सुमद्र में 3 हजार फीट की गहराई में रहती है ये खतरनाक मछली, मछुआरे के जाल में फंसी, तो देखकर लोगों के उड़े होश

लॉस एंजिलिस बोट टूर एजेंसी Davey's Locker Sportfishing & Whale Watching नाम के फेसबुक पेज ने इस मछली की तस्वीर शेयर की है. बोट पर मौजूद कुछ मछुआरे मछली पकड़ने के लिए समुद्र में उतरे थे. लेकिन, उसी दौरान उनके जाल में ये खतरनाक मछली फंस गई.

सुमद्र में 3 हजार फीट की गहराई में रहती है ये खतरनाक मछली, मछुआरे के जाल में फंसी, तो देखकर लोगों के उड़े होश

सुमद्र में 3 हजार फीट की गहराई में रहती है ये खतरनाक मछली, मछुआरे के जाल में फंसी, तो देखकर लोगों के उड़े होश

समुद्र की गहराई में कितने कई अजीबोगरीब जीव (Weird Animals) छिपे हुए हैं, ये कोई भी नहीं जानता. जिनमें से एक है पैसिफिक फुटबॉल फिश (Pacific Football Fish). ये मछली काफी खतरनाक है और देखने में ये किसी दैत्य मछली(Monster Fish) जैसी ही नजर आती है. इसकी सबसे खास बात ये है कि ये मछली समुद्र से 3 हजार फ़ीट नीचे गहराई में रहती है. कभी लोगों की नजरों में न आने वाली ये मछली बहुत कम ही लोगों की नजरों के सामने आती हैं. लेकिन, हाल ही में कैलिफोर्निया (California) के बीच पर लोगों को इस मछली को देखने का मौका मिला.

लॉस एंजिलिस बोट टूर एजेंसी Davey's Locker Sportfishing & Whale Watching नाम के फेसबुक पेज ने इस मछली की तस्वीर शेयर की है. बोट पर मौजूद कुछ मछुआरे मछली पकड़ने के लिए समुद्र में उतरे थे. लेकिन, उसी दौरान उनके जाल में ये खतरनाक मछली फंस गई. किनारे आकर उन्होंने जब देखा तो सभी के होश उड़ गए. ये मछली देखने में काफी अजीबोगरीब और खतरनाक लग रही थी.


इस अजीबोगरीब मछली के दांत काफी डरवाने थे. इसके दांत रेजर जैसे तेज थे. इसके कंटीले दांत किसी इंसान की चमड़ी उधेड़ने के लिए काफी हैं. जब मछुआरों ने इसे पहली बार देखा तो वो काफी डर गए थे. उन्होंने इसकी जानकारी स्टेट पार्क रेंजर्स को दी, जिन्होंने बताया कि ये कोई दैत्य नहीं बल्कि मछली की एक प्रजाति है, जो समुद्र तल के 3 हजार फ़ीट नीचे रहती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस मछली को एंगलरफिश (anglerfish) की प्रजाति में पाई जाती है. ये बहुत कम ही दिखाई देती है. ये दिखने में काफी खौफनाक लगती है. हालाँकि, जास में फंसी ये मछली जिंदा नहीं रही. एक्सपर्ट्स इसकी बॉडी को कब्जे में लेकर इसकी जांच में जुट गए हैं.