दिल्ली में 45 से अधिक उम्र के लोगों के लिए को-वैक्सीन का स्टाक खत्म

दिल्ली में 18 से 44 साल के लोगों का वैक्सीनेशन बंद, विधायक आतिशी ने कहा कि वैक्सीनेशन बंद होना चिंता का विषय

दिल्ली में 45 से अधिक उम्र के लोगों के लिए को-वैक्सीन का स्टाक खत्म

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

दिल्ली में 18 से 44 साल के लोगों का वैक्सीनेशन (Vaccination) बंद है. 45 से अधिक आयु के लोगों  के लिए को-वैक्सीन खत्म हो चुकी है. दिल्ली की आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी ने कहा कि आज दूसरा दिन है जब 18 से 44 साल के लोगों का वैक्सीनेशन बंद है. कुछ जगह वैक्सीनेशन हो भी रहा है तो वह सिर्फ प्राइवेट अस्पतालों में और महंगी कीमत पर हो रहा है. आज से 45 से अधिक के लोगों के लिए को-वैक्सीन भी खत्म हो चुकी है.

दिल्ली में 18-44 उम्र वालों के लिए उपलब्ध वैक्सीन स्टॉक 5,250 है. को-वैक्सीन 1480 हैं. अब तक 1,50,000 डोज मिलीं और इस्तेमाल 1,48,520 डोज हुईं. कोविशील्ड 3,770 हैं. अब तक 6,67,690 डोज मिलीं और इस्तेमाल हुई 6,63,920 डोज.


हेल्थ केयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए को-वैक्सीन का स्टॉक खत्म हो चुका है. 13 दिन के लिए कोविशील्ड बाकी है. हेल्थ केयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए उपलब्ध वैक्सीन स्टॉक 3,27,000 है.  को-वैक्सीन 13,330 है और कोविशील्ड 3,13,670 डोज हैं. 24 मई को कुल 54,364 लोगों को वैक्सीन लगाई गई. दिल्ली में वैक्सीनेशन का कुल आंकड़ा 51,46,297 हो गया है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आतिशी ने कहा कि वैक्सीनेशन बंद होना चिंता का विषय है, खासकर युवाओं का वैक्सीनेशन बंद होना. बहुत लोग हैं, जिन्होंने केवल पहली डोज ली है. ऐसे लोगों के लिए दूसरी डोज जरूरी है. कोरोना की इस लहर में दिल्ली सबसे ज्यादा प्रभावित हुई है, युवाओं की भी बड़ी संख्या में मौत हुई है. ऐसे में वैक्सीनेशन जारी रहना जरूरी है. अगर दिल्ली के युवाओं को समय पर वैक्सीन नहीं लगती है, तो तीसरी लहर में उनके लिए बड़ा खतरा होगा. केंद्र सरकार से अपील है कि अन्य विदेशी वैक्सीन को जल्द से जल्द अप्रूव करे और साथ ही भारतीय वैक्सीन की उत्पादन क्षमता भी बढ़ाई जाए.