'मेरे मन में ये सब नहीं...' : पीएम पद की चाहत पर बोले नीतीश कुमार

नीतीश कुमार ने शुक्रवार को विपक्षी पार्टियों से अपील की है कि सभी विपक्षी दल एक साथ चलें और सब एकजुट रहें.

पटना:

बिहार में एनडीए का साथ छोड़कर महागठबंधन के साथ आने के बाद नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री बनने की महत्वाकांक्षा पर कहा कि यह सब उनके मन में नहीं है. नीतीश कुमार ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि वह कोशिश करेंगे कि सभी विपक्षी पार्टियां एकजुट हों और साथ में मिलकर काम करें.

10 अगस्त को बिहार सीएम पद की शपथ लेने के बाद नीतीश कुमार ने अगले लोकसभा चुनाव को लेकर पीएम मोदी पर तंज कसा था. उन्होंने कहा था, 'जो 2014 में जीतकर आए हैं, उनका पता नहीं कि 2024 में रहेंगे या नहीं.' जब उनसे पूछा गया कि क्या वह पीएम उम्मीदवार बनना चाहते हैं, तो उन्होंने तब भी संवाददाताओं से कहा था कि वह "किसी के भी दावेदार नहीं हैं". उन्होंने कहा था, "सवाल यह है कि जो 2014 में आया वह 2024 में जीतेगा या नहीं.'

'नरेंद्र मोदी बन गए तो नीतीश कुमार भी बन सकते हैं PM', सोनिया गांधी संग मीटिंग से पहले बोले तेजस्वी यादव

एक बार फिर इससे जुड़ा सवाल पूछे जाने पर नीतीश कुमार ने शुक्रवार को कहा, 'यह सब मेरे मन में नहीं है. लोग क्या कहते हैं इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. मेरे करीबी लोग भी अगर ऐसा कहते हैं तो.' साथ ही उन्होंने कहा कि यह अच्छा होगा कि सभी विपक्षी पार्टियां एक साथ काम करें और इसे सुनिश्चित करने की कोशिश करना उनका काम है. 

उन्होंने कहा कि हम सभी लोगों के मुद्दों के बारे में बात करेंगे और हम कैसे एक बेहतर सामाजिक वातावरण बना सकते हैं.

स्पीकर के खिलाफ कदम उठाने के बाद नीतीश कुमार ने BJP नेता को बताई सम्मान से विदाई की तरकीब

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और नित्यानंद राय के निशाना साधने पर नीतीश कुमार ने कहा कि जिन्हें पार्टी ने नजरअंदाज कर दिया था, अगर वो हमारे खिलाफ कुछ बोलते हैं तो उन्हें उनकी पार्टी में कुछ फायदा होगा, उन्हें कुछ मिल जाएगा.