"इन बच्चों की बजाय मुझे मार डालो": म्यांमार की फौज से गुहार लगाती नन की तस्वीर वायरल

म्यांमार (Myanmar Democracy Protest) में जिस तेजी से लोकतंत्र की बहाली को लेकर विरोध प्रदर्शन तेज हो रहे हैं, उसको देखते हुए सेना (जुंटा) आंसू गैस के गोले पानी की बौछारें, रबर बुलेट के अलावा फायरिंग भी कर रही है.

Myanmar के काचिन स्टेट में नन ने सैनिकों से प्रदर्शनकारियों को नुकसान न पहुंचाने की गुजारिश की

यांगून:

म्यांमार में लोकतंत्र की बहाली (Myanmar Protest) को लेकर हो रहे प्रदर्शनों को देखते हुए सेना ने सख्ती शुरू कर दी है. एक शहर में ऐसे ही विरोध प्रदर्शन के दौरान म्यांमार सेना जब प्रदर्शनकारियों के खिलाफ लाठीचार्ज के लिए आगे बढ़ रही थी तो एक नन सैनिकों के आगे खड़ी हो गई.


सिस्टर एन रोस नु तवांग घुटनों के बल सैनिकों के आगे बैठ गईं और सैनिकों से गुहार लगाई कि वे इन बच्चों के खिलाफ कोई कार्रवाई न करें, इसकी बजाय वे उनकी जान ले लें. दोनों हाथ जोड़कर सैनिकों से विनती कर रहीं कैथोलिक नन (Catholic Nun) की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. प्रदर्शनकारियों को बचाने की उनकी इस कोशिश की खूब तारीफ हो रही है. उन्होंने कहा कि मैं घुटनों पर हूं और आपसे गुजारिश है कि गोलियां न चलाएं और बच्चों को यातनाएं न दें. इसकी बजाय मुझ पर गोली चलाकर मार दें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


म्यांमार के मितकाइना शहर में नन का यह साहसिक प्रयास खूब सराहा जा रहा है. म्यांमार में आंग सान सू की (Aung San Suu Kyi) निर्वाचित सरकार का तख्तापलट कर सेना ने 1 फरवरी को सत्ता हाथ में ले ली थी. म्यांमार में जिस तेजी से लोकतंत्र की बहाली को लेकर विरोध प्रदर्शन तेज हो रहे हैं, उसको देखते हुए सेना (जुंटा) ने बलप्रयोग का इस्तेमाल तेज कर दिया है. आंसू गैस के गोले पानी की बौछारे, रबर बुलेट के अलावा फायरिंग भी की जा रही है. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)