गया की अफसर प्रशिक्षण अकादमी पासिंग आउट परेड की तैयारी में जुटी

अकादमी के 11 वें बैच के कैडेट पास आउट होंगे, कार्यक्रम 10 जून को

गया की अफसर प्रशिक्षण अकादमी पासिंग आउट परेड की तैयारी में जुटी

गया की आफीसर ट्रेनिंग अकादमी में पासिंग आउट परेड 10 जून को होगी.

नई दिल्ली:

सेना में अफसर तैयार करने के लिए बना देश का सबसे नया प्री-कमीशनिंग सैन्य प्रशिक्षण संस्थान गया की अफसर प्रशिक्षण अकादमी अपनी पासिंग आउट परेड की तैयारी में जोश और उल्लास के साथ जुटी है. इस पासिंग आउट परेड में 11 वें बैच के जेंटलमैन कैडेट पास आउट होंगे. यह कार्यक्रम 10 जून को होगा.

इस पासिंग आउट परेड में टीईएस- 29 के कैडेट भी अपना कमीशन प्राप्त करेंगे. यह अपना एक वर्षीय बुनियादी सैन्य प्रशिक्षण जून 2014 में पूरा कर इंजीनियरिंग के लिए तीन अलग-अलग कैडेट ट्रेनिंग विंग में गए थे. इनके साथ स्पेशल कमीशन ऑफिसर-38 के कैडेट्स के साथ आफीसर कमीशन प्राप्त करेंगे. पश्चिमी कमान के आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल सुरिंदर सिंह इस अवसर पर निरीक्षण अधिकारी के साथ मुख्य अतिथि भी होंगे.

इस अकादमी को बने अधिक दिन नही हुए हैं लेकिन इसकी योजना है कि अपने बेहतरीन प्रशिक्षण से यह दुनिया भर में एक मिसाल कायम करे.

इस पासिंग आउट समारोह का मुख्य आकर्षण होंगे पिपिंग सेरेमनी, बैंक्वेट नाइट और मल्टी एक्टिविटी डिस्प्ले. सशस्त्र सेनाओं के साहसिक कारनामों से जुड़ा मल्टी एक्टिविटी डिस्प्ले 9 जून की शाम को आयोजित होगा. इसमें कई आकर्षक प्रदर्शन होंगे जैसे- जिम्नास्टिक्स, पीटी डिस्प्ले, माइक्रोलाइट फ्लाइंग, घुड़सवारी प्रदर्शन, पायरो तकनीक, मलखंभ, स्काई डाइविंग, गटका, मोटरसाइकिल राइडर्स डिस्प्ले टीम - टॉर्नडोस तथा बैंड डिस्प्ले इत्यादि शामिल हैं.

यहां से अब तक करीब 750 कैडेट अफसर बन चुके हैं. इस अकादमी में 12 वीं उत्तीर्ण कैडेट आते हैं. इसके अलावा जो जवान से अफसर बनते हैं, उनकी ट्रेंनिंग भी यहीं होती है. गया की अफसर प्रशिक्षण अकादमी देश में स्थित प्री- कमीशनिंग सैन्य अकादमियों में तीसरी है. इसकी स्थापना चेन्नई और देहरादून की दो अन्य अकादमियों के बाद 18 जुलाई 2011 को हुई. इस अकादमी की विधिवत शुरुआत तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह द्वारा 14 नवम्बर 2011 को की गई थी.


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com