'परमाणु हमले का किया अभ्यास' : Russia ने Ukraine से War के बीच 'सीना ठोक' किया ऐलान

Ukraine War : यूक्रेन में सेना भेजने के बाद रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन (Vladimir Putin) ने रूस के परमाणु हथियारों (Nuclear Weapons') को तैनात किए जाने का संकेत देना शुरू कर दिया था. 

'परमाणु हमले का किया अभ्यास' : Russia ने Ukraine से War के बीच 'सीना ठोक' किया ऐलान

Russia Ukraine : परमाणु मिसाइलों के आभासी लॉन्च का रूसी सेना ने किया अभ्यास

रूस (Russia) ने बुधवार को कहा है कि उसकी सेनाओं ने परमाणु शक्ति (Nuclear Power) से संपन्न मिसाइलों (Missiles) को चलाने का अभ्यास किया है. यूक्रेन में जारी रूसी सेना के हमलों (Russia Ukraine War) के बीच कैनिनग्रेड (Kaliningrad) में यह अभ्यास किया गया. यह घोषणा पश्चिमी देशों के समर्थक देश यूक्रेन पर रूस के हमले के 70वें दिन की गई है  जिसमें हजारों लोग मारे गए हैं और 13 मिलियन से अधिक विस्थापित हो गए हैं. यह यूरोप में द्वितीय विश्व युद्ध के बाद सबसे बड़ा शरणार्थी संकट बन गया है.  

फरवरी के आखिर में यूक्रेन में सेना भेजने के बाद रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने रूस के परमाणु हथियारों को तैनात किए जाने का संकेत देना शुरू कर दिया था. 

रूस के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि बाल्टिक सागर में यूरोपिय संघ के सदस्य देशों पोलैंड और लिथुआनिया के बीच स्थित जगह पर बुधावार को हुए अभ्यास में रूस ने परमाणु क्षमता वाली इस्कंदर मोबाइल बैलिस्टिक मिसाइल सिस्टम का सिमुलेटिड  (simulated) अभ्यास किया.  रूसी सेनाओं ने एकल और कई निशानों पर परमाणु हथियार दागे जाने का अभ्यास किया जिसमें एयरफील्ड, प्रोटेक्टेड इंफ्रास्ट्रक्चर, सैन्य उपकरण और नकली दुश्मन की कमांड पोस्ट शामिल है.   

"इलेक्ट्रॉनिक" लॉन्च के बाद सेना के सदस्यों ने अपनी जगह भी बदली जिससे संभावित पलटवार से बचा जा सके. कॉम्बैट यूनिट ने रेडिएशन और कैमिकल रिसाव की स्थिति में उठाए जाने वाले कदमों का भी अभ्यास किया. करीब 100 रूसी सैनिक इस अभ्यास में शामिल हुए.  रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन पर हमला शुरु करने के बाद से ही अपनी परमाणु सेना को हाई अलर्ट पर डाल दिया था.  

रूसी संसद के अध्यक्ष ने चेतावनी दी थी कि अगर पश्चिमी देश यूक्रेन विवाद में सीधे हस्तक्षेप करेगा तो "बिजली की गति" से जवाब दिया जाएगा.   

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ऑब्ज़र्वर्स का कहना है कि हाल ही के दिनों में, रूस के सरकारी टीवी ने परमाणु हथियारों के प्रयोग को जनता के सामने स्वीकर्य बनाने की कोशिश की है.
रूसी अखबार के एडिटर और नोबल पीस प्राइज़ के विजेता डिमित्री मुरेतोव ने मंगवार को कहा, " पिछले दो हफ्तों से हम टीवी पर सुन रहे हैं कि परमाणु हथियारों का मुंह अब खोल देना चाहिए."