कोरोना वायरस पर प्रेस कांफ्रेंस में जलाए गए 'गोबर के उपले', कॉलेज स्टूडेंट्स बोले- 'हवा हो जाती है स्वच्छ...'

सरकारी आयुर्वेदिक कॉलेज की एक टीम ने बृहस्पतिवार को उस्मानाबाद शहर में कोराना वायरस पर जिला प्रशासन द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में ‘गोबर के उपले’ जलाए.

कोरोना वायरस पर प्रेस कांफ्रेंस में जलाए गए 'गोबर के उपले', कॉलेज स्टूडेंट्स बोले- 'हवा हो जाती है स्वच्छ...'

कोराना वायरस पर महाराष्ट्र में सरकारी प्रेस कांफ्रेंस में उपले जलाए गये

सरकारी आयुर्वेदिक कॉलेज की एक टीम ने बृहस्पतिवार को उस्मानाबाद शहर में कोराना वायरस पर जिला प्रशासन द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में ‘गोबर के उपले' जलाए. जिलाधिकारी ने बताया कि इसका उद्देश्य उपले जलाये जाने से हवा को स्वच्छ बनाने में मिलने वाली मदद को दिखाना था.

आनंद महिंद्रा ने बताया घर में फेस मास्क बनाने का तरीका, बोले- 'भारत के जुगाड़ू लोगों...' देखें Video

हालांकि, इस गतिविधि का संवाददाता सम्मेलन के विषय से कोई लेना-देना नहीं था. यह सम्मेलन जिलाधिकारी के कार्यालय में आयोजित हुआ था. इस दौरान सरकारी आयुर्वेदिक कॉलेज की एक टीम ने घर पर वायु को स्वच्छ रखने के तरीखे दिखाए.


MP पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया तो पैर छूने लगे लोग, टिकटॉक वीडियो ने मचाया धमाल, देखें Viral Video

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जिलाधिकारी दीपा मुधोल मुंडे ने बताया, ‘‘बाजार में मिलने वाली अगरबत्तियों के स्थान पर, उन्होंने दिखाया कि कैसे गोबर के उपले और आयुर्वेद में बतायी गयी कुछ अन्य सामग्री वायु को स्वच्छ बनाने में मदद कर सकती है.'' उन्होंने कहा कि संवाददाता सम्मेलन कोरोना वायरस पर था और इसका इस गतिविधि से कोई संबंध नहीं था.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)