कोरोना वायरस चीन से आया, सबसे अच्छे टीके अमेरिका से आए : रिपब्लिकन सीनेटर

अमेरिका द्वारा भारत जैसे देशों को कोविड-19 रोधी टीके और चिकित्सा सामान भेजने के बीच एक प्रभावशाली रिपब्लिकन सीनेटर ने कहा कि कोरोना वायरस चीन से ‘आया’ जबकि सबसे अच्छे टीके अमेरिका से आए.

कोरोना वायरस चीन से आया, सबसे अच्छे टीके अमेरिका से आए : रिपब्लिकन सीनेटर

कोरोना को लेकर रिपब्लिकन सीनेटर ने चीन पर साधा निशान. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वाशिंगटन:

अमेरिका द्वारा भारत जैसे देशों को कोविड-19 रोधी टीके और चिकित्सा सामान भेजने के बीच एक प्रभावशाली रिपब्लिकन सीनेटर ने कहा कि कोरोना वायरस चीन से ‘आया' जबकि सबसे अच्छे टीके अमेरिका से आए. राष्ट्रपति जो बाइडन ने घोषणा की थी कि अमेरिका संयुक्त राष्ट्र के समर्थन वाले वैश्विक टीका साझा कार्यक्रम ‘कोवैक्स' के तहत कई देशों को करीब 1.9 करोड़ टीके आवंटित करेगा.

भारत में एक दिन में 92,596 नए COVID-19 केस दर्ज, पिछले 24 घंटे में 2,219 की मौत

सीनेटर जॉन कैनेडी ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस खत्म नहीं हुआ है. अमेरिका में हालात बेहतर हैं लेकिन दक्षिण अमेरिका में बेहतर नहीं हैं. उप सहारा अफ्रीका में स्थिति ठीक नहीं है. भारत में बेहतर लेकिन अच्छी स्थिति नहीं है. और तथ्य तो तथ्य हैं, मैं इसे कोई राजनीतिक बयान नहीं बनाना चाहता. यह वायरस चीन से आया. सबसे अच्छे टीके अमेरिका से आए.''

उन्होंने कहा कि अमेरिका के पास दुनिया को यह दिखाने का अवसर है कि अमेरिका का नेतृत्व कैसा होता है. कैनेडी ने कहा, ‘‘हमारे पास लोगों की जान बचाने में मदद करने, हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा के संदर्भ में समझदारी भरे काम करने और चीन में कम्युनिस्ट पार्टी की बढ़त को रोकने का एक अवसर है. चीन के लोग अच्छे हैं लेकिन कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के सदस्य चोर हैं.''


राजस्थान : तपते रेगिस्तान में प्यास से तड़प-तड़प कर 5 साल की बच्ची ने तोड़ा दम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, ‘‘अब हम जानते हैं कि अमेरिका की तरह कई देश टीकों का निर्माण करने, उनका भंडारण और वितरण करने में सक्षम हैं. लेकिन कई देश ऐसा करने में समर्थ नहीं हैं और यह खतरनाक है.''



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)