चीन ने किया चमत्‍कार, गरीबी के खिलाफ 'जंग' में पूरी जीत हासिल की : राष्‍ट्रपति चिनफिंग

शी ने गरीबी उन्मूलन में देश की उपलब्धि पर यहां आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए घोषणा की कि दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले देश से गरीबी का पूरी तरह उन्मूलन हो गया है.

चीन ने किया चमत्‍कार, गरीबी के खिलाफ 'जंग' में पूरी जीत हासिल की : राष्‍ट्रपति चिनफिंग

शी चिनफिंग ने कहा, ग्रामीण इलाकों में रह रहे सभी लोगों को गरीबी से बाहर निकाल लिया गया है (फाइल फोटो)

बीजिंग:

चीन के राष्‍ट्रपत‍ि शी चिनफिंग (President Xi Jinping) ने गुरुवार को घोषणा की कि चीन ने पिछले चार दशक में 77 करोड़ से अधिक लोगों का आर्थिक स्तर सुधारकर गरीबी के खिलाफ लड़ाई (Victory against poverty) में ‘‘पूरी तरह से जीत'' हासिल कर ली है.उन्होंने कहा कि यह देश द्वारा किया गया एक ‘‘चमत्कार'' है, जो इतिहास के पन्नों में दर्ज होगा.शी ने गरीबी उन्मूलन में देश की उपलब्धि पर यहां आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए घोषणा की कि दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले देश से गरीबी का पूरी तरह उन्मूलन हो गया है.चीन की जनसंख्या करीब 1.4 अरब है.

चीन की अपील, 'ताइवान, तिब्‍बत और हांगकांग में अलगाववादी ताकतों का समर्थन नहीं करे अमेरिका'

शी ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में रह रहे सभी गरीब लोगों को गरीबी से बाहर निकाल लिया गया है और इसी के साथ, चीन ने 2030 की तय समयसीमा से 10 साल पहले ही गरीबी उन्मूलन पर संयुक्त राष्ट्र का लक्ष्य हासिल कर लिया है.उन्होंने कहा कि पिछले आठ से अधिक साल में ग्रामीण इलाकों में रह रहे अंतिम 9.899 करोड़ गरीब लोगों को गरीबी से बाहर निकाला गया. सभी 832 गरीब काउंटी और 1,28,000 गरीब गांव गरीबी सूची से बाहर आ चुके हैं.शी ने कहा कि 1970 के दशक के आखिर में शुरू किए गए सुधार से लेकर अब तक चीन की मौजूदा गरीबी रेखा के अनुसार 77 करोड़ गरीब लोगों को गरीबी से बाहर निकाला गया.

चीन ने कबूला, गलवान में भारतीय सेना के साथ झड़प में 5 सैनिकों की मौत हुई

उन्होंने बताया कि चीन ने इस अवधि में वैश्विक स्तर पर गरीबी में आई कमी में 70 प्रतिशत से अधिक का योगदान दिया.शी ने कहा कि इन उपलब्धियों के साथ चीन ने ‘‘चमत्कार'' किया, जिसे ‘‘इतिहास के पन्नों में दर्ज'' किया जाएगा.शी ने 2012 के अंत में सत्ता संभाली थी और उस समय उन्होंने गरीबी के पूरी तरह उन्मूलन को अपना मुख्य लक्ष्य बताया था. उस समय चीन में करीब 10 करोड़ गरीब लोग थे.


भारत-चीन के रिश्तों में कम होगी तल्खी!

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)