ब्राजील के कोविड-19 स्‍ट्रेन से संक्रमित शख्‍स की तलाश में जुटा ब्रिटेन

वैक्‍सीन मिनिस्‍टर नाधिम जाहावी ने बीबीसी टीवी से कहा, 'हम इस शख्‍स की पहचान के लिए अलग-अलग तरीकों से काम कर रहे है जिसने 12 फरवरी को कोरोना टेस्‍ट कराया था.'

ब्राजील के कोविड-19 स्‍ट्रेन से संक्रमित शख्‍स की तलाश में जुटा ब्रिटेन

ब्राजील के कोरोना स्‍ट्रेन से संक्रमित शख्‍स की ब्रिटेन के अधिकारी तलाश कर रहे हैं (प्रतीकात्‍मक फोटो)

लंदन:

ब्रिटेन ने ब्राजील के शक्तिशाली कोविड-19 से संक्रमित शख्‍स से सामने आने की अपील की है क्‍योंकि विशेषज्ञ नए वैक्‍सीन का उस पर असर देखना चाहते हैं.गौरतलब है कि यह अपील इंग्‍लैंड की ओर से तीसरा कोविड लॉकडाउन खत्‍म किए जाने के एक सप्‍ताह पहले सामने आई है. कोरोना महामारी को रोकना इस बात पर निर्भर करेगा कि वैक्‍सीन की क्षमता क्‍या है. यह कोरोना वेरिएंट ब्राजील के मानौस में सामने आया था. ब्रिटेन में अब तक छह लोगों में यह संक्रमण पाया गया है, इसमें से एक शख्‍स के कोरोना वायरस टेस्‍ट के बाद कांटेक्‍ट डिटेल भरना डॉक्‍टर भूल गए थे इसलिए इस शख्‍स का पता लगाना मुश्किल हो रहा है.

पीएम मोदी ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ली, दिल्ली एम्स में लगवाया टीका

वैक्‍सीन मिनिस्‍टर नाधिम जाहावी ने बीबीसी टीवी से कहा, 'हम इस शख्‍स की पहचान के लिए अलग-अलग तरीकों से काम कर रहे है जिसने 12 फरवरी को कोरोना टेस्‍ट कराया था.'  उन्‍होंने बताया कि वेस्‍टर्न इंग्‍लैंड के साउथ ग्‍लूस्‍टरशायर में मानौस के दो केस कन्‍फर्म होने के बाद वहां सामुदायिक टेस्टिंग प्रारंभ की गई है. विशेषज्ञों ने ब्राजील से मिले डाटा के आधार पर चेतावनी दी है कि यह वेरिएंट , उस वेरिएंट से अधिक संक्रामक और अधिक घातक है जो कि यूनाइटेड किंगडम के कैंट में पिछले सितंबर में फैला था.

सुप्रीम कोर्ट के जजों को मंगलवार से लगेगा कोरोना का टीका, वैक्‍सीन का चयन करने की दी गई छूट..

लंदन स्थित इम्‍पीरियल कॉलेज के इम्‍यूनोलॉजी के प्रोफेसर डेनी अल्‍टमैन कहते हैं, मानौस के वेरिएंक को लेकर लोगों को बेशक चिंता होनी चाहिए लेकिन 'पैनिक' होने की जरूरत नहीं है.' टाइम्‍स रेडियो से उन्‍होंने कहा, 'ऐसा नहीं है कि सबकी इम्‍यूनिटी खत्‍म हो गई है, वैक्‍सीन, इस स्‍ट्रेन के लिए ज्‍यादा कारगर नहीं है, ऐसे में जिन लोगों में कम एंटीबॉडी डेवलप हुई होगी, वे इस वेरिएंट से प्रभावित हो सकते हैं.' ब्रिटेन ने जनवरी माह के मध्‍य में ब्राजील सहित दक्षिण अमेरिका से आने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया था लेकिन नए केस 10 फरवरी के आसपास साओ पाउलो से व्‍हाया ज्‍यूरिख आई फ्लाइट से सामने आए हैं. 


अफवाह बनाम हकीकत : प्राइवेट सेक्टर के आने से टीकाकरण अभियान को मिलेगी रफ्तार? जानिए

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)