भारत के कृषि कानूनों के खिलाफ लंदन में हजारों लोगों ने प्रदर्शन किया, कई गिरफ्तार

भारतीय उच्चायोग ने कहा- लोगों के जमवाड़े की अगुवाई भारत विरोधी अलगाववादी कर रहे थे, उन्होंने प्रदर्शन का समर्थन करने के नाम पर अपना भारत विरोधी एजेंडा चलाया

भारत के कृषि कानूनों के खिलाफ लंदन में हजारों लोगों ने प्रदर्शन किया, कई गिरफ्तार

लंदन में भारतीय किसानों के समर्थन में विरोध प्रदर्शन करते हुए लोग.

लंदन:

ब्रिटेन (Britain) के मध्य लंदन (London) में रविवार को भारतीय उच्चायोग के बाहर भारत में तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में किए गए प्रदर्शन के दौरान स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया है. स्कॉटलैंड यार्ड ने भारतीय उच्चायोग के बाहर ब्रिटेन के अलग-अलग हिस्सों से प्रदर्शनकारियों के जमा होने से पहले चेतावनी दी थी.

मध्य लंदन में “हम पंजाब के किसानों के साथ खड़े हैं'' प्रदर्शन को नियंत्रित करने के लिए कई पुलिसकर्मी सड़क पर उतरे और चेताया कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कड़े नियम लागू हैं और अगर 30 से ज्यादा लोग जमा होते हैं तो गिरफ्तारी की जा सकती है और जुर्माना लगाया जा सकता है.

मेट्रोपोलिटन पुलिस के कमांडर पॉल ब्रोगडेन ने कहा, ''अगर आप निर्धारित 30 लोगों से अधिक की संख्या में एकत्र होकर नियम तोड़ते हैं तो आप अपराध कर रहे हैं जो दंडनीय है और जुर्माना लगाया जाएगा.'' उन्होंने लोगों से प्रदर्शन में शामिल नहीं होने की अपील भी की.

02brkn7k

प्रदर्शन में मुख्य रूप से ब्रिटिश सिख शामिल थे जो तख्तियां पकड़े हुए थे, जिन पर “किसानों के लिए न्याय'' जैसे संदेश लिखे थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


भारतीय उच्चायोग के एक प्रवक्ता ने कहा कि यह जल्द स्पष्ट हो गया कि लोगों के जमवाड़े की अगुवाई भारत विरोधी अलगाववादी कर रहे थे जिन्होंने भारत में किसानों के प्रदर्शन का समर्थन करने के नाम पर अपना भारत विरोधी एजेंडा चलाया. उन्होंने कहा कि प्रदर्शन भारत का आंतरिक मामला है और भारत सरकार प्रदर्शनकारियों से बात कर रही है.