 नवंबर तक दोनों अवैध टावर को ध्वस्त करने का आदेश दिया था.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)