PTI कार्यकर्ताओं के साथ इस्लामाबाद पहुंचे इमरान खान, हंगामे से बचने के लिए सरकार ने लगाई सेना

इमरान खान ने बुधवार को चेतावनी दी थी कि उनके समर्थक शहबाज शरीफ सरकार द्वारा नए चुनाव की तारीख की घोषणा किए जाने तक डी-चौक खाली नहीं करेंगे. 

PTI कार्यकर्ताओं के साथ इस्लामाबाद पहुंचे इमरान खान, हंगामे से बचने के लिए सरकार ने लगाई सेना

विरोध मार्च करते पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (सोर्स - ट्विटर)

इस्लामाबाद:

सत्ता जाने के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ विरोध मार्च कर रहे पूर्व प्रधानमंत्री और पीटीआई (PTI) प्रमुख इमरान खान (Imran Khan) ने गुरुवार की अहले सुबह इस्लामाबाद में प्रवेश किया. इधर, पूर्व पीएम की ओर से शुरू किए गए विरोध मार्च के कारण बढ़ती अशांति को नियंत्रित करने में विफल शहबाज शरीफ (Shahbaaz Sharif) सरकार को रेड जोन की सुरक्षा के लिए सेना बुलाना पड़ा. सरकारी संपत्ति की सुरक्षा के लिए सरकार ने सेना तैनात करने का फैसला लिया गया है. पाकिस्तान का आंतरिक मंत्री राणा सनाउल्लाह ने इस संबंध में ट्वीट कर जानकारी दी है.

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, " इस्लामाबाद में कानून और व्यवस्था की स्थिति को ध्यान में रखते हुए सरकार संविधान के अनुच्छेद 245 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए राजधानी में पर्याप्त संख्या में पाकिस्तानी सेना के सैनिकों की तैनाती अधिकृत करती है." 

सरकारी भवनों की सुरक्षा के लिए उठाया कदम

बता दें कि देश में बढ़ते तनाव के बीच इमरान खान के संघीय राजधानी में प्रवेश करने के बाद पाकिस्तान सरकार ने "महत्वपूर्ण सरकारी भवनों की सुरक्षा" के लिए सेना को रेड जोन में तैनात किया. सरकार के आदेश में कहा गया है कि पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट, संसद भवन, प्रेसीडेंसी, प्रधान मंत्री कार्यालय और अन्य सहित महत्वपूर्ण सरकारी भवनों की सुरक्षा के लिए यह निर्णय लिया गया है. 

गौरतलब है कि संघीय राजधानी में डी-चौक की ओर जाने से अधिकारियों द्वारा रोकने की कोशिश के बाद पुलिस और पीटीआई कार्यकर्ताओं के बीच झड़पों के बाद देश में तनाव फैल गया है. इमरान खान ने बुधवार को चेतावनी दी थी कि उनके समर्थक शहबाज शरीफ सरकार द्वारा नए चुनाव की तारीख की घोषणा किए जाने तक डी-चौक खाली नहीं करेंगे. 

इमरान खान ने जनता से की ये अपील

डॉन अखबार में छपी खबर के अनुसार अविश्वास मत से सत्ता से बेदखल किए गए पाकिस्तान के पूर्व पीएम ने "सभी पाकिस्तानियों" को अपने-अपने शहरों में सड़कों पर उतरने के लिए कहा है और महिलाओं व बच्चों से "असली स्वतंत्रता" के लिए अपने घरों से बाहर आने की अपील की है.

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि शहबाज शरीफ सरकार के पीटीआई मार्च पर प्रतिबंध लगाने के फैसले के बाद पाकिस्तान राजनीतिक टकराव की ओर बढ़ रहा है. डॉन के मुताबिक, विपक्षी नेताओं पर कार्रवाई और राजधानी को सील करने के फैसले से राजनीतिक पारा चढ़ गया है. अस्थिरता की स्थिति पैदा हो गई है.

इमरान खान की गिरफ्तारी पर रोक

बता दें कि पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को मौजूदा सरकार को इमरान खान को गिरफ्तार करने से रोक दिया और पीटीआई को इस्लामाबाद के एच-9 ग्राउंड इलाके में धरना देने की अनुमति दे दी. अदालत का आदेश पीटीआई द्वारा शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन का आश्वासन देने और सार्वजनिक और निजी संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं होने देने के बाद आया है.

यह भी पढ़ें -

केरल : नफरत भरे भाषण के मामले में पी सी जार्ज की जमानत रद्द, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


PM मोदी आज तमिलनाडु में कई परियोजनाओं का करेंगे शिलान्यास