"हम आपको घर पहुंचाएंगे'', काबुल में फंसे अमेरिकियों से राष्ट्रपति जो बाइडन का वादा

अमेरिका काबुल हवाई अड्डे से अमेरिकियों और अन्य लोगों को तालिबान से बचाने के लिए बड़े पैमाने पर अभियान चला रहा है. हवाई अड्डे के बाहर अराजक और हिंसक माहौल है और लोग अंदर सुरक्षित पहुंचने के लिए संघर्ष कर रहे हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर.

वाशिंगटन:

राष्ट्रपति जो बाइडन (President Joe Biden) ने अफगानिस्तान (Afghanistan) में फंसे अमेरिकी नागरिकों से उन्हें घर पहुंचाने का वादा किया है.  उन्होंने अफगानिस्तान में फंसे अमेरिकियों से कहा, "हम आपको घर पहुंचाएंगे." बाइडन ने व्हाइट हाउस में एक संवाददाता सम्मेलन में शुक्रवार को यह बयान दिया. गौरतलब है कि अमेरिका काबुल हवाई अड्डे से अमेरिकियों और अन्य लोगों को तालिबान से बचाने के लिए बड़े पैमाने पर अभियान चला रहा है. हवाई अड्डे के बाहर अराजक और हिंसक माहौल है और लोग अंदर सुरक्षित पहुंचने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. इस स्थिति को लेकर बाइडन को तीखी आलोचना झेलनी पड़ रही है.

'20 साल में ज्‍यादा बदलाव नहीं हुआ' : तालिबान को लेकर बोले वर्ष 1999 में अपहृत प्‍लेन के पायलट देवी शरण

बाइडन ने पिछले सप्ताह को "दिल दहला देने वाला" बताया, लेकिन उन्होंने जोर देकर कहा कि उनका प्रशासन लोगों की निकासी को सुचारू और गति देने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है. उन्होंने कहा, "मुझे नहीं लगता कि हम में से कोई भी इन तस्वीरों को देख सकता है और मानवीय स्तर पर उस दर्द को महसूस नहीं कर सकता है." बाइडन ने कहा, "लेकिन अब मैं इस काम को पूरा करने पर ध्यान केंद्रित कर रहा हूं."


EXCLUSIVE: तालिबान चाहता था, भारतीय राजनयिक काबुल दूतावास में बने रहें 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि काबुल हवाई अड्डे पर निकासी उड़ानें शुक्रवार को कई घंटों के लिए रुकी हुई थीं. हालांकि, दोपहर बाद फिर से उड़ानें फिर से शुरू करने का आदेश दिया गया. एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि अगले कुछ घंटों में काबुल से तीन उड़ानें बहरीन जा रही हैं और शायद 1,500 लोगों को ले जाने की उम्मीद है. वाशिंगटन में, कई सांसदों ने बाइडन प्रशासन से काबुल हवाई अड्डे के बाहर सुरक्षा घेरे का विस्तार करने का आह्वान किया ताकि अधिक से अधिक लोग उड़ान के लिए हवाई अड्डे तक पहुंच सकें.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)