कोरोना में नौकरी चली गई तो सिगरेट के टुकड़ों से खिलौने बना रहे हैं ट्विंकल, आज कई लोगों की उम्मीद बन गए हैं

पंजाब के मोहाली शहर के रहने वाले ट्विंकल कुमार सिगरेट के बचे टुकड़े से खिलौने बना रहे हैं. उसके अलावा इन्हीं टुकड़ों से मच्छर मारने की दवाई भी बना रहे हैं. इनका ये आइडिया बेहद सफ़ल रहा. आज इस वजह से ये अपने लिए पैसे तो कमा ही रहे हैं.

कोरोना में नौकरी चली गई तो सिगरेट के टुकड़ों से खिलौने बना रहे हैं ट्विंकल, आज कई लोगों की उम्मीद बन गए हैं

कोरोना के कारण नौकरी चली गई, मगर आज दूसरों को नौकरी दे रहे हैं.

"कौन कहता है कि आसमां में सुराख नहीं हो सकता है, एक तबीयत तो पत्थर से उछालो यारों" लिखने वाले ने क्या शानदार लिखा है. इस कहावत को पंजाब (Punjab) के मोहाली (mohali) के रहने वाले ट्विंकल कुमार (Twinkal Kumar Story) ने चरितार्थ कर दिखाया है. कोरोनाकाल (Corona Pandemic) में कई लोगों की तरह इनकी भी नौकरी चली गई, ऐसे में इन्होंने हार नहीं मानते हुए एक नई शुरुआत की. शुरुआत भी इतनी शानदार रही कि आज ये महिलाओं (Women) को नौकरी भी दे रहे हैं.

समाचारे एजेंसी एएनआई पर प्राप्त जानकारी के अनुसार, पंजाब के मोहाली शहर के रहने वाले ट्विंकल कुमार सिगरेट के बचे टुकड़े से खिलौने बना रहे हैं. उसके अलावा इन्हीं टुकड़ों से मच्छर मारने की दवाई भी बना रहे हैं. इनका ये आइडिया बेहद सफ़ल रहा. आज इस वजह से ये अपने लिए पैसे तो कमा ही रहे हैं, साथ ही साथ अन्य लोगों को नौकरियां भी दे रहे हैं.

96g5cbho

विशेषज्ञों का मानना है कि सिगरेट स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है. ये मानव के लिए ख़तरनाक तो है ही साथ ही साथ अन्य जीवों के लिए भी ख़तरनाक है. हमेशा देखा जाता है कि सिगरेट पीने के बाद हम उसका टुकड़ा ज़मीन पर पेंक देते हैं. फेंके हुए टुकड़े को भोजना का टुकड़ा समझकर पक्षियां उसे खा लेती हैं, जिससे उनको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. कई बार इन टुकड़ों के कारण उनकी मौत भी हो जाती है.

24rlrss8

अबतक देखा जाता था कि सिगरेट पीने के बाद उसके टुकड़ों को ज़मीन में ही फेंक दिया जाता था. एक तरह से वो उपयोग में नहीं रहते थे. ऐसे में ट्विंकल ने इसका हल निकाल लिया है. अब सिगरेट के टुकड़े काफी उपयोगी हो गए हैं. 


कोविड 19 के कारण अपनी नौकरी गंवा चुके ट्विंकल ने कभी हार नहीं मानी. घर बैठकर वो सोशल मीडिया पर वीडियो देखने लगा. तभी उसे बेकार पड़े सिगरेट के टुकड़े से खिलौने बनाने का आइडिया दिमाग में आया. इस मामले पर ट्विंकल ने एएनआई को बताया कि मुझे वीडियो देखने के दौरान सिगरेट रिसाइक्लिंग के बारे में जानकारी मिली. जानकारी प्राप्त करने के बाद मैं सिगरेट रिसाइकल करने वाली कंपनी से मिला और पूरी प्रक्रिया सीखने लगा, इसके बाद मैंने मोहाली में अपना बिज़नस शुरु किया.

vjlqplgo

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ट्विंकल कुमार की सोच से कई स्थानीय महिलाओं को नौकरी भी मिल रही है. इसके साथ-साथ पर्यावरण भी साफ़ हो रहा है. सिगरेट के ख़राब टुकड़ों को इकठ्ठा करने के लिए सार्वजनिक जगहों पर डब्बा रखा गया ताकि लोग सिगरेट पीने के बाद टुकड़े उसमें डाल दें. प्राप्ट टुकड़ों से ट्विंकल ज़हरीला पदार्थ निकालते हैं फिर उसका प्रयोग खिलौने, तकिए और मच्छर मारने वाली दवाई में करते हैं.