क्या PCR टेस्ट में पकड़ा जा सकता है कोरोना का 'Omicron' वैरिएंट? क्या कहता है WHO...

कोरोनावायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के बारे में रविवार को डब्ल्यूएचओ ने कहा कि इसे पीसीआर टेस्ट से डिटेक्ट तो किया जा सकता है, लेकिन अब यह शोध किया जा रहा है कि क्या इसका प्रभाव अन्य तरह के टेस्ट पर भी है.

क्या PCR टेस्ट में पकड़ा जा सकता है कोरोना का 'Omicron' वैरिएंट? क्या कहता है WHO...

दक्षिण अफ्रीका में तेजी से फैल रहा है कोरोनावायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन.

जेनेवा:

दक्षिण अफ्रीका में तेजी से फैल रहे कोरोनावायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बारे में रविवार को डब्ल्यूएचओ ने कहा कि इसे पीसीआर टेस्ट से डिटेक्ट तो किया जा सकता है, लेकिन अब यह शोध किया जा रहा है कि क्या इसका प्रभाव अन्य तरह के टेस्ट पर भी है. डल्यूएचओ ने कहा, "विश्वभर में ज्यादातर जगह इस्तेमाल हो रहे पीसीआर टेस्ट से कोविड के इस नए वेरिएंट का भी पता लगाया जा सकता है, हालांकि शोध इस बात का किया जा रहा है कि क्या इसका रेपिड एंटिजन डिटे​क्शन टेस्ट सहित अन्य टेस्ट पर भी कोई प्रभाव है या नहीं." इस महीने की शुरुआत में ​दक्षिण अफ्रीका में डिटेक्ट हुए ओमिक्रॉन को शुक्रवार को डब्ल्यूएचओ ने चिंताजनक वेरिएंट करार दिया.

'माइल्ड...' कोविड-19 के नए वेरिएंट 'Omicron' पर चेताने वाली डॉक्टर ने बताया मरीजों पर कैसा दिखा असर

ओमिक्रॉन को कोविड-19 वेरिएंट की सबसे अधिक परेशान करने वाली श्रेणी में डाला गया है. इस श्रेणी में इससे पहले डेल्टा और इसके कमजोर प्रतिद्वंद्वियों अल्फा, बीटा और गामा को भी रखा गया था. ओमिक्रॉन रविवार को दुनिया भर में फैल गया, जिसके बाद सीमाओं को बंद कर दिया गया और प्रतिबंधों को नवीनीकृत किया गया. यूरोपीय संघ के प्रमुख ने कहा कि सरकारों को इस वेरिएंट को समझने के लिए "समय के खिलाफ दौड़" का सामना करना पड़ा.

दुनिया भर में फैला ओमिक्रॉन, केंद्र सरकार ने राज्यों को आगाह किया

वैरिएंट ने महामारी से लड़ने के वैश्विक प्रयासों पर संदेह पैदा कर दिया है क्योंकि इसकि अत्यधिक संक्रामक होने का डर है. इसके चलते देशों को उन उपायों को फिर से लागू करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है जिन्हें लोग अब अतीत की बात समझने लगे थे.


सोशल मीडिया पर छाया कोरोना का नया वेरिएंट, लोगों ने शेयर किए मजेदार मीम्स

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अपने अपडेट में डब्ल्यूएचओ ने कहा कि यह "अभी तक स्पष्ट नहीं है" कि क्या ओमिक्रॉन एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में अधिक आसानी से फैलता है, या क्या वैरिएंट के संक्रमण से अन्य उपभेदों की तुलना में अधिक गंभीर बीमारी होती है. हालांकि प्रारंभिक साक्ष्य बताते हैं कि जिन लोगों को पहले कोरोना हो चुका है उन लोगों के इस वेरिएंट का शिकार बनने का खतरा बढ़ा हुआ है. फिलहाल इस पर जानकारी सीमित है.