बिहार के मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह की कोरोना से मौत, CM नीतीश कुमार ने जताया शोक

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पिछले 24 घंटे के दौरान 89 और व्यक्ति की मौत हो गयी, जिससे इस बीमारी से मरने वालों की संख्या बृहस्पतिवार को 2480 हो गयी.

बिहार के मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह की कोरोना से मौत, CM नीतीश कुमार ने जताया शोक

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह के निधन पर जताया दुख (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना:

कोरोनावायरस (Coronavirus) से होने वाली मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. बिहार के मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह की कोरोना संक्रमण की वजह से मौत हो गई है. राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह की कोरोना संक्रमण से हुई मौत पर शोक और गहरी संवेदना व्यक्त की. मुख्य सचिव के निधन की सूचना मुख्यमंत्री को कैबिनेट की बैठक के समापन के समय मिली. कैबिनेट की बैठक में मुख्य सचिव के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए एक मिनट का मौन रखा गया. उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा. 

मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि अरुण कुमार सिंह वर्ष 1985 बैच के बिहार कैडर के आईएएस अधिकारी थे. वे भारतीय प्रशासनिक सेवा के एक कुशल प्रशासक थे. वे एक मिलनसार व्यक्ति थे. विभिन्न पदों पर रहते हुए उन्होंने अपनी भूमिका का बेहतर निर्वहन किया था. उनके निधन से प्रशासनिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है. 

मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शान्ति तथा उनके परिजनों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है. 

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पिछले 24 घंटे के दौरान 89 और व्यक्ति की मौत हो गयी, जिससे इस बीमारी से मरने वालों की संख्या बृहस्पतिवार को 2480 हो गयी. इसके साथ ही प्रदेश में अब उपचाराधीन मरीजों की संख्या 100821 हो गयी है. 


स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार में बुधवार अपराहन 4 बजे से बृहस्पतिवार 4 बजे तक कोरोना वायरस संक्रमण के 13089 नए मामले प्रकाश में आए हैं. बिहार में संक्रमित की संख्या 454464 पर पहुंच गयी है, जिनमें से 3,51,162 मरीज ठीक हुए जिनमें पिछले 24 घंटे के भीतर ठीक हुए 10926 मरीज भी शामिल हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बिहार में कोविड से 85 की मौत, लेकिन पटना में ही 120 के अंतिम संस्कार से उठे सवाल