"पिछले 20 सालों में यूएफओ देखी जाने वाली घटनाएं बढ़ी हैं"- UFOs पर हो रही दुर्लभ सुनवाई में पेंटागन ने किया खुलासा

शीर्ष अमेरिकी रक्षा अधिकारी ने कहा कि पेंटागन ने इन घटनाओं के पीछे ऐसा कुछ भी नहीं पाया है जिससे ये स्पष्ट हो पाए कि ये मूल रूप से गैर-स्थलीय कुछ भी है. लेकिन इसकी संभावना बनी हुई है.

पिछले साल फिल्म निर्माता जेरेमी कॉर्बेल की ओर से जारी फुटेज का स्क्रीनग्रैब (फाइल फोटो)

शीर्ष अमेरिकी रक्षा अधिकारी ने मंगलवार को आधी सदी में यूएफओ पर हो रहे दुर्लभ जनसुनवाई के दौरान सांसदों को बताया कि बीते बीस सालों में आसमन में उड़ने वाली अज्ञात वस्तुओं की संख्या में वृद्धि दर्ज की गई है. नौसेना खुफिया के उप निदेशक स्कॉट ब्रे ने एक हाउस सुरक्षा पैनल को बताया, " सन् 2000 की शुरुआत से ही हम देख रहे हैं कि मिलिट्री कंट्रोल्ड प्रशिक्षण इलाके, मिलिट्री रेंज और अन्य नामित हवाई क्षेत्रों में आकाश में उड़ने वाले अज्ञात और अनाधिकृत हवाई जहाज व वस्तुओं की संख्या में वृद्धि हुई है." 

ब्रे ने अमेरिकी सेना द्वारा " रिपोर्टिंग स्थलों और मुठभेड़ों के कार्य को नष्ट करने" के साथ-साथ तकनीकी प्रगति के प्रयासों में वृद्धि को जिम्मेदार ठहराया. हालांकि, उन्होंने कहा कि पेंटागन ने इन घटनाओं के पीछे ऐसा कुछ भी नहीं पाया है जिससे ये स्पष्ट हो पाए कि ये मूल रूप से गैर-स्थलीय कुछ भी है. दूसरी ओर ब्रे ने संभावनाओं पर विराम भी नहीं लगाया है. उन्होंने कहा, " हमने इस बारे में कोई धारणा नहीं बनाई है कि यह क्या है या नहीं."

बता दें कि जून 2021 में, अमेरिकी इंटेलिजेंस ने पहले ही एक लंबे समय से प्रतीक्षित रिपोर्ट में दावा किया था कि आकाश में अलौकिकता के अस्तित्व का कोई सबूत नहीं था. जबकि यह स्वीकार करते हुए कि सैन्य पायलटों द्वारा देखी गई दर्जनों घटनाओं के लिए उनके पास कोई स्पष्टीकरण नहीं था.

आकाश में दिखने वाले यूएफओ में से कुछ को अमेरिकी सेना के रडार सिस्टम में भ्रम पैदा करने वाले ड्रोन या पक्षियों के रूप में देखा जा सकता है. वहीं, अन्य चीन या रूस जैसी अन्य शक्तियों द्वारा किए गए सैन्य उपकरणों या प्रौद्योगिकियों के परीक्षणों के रूप में भी देखा जा सकता है. हालांकि, इन सभी संभावनाओं के बीच अमेरिकी सेना और खुफिया मुख्य रूप से यह तय करने में रुचि रखते हैं कि क्या इन अज्ञात हवाई वस्तुओं को संयुक्त राज्य के खिलाफ खतरों से जोड़ा जा सकता है.

यह भी पढ़ें -

चीनी विमान जानबूझकर नीचे लाकर क्रैश कराया गया था, ब्लैक बॉक्स डेटा से खुलासा : रिपोर्ट

China: Xi Jinping के नए नियम,सेवानिवृत्ति के बाद भी "बोलती रहेगी बंद, मुंह खोलने पर मिलेगी सज़ा"

Video: जानिए, क्या है प्लेसेज ऑफ वर्शिप एक्ट 1991 और क्या कहता है ये कानून

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)