बिहार में डॉक्टर का हुआ 'पकड़ौआ विवाह', इलाज करने घर से बाहर निकला ही था कि अपहरण हो गया

बिहार के बेगुसराय में मंगलवार को पशुओं के एक डॉक्टर को मवेशी के इलाज के लिए बुलाया गया. फिर तीन लोगों ने उसका अपहरण करके उसकी जबरन शादी करा दी.

बिहार में 70-80 के दशक में पकड़ौआ विवाह का बहुत ही ज़्यादा प्रचलन था. शादी योग्य लड़के बारात नहीं जाते थे. अगर किसी की नौकरी हो या कोई घर से संपन्न हो तो वो भूल से भी बारात नहीं जाते थे. घर वाले भी मना करते थे. इसकी सबसे बड़ी वजह ये थी कि बारात में या बाज़ार में अपहरण कर जबर्दस्ती की शादी करवा दी जाती थी. अभी हाल ही में बिहार के बेगूसराय में एक बार फिर अपहरण कर शादी (पकड़ौआ विवाह) करने का मामला सामने आया है. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर धड़ल्ले से शेयर किया जा रहा है. इस वीडियो में देखा जा सकता है कि एक युवक और युवती की शादी हो रही है.

देखें वायरल वीडियो

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे शख्स की जबर्दस्ती की शादी करवाई जाती है. शख्स पेशे से पशु चिकित्सक है. वो गांव के बाहर इलाज के लिए घर से निकला था, तभी उसका अपहरण हो गया और शख्स की शादी करवा दी गई.इस मामले में एसपी योगेंद्र कुमार ने बताया कि लड़के के पिता ने लिखित शिकायत की है. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस मुद्दे पर पिता सुबोध कुमार झा ने कहा कि उनके पुत्र का अपहरण कर शादी कराई गई है. जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि दोपहर उनका बेटा ग्रामीण चिकित्सक सत्यम कुमार जानवर का इलाज करने के लिए निकला था. इसके बाद वापस नहीं आया है.