मधुमक्खियों का दिमाग है बेहद खास, चुटकी में हल किया मैथ्स टेस्ट

यूनिवर्सिटी ऑफ यूनिवर्सिटी ऑफ शेफील्ड (University of Sheffield) ने हाल ही में अपने एक रिसर्च में पाया कि हनी-बी (Honeybee) यानी मधुमक्खियों में मैथमेटिकल प्रॉब्लम सॉल्व करने की क्षमता होती है.

मधुमक्खियों का दिमाग है बेहद खास, चुटकी में हल किया मैथ्स टेस्ट

मधुमक्खियों ने चुटकी में हल किया मैथ्स टेस्ट, दिमाग होता है बेहद खास

गणित यानी मैथ्स आमतौर पर ज्यादातर स्टूडेंट्स को काफी कठिन सब्जेक्ट लगता है. मैथ्स के खौफ का आलम ये है कि कई स्टूडेंट्स इसके डर से आर्ट्स या कॉमर्स चुन लेते हैं, पर क्या आपको मालूम है मैथ्स की प्रॉब्लम एक मधुमक्खी भी सॉल्व कर सकती है. हम आपको एक ऐसी रिसर्च के बारे में बताएंगे जिससे मैथ्स के बारे में आपकी सोच हमेशा के लिए बदल जाएगी.

मधुमक्खियों में मैथ्स की प्रॉब्लम सॉल्व करने की क्षमता
यूनिवर्सिटी ऑफ यूनिवर्सिटी ऑफ शेफील्ड (University of Sheffield) ने हाल ही में अपने एक रिसर्च में पाया कि हनी-बी (Honeybee) यानी मधुमक्खियों में मैथमेटिकल प्रॉब्लम सॉल्व करने की क्षमता होती है. इस रिसर्च के दौरान मधुमक्खियों को सब्जेक्ट के तौर पर एक मैथमेटिकल टेस्ट में शामिल किया गया. इस टेस्ट में नंबरों की जगह नॉन-न्यूमेरिक क्यूज का इस्तेमाल किया गया. शेफील्ड के वैज्ञानिकों ने पाया कि मधुमक्खियों ने इस टेस्ट को आसानी से पास कर लिया.

मधुमक्खियों ने कैसे पास किया मैथ्स टेस्ट
मधुमक्खियों की दिमागी क्षमता को मापने के लिए वैज्ञानिकों ने जिसे टेस्ट का इस्तेमाल किया उसे अक्सर ही जीवों में काउंटिंग यानी गिनने की क्षमता को विकसित करने के लिए प्रयोग किया जाता है. इसके लिए वैज्ञानिकों ने अलग अलग आकार के प्लकॉर्ड्स यानी तख्तियों इस्तेमाल किया. इन सभी प्लकार्ड्स के पीछे मधुमक्खियों को आकर्षित करने के लिए शुगरी ट्रीट्स यानी किसी मीठे पदार्थ को छुपाया गया था. सभी प्लकार्ड्स पर अलग अलग संख्या में अलग आकार बनाए गए. इन आकारों को पहचानने के लिए सभी मधुमक्खियों को अलग अलग ट्रेन्ड किया गया था. कुछ मधुमक्खियों ने कम नंबर ऑफ शेप्स वाले प्लकार्ड्स में अपना खाना खोज लिया, वहीं कुछ ने ज्यादा नंबर ऑफ शेप्स वाले प्लकार्ड्स में खाना पाया. कुछ समय में ही मधुमक्खियों ने इस पैटर्न को समझ लिया और फिर आसानी से उन प्लकार्ड्स को पहचान लिया जिनमें ज्यादा शुगर मौजूद थी.


इस रिसर्च पेपर के लीड ऑथर Dr HaDi MaBouDi ने कहा, 'हमारी इस स्टडी का रिजल्ट यह दिखाता है कि जीव अद्भुत रूप से चालाक होते हैं और किसी टास्क को प्रभावी और अप्रत्याशित रूप से सॉल्व कर सकते हैं।'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


क्यों खास है ये रिसर्च ?
मधुमक्खियों पर किया गया यह रिसर्च बेहद खास है. इस रिसर्च से यह साबित होता है नॉन वर्बल जीवों में मैथ्स की प्रॉब्लम सॉल्व करने की अद्भुत क्षमता होती है जिसे वे नॉन न्यूमेरिक तरीके से हल करते हैं. भविष्य में इन जीवों की ब्रेन डिजाइन को मशीनों आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) को विकसित करने के लिए किया जा सकता है.