विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From May 10, 2022

50 साल पहले खींची गई UFO की सबसे क्लीयर फोटो वायरल, इससे जुड़ी ये बात जानकर हैरान रह गए लोग

इसे सितंबर, 1971 में हवाई फोटोग्राफर सर्जियो लोइज़ा ने क्लिक किया था, जब उन्होंने एक जलविद्युत परियोजना के निर्माण के लिए भूमि का सर्वेक्षण करने के मिशन पर कोस्टा रिका के ऊपर से उड़ान भरी थी.

Read Time: 4 mins
50 साल पहले खींची गई UFO की सबसे क्लीयर फोटो वायरल, इससे जुड़ी ये बात जानकर हैरान रह गए लोग
50 साल पहले खींची गई UFO की सबसे क्लीयर फोटो वायरल

50 साल पुरानी एक तस्वीर इंटरनेट पर इन दिनों चर्चा में है, जिसको लेकर दावा किया गया था कि इसमें एक अज्ञात उड़ने वाली वस्तु (यूएफओ) UFO दिखाई दे रही है. कई मीडिया आउटलेट्स द्वारा प्रकाशित और ट्विटर पर व्यापक रूप से शेयर की गई, ब्लैक एंड व्हाइट तस्वीर कोस्टा रिका पर एक तश्तरी जैसी वस्तु दिखाती है. यूजर्स का कहना है कि यूएफओ (ऐसा माना जाता है कि एलियंस द्वारा इस्तेमाल किया जाता है) की यह अब तक की सबसे अच्छी तस्वीर (best photograph of a UFO) है. डेली स्टार की एक रिपोर्ट के अनुसार, इसे सितंबर, 1971 में हवाई फोटोग्राफर सर्जियो लोएज़ा ने क्लिक किया था, जब उन्होंने एक जलविद्युत परियोजना के निर्माण के लिए भूमि का सर्वेक्षण करने के मिशन पर कोस्टा रिका के ऊपर से उड़ान भरी थी. परियोजना की योजना दक्षिण अमेरिकी देश में एरेनाल ज्वालामुखी के पास बनाई गई थी.

लोएज़ा ने अपने स्वचालित 100lb कैमरे का उपयोग करके 20-सेकंड के अंतराल पर झील के नीचे और आसपास के वर्षावन के 10,000 फीट की ऊंचाई से कई उच्च रिज़ॉल्यूशन वाली तस्वीरें लीं.

एक फ्रेम में, लोएज़ा के एयरो कमांडर F680 विमान और जमीन के बीच एक चमकदार धातु की डिस्क उड़ती हुई दिखाई देती है. शुरुआत में तस्वीर बहुत स्पष्ट नहीं थी, लेकिन यूएफओ के बारे में दावे तभी सामने आए जब इसे बाद में बढ़ाया गया.

वह तस्वीर नेशनल ज्योग्राफिक कोस्टा रिका की संपत्ति थी, जिसने आसपास की भूमि और पानी पर जलविद्युत परियोजना के संभावित प्रभाव का अध्ययन करने के लिए सर्वेक्षण करने का आदेश दिया था.

इसे अब कोस्टा रिका (ट्विटर हैंडल @UAP_CR) के नागरिक एस्टेबन कैरान्ज़ा द्वारा जारी किया गया है. कैरान्ज़ा के पास कोस्टा रिका के राष्ट्रीय अभिलेखागार में मौजूद मूल नकारात्मक की "संपर्क" प्रति है. उन्होंने इसे अपने अंकल से प्राप्त किया जिन्होंने नेशनल ज्योग्राफिक इंस्टीट्यूट से प्रति प्राप्त की.

कैरान्ज़ा ने ट्विटर पर कहा, "मैंने पिछले साल यह उच्च-रिज़ॉल्यूशन स्कैन किया था, नेशनल ज्योग्राफिक इंस्टीट्यूट के लोगों से मिला और 1971 में कैमरे के प्रभारी तकनीशियन को ट्रैक किया. लेकिन तस्वीर के मेरे डेस्कटॉप पर रहने का कोई कारण नहीं है. प्रकटीकरण एक टीम प्रयास है और हर किसी के पास यह तस्वीर होनी चाहिए."

97ejls18

यूएपी मीडिया, जिसने तस्वीर का इस्तेमाल किया, कहा कि इसे आज तक सफलतापूर्वक खारिज नहीं किया गया है.

"वर्षों से तस्वीर का विश्लेषण कोस्टा रिकान यूएफओ शोधकर्ता रिकार्डो विलचेज़, डॉ रिचर्ड हैन्स और डॉ जैक्स वेली जैसे विभिन्न विशेषज्ञों द्वारा किया गया है. यूएपी मीडिया ने अपनी वेबसाइट पर कहा, "उन सभी ने निष्कर्ष निकाला कि तस्वीर में वस्तु वास्तविक दिखाई दे रही है और यह दोहरे प्रदर्शन या जानबूझकर किए गए निर्माण का परिणाम नहीं है."

फोटो में वस्तु का व्यास 120-220 फीट के बीच होने का अनुमान है.

क्या आप जानते हैं? धर्म की लड़ाई और मंदिर-मस्जिद विवाद क्यों?

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बंदे की हिम्मत के कायल हुए लोग, घुटने के बल किया जबरदस्त डांस, वीडियो देख इमोशनल हुए यूजर्स
50 साल पहले खींची गई UFO की सबसे क्लीयर फोटो वायरल, इससे जुड़ी ये बात जानकर हैरान रह गए लोग
चलते स्कूटर पर खड़ी हो गईं महिला, करने लगीं भांगड़ा, देख लोग बोले- आंटी के दिमाग में लस्सी चढ़ गई है
Next Article
चलते स्कूटर पर खड़ी हो गईं महिला, करने लगीं भांगड़ा, देख लोग बोले- आंटी के दिमाग में लस्सी चढ़ गई है
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;