दिल्ली के चांदनी चौक का हुआ कायाकल्प, अब आधी रात तक खुली रहेंगी ‘स्ट्रीट फूड’ की दुकानें

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने चांदनी चौक बाजार के नव विकसित हिस्से का उद्घाटन किया, बीजेपी ने किया विरोध प्रदर्शन

नई दिल्ली:

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने रविवार को राष्ट्रीय राजधानी के नव विकसित चांदनी चौक (Chandni Chowk) बाजार का उद्घाटन किया. साथ ही, उन्होंने आधी रात तक ‘स्ट्रीट फूड' (Street Food) दुकानों के संचालन की अनुमति देकर पूरे इलाके को पर्यटन केंद्र में तब्दील करने की घोषणा की. केजरीवाल ने कहा कि पूरी दिल्ली से लोग पुनर्विकसित बाजार को देखने आ रहे हैं और यह अब ''सबसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल'' बन गया है. चांदनी चौक के मुख्य बाजार में फव्वारा चौक के पास सभा को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि पुनर्विकास के बाद चांदनी चौक और खूबसूरत हो गया है और लोग आधी रात तक यहां घूमने आते हैं.

अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की, ''यह पहले से ही एक महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है. मुझे पता चला है कि लोग यहां 12 बजे तक घूमने आते हैं. स्ट्रीट फूड की दुकानों को 3-4 घंटे ज्यादा यानी रात 12 बजे तक खोलने की अनुमति दी जाएगी ताकि लोग रात में यहां आकर आनंद लें सकें. बाजार बंद होने के बाद बहुत सारे स्ट्रीट फूड की दुकानें खोली जाएंगी.”

पहले इस परियोजना का उद्घाटन इस साल 17 अप्रैल को होना था, लेकिन कोविड-19 की दूसरी लहर के कारण कार्यक्रम रद्द कर दिया गया था.

केजरीवाल ने कहा कि पहले टूटी सड़कें, लटकती तार, ट्रैफिक जाम चांदनी चौक का पर्याय था, लेकिन अब यह सुंदर और आकर्षक हो गया है. केजरीवाल ने कहा, ''हमने चांदनी चौक बाजार के लगभग 1.4 किलोमीटर के हिस्से का सौंदर्यीकरण किया है और इसे बेहद खूबसूरत बनाया है. इस खंड पर यातायात में सुधार किया गया है, लटकते तारों को भूमिगत किया गया है. पुनर्विकास परियोजना के तहत सीसीटीवी लगाए गए हैं.''

राष्ट्रीय राजधानी में रिकॉर्ड भारी बारिश के एक दिन बाद शहर में व्यापक जलभराव से संबंधित एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरी दिल्ली में जल निकासी व्यवस्था को ठीक करने की जरूरत है. उन्होंने कहा, ''हमें पिछली सरकारों से उपहार के रूप में यह ''मूर्खतापूर्ण'' जल निकासी व्यवस्था मिली है. इस पर समय की आवश्यकता के अनुसार पहले कभी काम नहीं किया गया था. लेकिन मैं आपको आश्वस्त कर सकता हूं कि कुछ वर्षों के बाद, आप दिल्ली में कहीं भी जलभराव नहीं देखेंगे.''

इस दौरान, दिल्ली के भाजपा कार्यकर्ताओं ने क्षेत्र के व्यापारियों के एक वर्ग के साथ चांदनी चौक में पुनर्विकास के बाद माल उतारने-चढ़ाने पर लगाए गए प्रतिबंधों के खिलाफ “मौन विरोध” किया. दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि पुनर्विकास के बाद, क्षेत्र के व्यापारियों को अपना माल उतारना-चढ़ाना मुश्किल हो रहा है क्योंकि पूरे क्षेत्र को ''गैर मोटर वाहन'' बना दिया गया है. कपूर ने कहा, ''क्षेत्र के व्यापारी खुश नहीं हैं क्योंकि उन्हें माल उतारने-चढ़ाने में समस्या हो रही है. क्षेत्र में जलजमाव भी व्यापारियों और निवासियों को परेशान कर रहा है. सरकार को बाजार में माल उतारने की समय सीमा बढ़ानी चाहिए.''


पुनर्विकास परियोजना के तहत, लाल किले और फतेहपुरी मस्जिद क्रॉसिंग के बीच मुख्य चांदनी चौक खंड में सुधार और सौंदर्यीकरण किया गया है. इस हिस्से को पैदल यात्रा के अनुकूल गलियारे के रूप में विकसित किया गया है और लाल ग्रेनाइट पत्थर, रोशनी, पौधों और स्ट्रीट फर्नीचर आदि की मदद से आकर्षक बनाया गया है. इस खंड में सुबह 9 बजे से रात 9 बजे के बीच मोटर चालित वाहनों को प्रवेश की अनुमति नहीं है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के अधिकारियों के अनुसार, परियोजना को अगस्त 2018 में मंजूरी दी गई थी और दिसंबर 2018 में इस पर काम शुरू हुआ था. इसे मार्च 2020 में पूरा किया जाना था, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण परियोजना में देरी हुई और इसकी समय सीमा को आगे बढ़ाकर दिसंबर 2020 कर दिया गया. परियोजना में और देरी हुई. इस साल अप्रैल में इसका उद्घाटन किया जाना था, लेकिन दूसरी लहर में कोविड-19 मामलों में वृद्धि के कारण कार्यक्रम रद्द कर दिया गया था.